munakka ke fayde

About Munakka in hindi: शीत ऋतू के आगमन के साथ ही लोग अपनी सेहत को लेकर सतर्क हो जाते हैं क्योंकि शीत ऋतू में सेहत के प्रति जरा सी लापरवाही शरीर के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। इसलिए आयुर्वेद में शीत ऋतू में पौष्टिक पदार्थों का सेवन करने के लिए अनिवार्य रूप से निर्देश दिया गया है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको एक ऐसे ही गुणकारी पदार्थ से अवगत कराने वाले हैं।

जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे हैं मुनक्का की जिससे आप भली भांति परिचित होंगे लेकिन munakka स्वास्थ के लिए कितना फायदेमंद होता है यह आप शायद ही जानते हों। इसलिए आपको बता दें कि मुनक्का के इस्तेमाल से आप कई प्रकार की बिमारियों से शरीर का बचाव कर सकते हैं। यदि अभी तक आप मुनक्का के लाभकारी फायदों से अनजान हैं तो चलिए munakka ke fayde और इससे जुड़ी अन्य जानकारी को विस्तार से जानते हैं।

 

Page Contents

क्या होता है मुनक्का | What is Munakka in Hindi

काजू, बादाम की तरह ही मुनक्का भी एक पौष्टिक सूखा मेवा अर्थात ड्राईफ्रूट होता है। मुनक्का का वानस्पतिक नाम विटिस विनिफेरा है एवं मुनक्का का सम्बन्ध विटैसी परिवार से होता है। बता दें कि मुनक्का का रंग भूरा, हरा, हल्का बैंगनी व काला होता है।

मुनक्का का स्वाद मीठा होता है इसलिए संस्कृत में मुनक्का को मधुरिका के नाम से जाना जाता है। बता दें की कई लोग इसे किशमिश ही कहते हैं परन्तु यह किशमिश से भिन्न होता है। किशमिश और मुनक्का में अंतर आप नीचे तस्वीर में देख सकते हैं।

munakka vs kishmish

मुनक्का की तासीर :

मुनक्का का उपयोग किसी भी मौसम में किया जा सकता है लेकिन इसका उपयोग शीतकाल में करना अधिक फायदेमंद होता है क्योंकि मुनक्का की तासीर गर्म होती है।

 

मुनक्का की किस्में | Types of Munakka in Hindi

दोस्तों यदि आपको मुनक्का की किस्मों के बारे में जानकारी नहीं है तो बता दें कि मुख्य रूप से मुनक्का की किस्में दो प्रकार की होती हैं।

 

1. लाल मुनक्का | Red Munakka

आयुर्वेद में लाल मुनक्का को औषधीय गुणों से भरपूर बताया गया है। इसलिए आपको बता दें कि लाल मुनक्का का निर्माण लाल अंगूरों को विशेष प्रकार से सुखाकर किया जाता है।

 

2. काला मुनक्का | Black Munakka

काला मुनक्का भी मुन्नका की एक गुणकारी किस्म होती है। इसका रंग काला होता है एवं स्वाद में यह मीठा होता है।

 

मुनक्का में मौजूद पोषक तत्व | Nutrients of Munakka in Hindi

मुनक्का पौष्टिक व लाभप्रद मेवा होता है जिसमें मुख्य रूप से आयरन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, पोटैशियम, प्रोटीन, विटामिन बी1, विटामिन बी2, विटामिन बी3, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, सोडियम, जिंक, मैग्नीशियम सहित एंटीऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

 

मुनक्का के लाजवाब फायदे | Munakka Ke Fayde

munakka benefits in hindi

आयुर्वेद में मुनक्का का इस्तेमाल एक मैडिसिन के रूप में किया जाता है क्योंकि मुनक्का के उपयोग से कई प्रकार की बिमारियों पर नियंत्रण किया जा सकता है। यदि आप अपनी सेहत को लेकर परेशान हैं तो अब आपको चिंतित होने की जरुरत नहीं है क्योंकि अब हम आपको बताने वाले हैं मुनक्का से होने वाले सेहतमंद फायदे। इन्हे जानने के बाद यकीनन आप भी मुन्नका का उपयोग एक औषधि के रूप में करने लगेगें।

 

1. चक्कर आने की समस्या का करता है अंत

चक्कर आने की समस्या को वर्टिगो के नाम से जाना है। वर्टिगो यानि की घूमने का एक अहसास या असंतुलन की अनुभुति है जिसमें रोगी को चक्कर आने लगता है। दोस्तों चक्कर आने के कई कारण होते हैं जैसे कि शारीरिक कमजोरी, मानसिक कमजोरी, तनाव, गर्भावस्था आदि। इस समस्या से किसी भी उम्र का व्यक्ति किसी भी समय पीड़ित हो सकता है। आपको बता दें कि इस समस्या का समाधान करने के लिए मुनक्का का उपयोग बेहद लाभकारी होता है।

मुनक्का में कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो चक्कर आने की समस्या का अंत करने में मददगार होते हैं। यदि आप मुनक्का के इस्तेमाल से चक्कर आने की परेशानी से निजात पाना चाहते हैं तो आप मुनक्का का इस्तेमाल घी में भूनकर काले नामक के साथ कर सकते हैं।

 

2. खून की कमी को करता है दूर

शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से लाल रक्त कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं जिसके कारण शरीर खून की कमी से ग्रस्त हो जाता है। हालाँकि शरीर में खून की कमी के कई कारण हो सकते हैं लेकिन खून की कमी का कारण कोई भी हो किन्तु खून की कमी का तुरंत उपचार करना जरुरी होता है। खून की कमी के कारण रोगी न सिर्फ शारीरिक व मानसिक रोगों से ग्रस्त होता है बल्कि खून की कमी मौत का भी कारण बन जाती है।

इसलिए आपको बता दें की खून की कमी को दूर करने के लिए आप मुनक्का का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल मुन्नका में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो खून की कमी को दूर करने में फायदेमंद होता है।

 

3. भूख बढ़ाने में होता है फायदेमंद

ऐसे कई लोग होते हैं जिनको भूख नहीं लगती है। इसी वजह से लोग मानसिक तनाव का तो शिकार होते ही हैं साथ ही भूख नहीं लगने की वजह से शरीर में पोषक तत्वों की कमी भी हो जाती है एवं शरीर कमजोर व कई रोगों से ग्रस्त हो जाता है। इसलिए किसी भी व्यक्ति को भूख नहीं लगने की समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। बल्कि भूख नहीं लगने का कारण जानकर इसका जल्द से जल्द उपचार करना चाहिए।

आपको बता दें कि काली मिर्च व काला नमक के साथ मुनक्के का उपयोग करने से तेज भूख लगने लगती है। अतः मुनक्का का इस्तेमाल भूख बढ़ाने में फायदेमंद होता है।

 

4. मुनक्का बनता है शरीर को बलशाली

आज कल गलत खाना पान के कारण शरीर में कमजोरी की समस्या से कई लोग जूझ रहे हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शरीर का बलशाली यानि कि हड्डियों और मांसपेशियों का मजबूत होना जरुरी है। शरीर को बलशाली व विकसित करने के लिए सबसे आवश्यक होता है प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन ई युक्त पौष्टिक आहार का सेवन करना।

इसलिए आपको बता दें कि मुनक्का में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन ई व एंटीऑक्सीडेंट तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो शरीर को बलशाली बनाने में फायदेमंद होते हैं। सुबह शाम दूध के साथ मुनक्का का सेवन करने से शरीर बलशाली बनता है।

 

5. वजन को बढ़ाने में होता है प्रभावी

जिस प्रकार वजन का ज्यादा होना शरीर के लिए खतरनाक होता है उसी प्रकार वजन का कम होना भी शरीर के लिए नुकसानदायक होता है। इसलिए दोस्तों वजन पर्याप्त होने के लिए ठीक से भूख लगना आवश्यक होता है क्योंकि ठीक प्रकार से लगने वाली भूख की मदद से दुबले पतले लोग वजन को बढ़ा सकते हैं।

अतः वजन बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेद की दिव्य औषधी मुनक्का का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल मुनक्का में भूख लगने वाले गुणों के अतरिक्त भरपूर मात्रा में कैलोरी पाई जाती है जो वजन को बढ़ाने में फायदेमंद होती है।

 

6. गले के विकारों को दूर करे मुनक्का

आँखों की तरह ही सावधानी पूर्वक गले का ख्याल रखना भी आवश्यक होता है क्योंकि गला भी बेहद आसानी से कई प्रकार के संक्रामक बैक्टीरिया का शिकार हो जाता है। इसी वजह से गले में दर्द होने लगता है, गले में सूजन आने लगती है, खराश होने लगती है, गले में खुश्की आदि होने लगती है। दोस्तों जब भी गला किसी संक्रमण का शिकार होता है तो व्यक्ति को खाने पीने में समस्या उत्पन्न होती है इसलिए गले में होने वाले संक्रमण को अनदेखा न करते हुए उसका उपचार सही समय पर करना चाहिए।

आपको बता दें कि गले से सम्बंधित विकारों को दूर करने में मुनक्का का इस्तेमाल फायदेमंद होता है। दरअसल मुनक्का में एन्टीबैट्रियल व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो गले के विकारों को दूर करने में फायदेमंद होते हैं।

 

7. दांतो को मजबूत बनाने में है असरदार

दांत हमारे लिए कितने महत्पूर्ण होते हैं यह तो हम सभी बखूबी जानते हैं लेकिन हम में से अधिकतर लोग दांतों के प्रति लापरवाह होते हैं। इसी वजह से दांत कमजोर होने के आलावा कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त हो जाते हैं और यह समय से पहले दांतों के गिरने का कारण बनता है।

यदि आपके दांत भी कमजोर हैं एवं आप दांतों को मजबूत बनाने के लिए किसी खाद्य पदार्थ की खोज कर रहे हैं तो ऐसे में आप मुनक्का का इस्तेमाल कर सकते हैं। मुन्नका में कैल्शियम, विटामिन सी, ओलियानोलिक एसिड, फाइटोकेमिकल्स, एन्टीबैट्रियल व एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो दांतों को मजबूत बनाने में फायदेमंद होते हैं।

 

8. मुनक्का आँखों के लिए होता है गुणकारी

सुबह से लेकर रात तक आँखों के माध्यम से ही तमाम तरह के कार्यों को सम्पन्न किया जाता है जिसकी वजह से आँखों में थकान होने लगती है। इसके आलावा जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए की प्राप्ति नहीं होती है तो आँखों की रोशनी कम होने लगती है जिसकी वजह से आँखों को कई प्रकार के गंभीर रोगों का सामना करना पड़ता है।

यदि आप आँखों को स्वस्थ रखना चाहते हैं या फिर आँखों से सबंधित विकारों से पीड़ित हैं तो आपके लिए मुनक्का का इस्तेमाल गुणकारी साबित हो सकता है। दरअसल मुनक्का में विटामिन ए सहित कैल्शियम, विटामिन ई व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो आँखों से सम्बंधित विकारों को दूर करने में फायदेमंद होते हैं।

 

9. झुर्रियों से दिलाता है निजात

युवा पीड़ी के सौंदर्य को खराब करने के लिए सबसे घातक कोई समस्या है तो वह त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियां है। इसलिए यदि आपके चेहरे पर समय से पहले झुर्रियां आये तो आपको तुरंत सतर्क हो जाना चाहिए क्योंकि झुर्रियां त्वचा को अपना शिकार तो आसनी से बना लेती हैं लेकिन झुर्रियों को कम करना बेहद मुश्किल हो जाता है।

इसलिए आपको बता दें की मुनक्का इस्तेमाल करके आप झुर्रियों से छुटकारा पा सकते हैं। दरअसल मुनक्का में एंटीएजिंग तत्वों सहित विटामिन ई, विटामिन सी व कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो झुर्रियों से निजात दिलाने में फायदेमंद होते हैं।

 

मुनक्का के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Munakka in Hindi

munakka in hindi

1. मुनक्का में मैग्नीशियम और पोटाशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो ह्रदय रोगों को नियंत्रित करने में फायदेमंद होता है।

2. मुनक्का में फाइबर व विटामिन सी पाया जाता है जो कब्ज और पाचन तंत्र को दुरुस्त करने में फायदेमंद होता है।

3. ज्वर को कम करने में मुनक्का का उपयोग फायदेमंद होता है।

4. मुनक्का में कई प्रकार के खनिज व विटामिन्स पाए जाते हैं जो एसिडिटी को कम करने में फायदेमंद होते हैं।

5. मुनक्का में कैल्शियम व प्रोटीन पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।

6. मुनक्का में विटामिन सी पाया जाता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद होता है।

 

मुनक्का का उपयोग | Uses of Munakka in Hindi

munakka uses in hindi

दोस्तों यदि आपने मुनक्का का इस्तेमाल केवल एक सादा मेवा की तरह ही किया है एवं आपको यह ज्ञात नहीं है कि मुनक्का का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है तो अब हम आपको इसे इस्तेमाल करने के विभिन्न तरीके बताने वाले हैं।

1. मुनक्का का उपयोग चटनी के रूप में किया जा सकता है।

2. मुनक्का को घी में भूनकर काला नमक व काली मिर्ची के साथ उपयोग कर सकते हैं।

3. गर्म दूध के साथ मुन्नका का उपयोग किया जा सकता है।

4. रातभर पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट मुनक्का का उपयोग किया जा सकता है।

5. मुनक्का का उपयोग शेक के रूप में किया जा सकता है।

6. मिठाई के रूप में मुनक्का का इस्तेमाल किया जा सकता है।

7. यदि आपको मुनक्का का मधुर स्वाद पसंद नहीं है तो आप मुन्नका का इस्तेमाल काजू, अखरोट, पिस्ता के साथ कर सकते हैं।

8. काढ़े के रूप में मुनक्का का उपयोग किया जा सकता है।

 

मुनक्का से होने वाले नुकसान | Side Effects of Munakka in Hindi

मुनक्का सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन इसका गलत तरीके से उपयोग करने पर मुनक्का का उपयोग सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए अब हम आपको मुनक्का से होने वाले नुकसानों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनको जानने के पश्चात आप मुनक्का का उपयोग सही तरीके से करेंगे।

1. मुनक्का वजन बढ़ाने में फायदेमंद होता है इसलिए मोटापा से पीड़ित लोगों के लिए मुनक्का का अधिक सेवन हानिकारक साबित हो सकता है।

2. मुनक्का में शुगर की मात्रा पर्याप्त होती है जो मधुमेह रोगी के लिए नुकसानदायक हो सकती है।

3. मुनक्का में विटामिन के पाया जाता है इसलिए यदि आपको किसी चोट की वजह से खून निकल रहा हो या सर्जरी हुई हो तो मुन्नका का उपयोग नुकसानदायक साबित हो सकता है।

4. हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित रोगियों को मुनक्का का इस्तेमाल चिकत्सक का परामर्श लेकर करना चाहिए।

5. मुनक्का का अधिक सेवन करने से दस्त की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

6. जिन लोगों को अंगूर से एलर्जी हो उनके लिए मुनक्का का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह लेकर करना चाहिए।

7. मुनक्का का अधिक मात्रा में सेवन करने से फैटी लीवर की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

 

तो दोस्तों ये थी मुनक्का से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप munakka ke fayde और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

2 COMMENTS

  1. इसे खाने से बहुत से बीमारियां नही होती है

  2. आपने अच्छा लिखा है

Leave a Reply to Rohit Kumar Cancel reply

Please enter your comment!
Please enter your name here