About Epsom Salt in Hindi: नमक खाने के स्वाद में जान डालने का काम करता है। बगैर नमक का खाना खाने में बेस्वाद लगता है इसीलिए नमक को बहुत ही महत्पूर्ण चीज माना जाता है। हम बचपन से ही अनेक प्रकार के नमक का नाम सुनते आ रहे हैं। जैसे- काला नमक, सादा नमक, समुद्री नमक, लो-सोडियम सॉल्ट, सी सॉल्ट आदि। अब इन सभी नमक के गुणों के बारे में तो अधिकतर लोग जानते हैं। लेकिन एप्सम सॉल्ट (Epsom salt) क्या है और इसके गुणों के बारे में कम लोगों को ही पता है। इसलिए आज हम आपको एप्सम साल्ट और इसके कुछ ऐसे चमत्कारी फायदों के बारे में बताने रहे हैं जिन्हे जानकर आप निश्चित ही आश्चर्यचकित हो जायेगें। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं की एप्सोम साल्ट क्या है फिर इसके बाद आपको इसके गुणों से परिचित करवाते हैं।

 

Page Contents

एप्सम सॉल्ट क्या है | What is Epsom Salt in Hindi

एप्सम सॉल्ट मुख्या रूप से सेंधा नमक के नाम से प्रसिद्ध है। इसे कुछ लोग रॉक सॉल्ट और लाहोरी नमक के नाम से भी जानते हैं। एप्सम सॉल्ट को अंग्रजी में मैग्नीशियम सल्फेट कहा जाता है। एप्सम सॉल्ट में सादा नमक की तुलना में मैग्नीशियम सल्फे‍ट, पोटेशियम, कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। एप्सम सॉल्ट का उपयोग ज्यादातर व्रत के समय में ही किया जाता हैं किन्तु बहुत कम लोग इस बात से अवगत होगें कि एप्सम सॉल्ट का उपयोग चर्म रोग तथा कई प्रकार की शारीरिक बीमारियों को ठीक करने में भी किया जाता है। लो ब्लड प्रेशर वाले व्यक्तियों को सेंधा नमक का सेवन काफी लाभकारी रहता है। एप्सम सॉल्ट में मैग्नीशियम तत्व मुख्य रूप से पाया जाता है जो मनुष्य के कई एंजाइमों को संतुलित करने के साथ साथ सिर दर्द, हड्डियों में कमजोरी, हाई ब्लड प्रेशर जैसी कई समस्यायों को दूर करने में सहायक होता है।

 

एप्सम सॉल्ट (सेंधा नमक) कहाँ से आता है | Where did Epsom salt found

rock salt

चमत्कारिक गुणों से भरपूर एप्सम सॉल्ट की भारतीय उपमहाद्वीप में खेबड़ा नामक बहुत बड़ी खान है। यहीं से सेंधा नमक को लाया जाता है। इस खान में नमक की तादाद लगभग 22 करोड़ टन है। हर वर्ष इस खान से लगभग 4.5 लाख टन नमक निकाला जाता है। यह विश्व की दूसरी सबसे बड़ी खान है जो सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गयी है। खेबड़े की नमक खान के पास सेंधे नमक से तरह-तरह का निर्माण किया गया है जिसे देखने कई सैलानी भी आते हैं। यहाँ सेंधा नमक से 350 फुट ऊँचा सभा कक्ष बनाया है जिसमें 300 नमक की सीढ़ियाँ हैं, इसके अलावा खान के अंदर बना 25 फुट लम्बा पुल, 3000 वर्ग फुट की मस्जिद, चीन की विशाल दीवार आदि चीजें भी देखने योग्य हैं।

 

सेंधा नमक कैसे बनता है | Manufacturing of Epsom salt in Hindi

आपके मन में यह प्रश्न अवश्य उठ रहा होगा कि सेंधा नमक कैसे बनता है। इसलिए आज हम आपको सेंधा नमक के फायदों को बताने से पहले आपकी जिज्ञासा का समाधान करते हैं कि सेंधा नमक कैसे बनता है। तो आपको बता दें कि एप्सम सॉल्ट को बड़ी-बड़ी खानों से काटकर बनाया जाता है। इसलिए एप्सम सॉल्ट को रॉक सॉल्ट भी कहतें हैं। एप्सम सॉल्ट कच्चे प्राकृतिक खनिजों से तैयार किया जाता है अतः एप्सम सॉल्ट एक खनिज नमक है। यह एक ऐसा नमक है जिसको बिना रिफाइन के बनाया जाता है। इंग्लैंड में बेहद सुन्दर एप्सम सॉल्ट पाया जाता है। एप्सम सॉल्ट में मुख्य रूप से मैग्नीशियम सल्फेट पाया जाता है अतः केमिकल स्ट्रक्चर के कारण इस नमक को एप्सम सॉल्ट कहा जाता है।

 

सेंधा नमक शरीर के लिए क्यों जरुरी है | Why Epsom salt is necessary

जैसा की हम ऊपर बता चुके हैं कि सेंधा नमक में अन्य नमक की तुलना में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक पाई जाती है। एप्सम सॉल्ट में मैग्नीशियम मुख्य रूप से पाया जाता है जो की शरीर को तंदुरुस्त बनाये रखने के लिए महत्वपूर्ण होता है। मैग्नीशियम शरीर की मांसपेशियों, हड्डियों, ह्रदय तथा नर्वस सिस्टम को ठीक बनाये रखने के लिए अति आवश्यक होता है। ह्रदय से सम्बंधित रोगों के लिए एप्सम सॉल्ट का सेवन अच्छा विकल्प माना जाता है। एप्सम सॉल्ट के बारें में जानने के बाद आइये जानते हैं अब इसके फायदों के बारे में।

 

एप्सम सॉल्ट (सेंधा नमक) के फायदे | Benefits of Epsom Salt in Hindi

सेंधा नमक के कई फायदे हैं जी की इस प्रकार हैं।

 

1. पेट दर्द से दिलाए जल्द राहत | Helps to get relief in stomach pain

सेंधा नमक पेट से सम्बंधित होने वाले सभी रोगों को ठीक करता है। कई बार गलत खान-पान की वजह से कब्ज, एसिडिटी, खट्टी डकारें आना, पेट में जलन, पेट दर्द जैसी समस्याएँ उत्पन हो जाती हैं। एप्सम सॉल्ट में लैक्सेटिव गुण पाया जाता है जो की पेट से जुड़ी हुई सभी सामस्यांओ का समाधान करता है। एप्सम सॉल्ट पेट दर्द को दूर करने में बहुत ही लाभकारी नमक है। इस उपाय को करने के लिए 1/2 छोटी चम्मच एप्सम सॉल्ट में आधी छोटी चम्मच अजवाइन मिलाकर ताजे पानी के साथ सेवन करें। इससे एसिडिटी और कब्ज कि समस्या दूर होकर पेट दर्द ठीक भी हो जाता है।

 

2. दाग-धब्बे दूर कर चेहरे पर लाये कुदरती चमक | It brings Glow on face

एप्सम सॉल्ट को बनाया नहीं गया है बल्कि इसका निर्माण प्राकृतिक खनिजों के माध्यम से हुआ है। ये खनिज ईश्वर की देन है। खनिजों का प्राकृतिक गुणों से समृद्ध होने की वजह से एप्सम सॉल्ट में उत्कृष्ट रूप से त्वचा को साफ़ करने के गुण पाये जाते हैं। हम अपनी त्वचा की ठीक तरह से देखभाल नहीं कर पाते जिसकी वजह से उस पर मृत कोशिकाओं की परत चढ़ जाती है और त्वचा पर दाग धब्बे दिखने के साथ ही चेहरे की चमक भी चली जाती है। एप्सम सॉल्ट एक ऐसा नमक है जो मृत त्वचा को जीवंत कर देता है। एप्सम सॉल्ट का उपयोग आप फेस स्क्रब की तरह कर सकतें हैं।
इस उपाय को करने के लिए थोड़ा सा एप्सम सॉल्ट लें फिर उसमें कुछ बूंदे गुलाब जल की डालें। हल्क़े हाथों से दो से तीन मिनिट तक मसाज करें उसके बाद साफ़ पानी से चेहरे को धो लें। प्रतिदिन ऐसा करने से त्वचा पर चढ़ी हुई मृत कोशिकाओं की परत उतर जाती है और दाग-धब्बे दूर होकर चेहरे पर चमक आ जाती है। आपको बता दें की एप्सम सॉल्ट की नाखूनों पर मसाज करने से नाखूनों का पीलापन दूर होकर नाखून मजबूत और सफ़ेद बनते हैं।

 

3. वजन को कम करे | Epsom salt helps to reduce weight

वर्तमान जीवनशैली में हर व्यक्ति फिट रहना चाहता है। यदि किसी व्यक्ति का थोड़ा सा ही पेट बाहर निकल आये या वह जरा सा भी मोटा हो जाये तो वह व्यक्ति टेंशन में आ जाता है। मोटापा बढ़ने से शरीर में अनेक बीमारियाँ उत्पन्न होने लगती हैं। यदि आप भी वजन कम करना चाहतें हैं तो एप्सम सॉल्ट आपकी मदद करेगा। इस उपाय को करने के लिए एक ग्राम एप्सम सॉल्ट, आधी चम्मच सौंफ, एक चौथाई भाग हींग का लेकर मिला लें। इस मिश्रण का सेवन सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ करने से पेट की चर्बी और वजन कम हो जाता है।

 

4. शरीर की जकड़न, सूजन और दर्द को करे दूर | Remove body stiffness, swelling and pain

एप्सम सॉल्ट में मौजूद मैग्नीशियम तत्व मनुष्य के शरीर में उपस्थित पीएच स्तर को विनियमित करता है। एप्सम सॉल्ट शरीर में तंत्रिकाओं की कार्यक्षमता को बड़ा देता है जिससे शरीर में होने वाले दर्द से राहत मिलती है। कई बार देखा जाता है कि शरीर के किसी भाग में चोट लग जाने से शरीर के उस भाग पर सूजन आ जाती और वह जकड़ जाता है। एप्सम की मदद से सूजन और दर्द को कम किया जा सकता है। एक लीटर गुनगुने पानी में तीन छोटी चम्मच एप्सम सॉल्ट डालें। अब इस पानी में शरीर में जकड़न या दर्द होने वाले अंग को 30-35 मिनिट तक भिगोकर रखें। इसके पश्चात सरसों के तेल को गुनगुना करके उसमें एक चौथाई चम्मच एप्सम सॉल्ट मिलाकर दस मिनिट तक हल्क़े हाथों से मसाज करें।

 

5. बालों को बनाये लम्बे, सुन्दर और रेशमी | Make hair long, beautiful and silky

आपने यह कभी नहीं सोचा होगा की नमक बालों को लम्बा और सुन्दर भी बना सकता है। एप्सम सॉल्ट के उपयोग से बालों को लम्बा, घना, मजबूत बनाया जा सकता है। एप्सम सॉल्ट में कुछ ऐसे मिनरल पाए जाते हैं जो क्षतिग्रस्‍त हुए बालों को ठीक करते हैं। यह बालों की जड़ों में से अतरिक्त तेल को सोखकर बालों की जड़ो को स्वस्थ व मजबूत बनाता है। बालों को लम्बे और रेशमी बनाने के लिए एक ग्राम नमक, 50 ग्राम दही, दो तीन बुँदे नींबू की डालकर ठीक से मिक्स कर लें। अब इस मिश्रण को बालों पर लगाकर 30 मिनिट के लिए छोड़ दें। तत्पश्चात बालों को साफ़ पानी से धो कर सुखा लें।

ध्यान रहे इस उपाय को करने के तुरंत बाद शेम्पू नहीं करना है। अगले दिन शेम्पू कर सकतें हैं।

यह भी पढ़िए: बाल बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

 

6. सनबर्न का करें इलाज | Treat sunburn with Epsom salt in Hindi

धूप से निकलने वाली हानिकारक किरणों से चेहरे की त्वचा पर लाल दाने, जलन और खुजली होने लगती है। सनबर्न की समस्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। यदि आपको या आपके किसी परिचित मित्र को सनबर्न की समस्या है तो इस समस्या से निजात पाने के लिए आप एप्सम सॉल्ट का उपयोग कर सकते हैं। और उन्हें भी इसके फायदे बता सकते हैं। एप्सम सॉल्ट में एंटी-इंफ्लेमेन्ट्री गुण पाया जाता है जो की सनबर्न को ठीक करता है। इस उपाय को करने के लिए आधी छोटी चम्मच एप्सम सॉल्ट, आधी कटोरी आलू का रस, आधी कटोरी खीरे का रस मिलाकर प्रभावित अंग पर 10-15 मिनिट तक लगाए। प्रतिदिन इस नुस्खे का इस्तेमाल करने से सनबर्न की समस्या से छुटकारा मिलता है।

 

7. ह्रदय को रखें स्वस्थ | Epsom salt Keeps heart healthy

ह्रदय से सम्बंधित बीमारियां अधिक चिकनाई युक्त भोज्य पदार्थों के सेवन करने से होती हैं। चिकनाई युक्त भोजन से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है जिससे ह्रदय की नसें ब्लॉक हो जाती और वह सुचारु रूप से कार्य नहीं कर पाती हैं। एप्सम सॉल्ट में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो की ह्रदय की धड़कन को सामान्य रखता है। एप्सम सॉल्ट रक्त संचार करता है जिससे स्ट्रोक और ह्रदय रोग का खतरा कम हो जाता है।

 

8. पाचन तंत्र में करे सुधार | Epsom salt improves Digestive system

हम जब भोजन करते हैं तो उस भोजन का हमारे शरीर के आमाशय में जाकर पूर्ण रूप से पचना आवश्यक है। यदि हमारा भोजन ठीक तरह से नहीं पचता है तो इसका मतलब है कि हमारा पाचन तंत्र ख़राब है। पाचन तंत्र खरब होने पर उसमें विषाक्त पदार्थ बनने लगते हैं जो अनेक प्रकार की बीमारियों को जन्म देतें हैं। जैसे भूख नहीं लगना, खट्टी डकारे आना, गैस बनना, शरीर की स्फूर्ति कम होना है, कब्ज होना आदि बीमारियाँ पनपने लगती हैं। एप्सम सॉल्ट में मौजूद मैग्नीशियम सेल्‍स डिटॉक्स करने का काम करता है जिससे शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थ बाहर निकलकर पाचन तंत्र में सुधार होता है। एप्सम साल्ट में लेक्सेटिव गुण पाया जाता है जो मल को बहार निष्काषित करता है। एक गिलास पानी में आधी छोटी चम्मच अजवाइन के दाने डालकर उबाल लें। अब इस पानी में एप्सम सॉल्ट और आधा नींबू निचोड़कर सुबह खाली पेट सेवन करें। इस उपयोग के सेवन से पाचन तंत्र में सुधार होता है और कब्ज की समस्या भी ख़त्म हो जाती है। यह नुस्खा पेट की सभी समस्यांओ को खत्म करने का कारगार उपाय है।

 

9. तनाव के लिए है फायदेमंद | Beneficial to reduce stress

शरीर में एड्रेनेलिन और मैग्नीशियम का लेवल कम होने से तनाव बढ़ने लगता है। तनाव के और भी कारण होते हैं। जैसे अधिक थकान का होना, पर्याप्त नींद नहीं लेना, किसी वस्तु-विषय के बारे में चिंतित रहना आदि। तनाव को कम करने में मैग्नीशियम मुख्य भूमिका निभाता है। अतः शरीर को पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम मिलना बहुत जरूरी है। तनाव को दूर करने के लिए बाथ टब में दो ग्राम नमक, दो चम्मच गुलाब जल और गुनगुना पानी मिलाकर पंद्रह मिनिट तक हाथ और पैरों को डालकर रखें या 10 मिनिट बाथ टब में स्नान करें। ऐसा करने से त्वचा मैग्नीशियम तत्व को अवशोषित कर लेती है और इस तरह पूरे शरीर में मैग्नीशियम पहुँच जाता है जो तनाव को दूर करता है।

 

10. ब्लड प्रेशर के लिए है फायदेमंद | Epsom salt Helps down in Blood pressure

वर्तमान जीवनशैली में हुए परिवर्तनों के कारण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बढ़ती जा रही है। आज के दौर में हर दूसरा व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी से जूझ रहा है। रक्त द्वारा धमनियों पर दबाव डाला जाता है जिसकी वजह से शरीर में रक्त चाप तेजी से बढ़ने लगता है। बड़े हुए उच्च रक्त चाप को हाई ब्लड प्रेशर कहते हैं। हाई ब्लड प्रेशर होने का मुख्य कारण है। हाइपरटेंशन, अधिक तनाव, जीवनशैली में बदलाब, तनाव से शरीर की छोटी-छोटी धमनियाँ संकुचित होने लगती है जिसकी बजह से तेज गति से रक्तचाप होने लगता है और हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है। एप्सम सॉल्ट में मौजूद मैग्नीशियम धमनियों को साफ़ और सामान्य बनाये रखता है एवं मैग्नीशियम में ऐसे एंजाइम पाए जाते है जो तनाव को खत्म करते है। इसलिए हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर वाले लोगों को डॉक्टर भी सेंधा नमक का सेवन करने की सलाह देतें हैं।

 

11. पिम्पल्स, एक्ने के लिए है फायदेमंद | Helps to remove pimple & acne

आज के दौर में चेहरे पर पिम्पल्स होना स्वभाभिक है तथा दिन-प्रतिदिन यह समस्या बढ़ती ही जा रही है। चेहरे पर पिम्पल्स और एक्ने होने के अनेक कारण हैं। जैसे की हार्मोस में परिवर्तन, जंक फ़ूड का अधिक सेवन करना, ख़राब पाचन तंत्र, नींद की कमी, पानी की कमी, गलत क्रीम या लोशन का उपयोग करना आदि कारणों से चेहरे पर पिंपल्स निकल आते हैं। पिम्पल्स और एक्ने की समस्या तैलिये त्वचा वाले लोंगो को अधिक होती है क्योंकि पिम्पल्स मुख्य रूप से तेल ग्रंथियों से सम्बन्धित एक विकार है। यदि आपकी तैलिये त्वचा है और आप पिम्पल्स एक्ने की समस्या से परेशान हैं तो इस समस्या को आप एप्सम सॉल्ट की मदद से खत्म कर सकतें हैं। इसके लिए 20 ग्राम ओटमील और 20 ग्राम एप्सम सॉल्ट में दो चम्मच गुलाब जल मिलकर पेस्ट बना लें। तैयार पेस्ट को हल्के हाथों से चेहरे पर लगा लें। 10-15 मिनिट तक लगा कर रखें और फिर धो लें। इस उपाय का उपयोग हफ्ते में दो बार करने से पिम्पल्स एक्ने की समस्या खत्म हो जाती है।

यह भी पढ़िए: मुहांसों से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय

 

12. झुर्रियों के लिए है फायदेमंद | Remove wrinkles

बढ़ती उम्र के साथ ही झुरीयाँ भी बढ़ती जाती हैं। झुर्रियों के बढ़ने से बुढ़ापा दिखने लगता है जिससे कम उम्र में ही हम बूढ़े दिखने लगतें हैं। एप्सम सॉल्ट झुर्रियों को खत्म करने का सबसे सस्ता और सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है। इस उपाय के लिए एक चौथाई चम्मच एप्सम सॉल्ट, आधी छोटी चम्मच नींबू का रस, आधी छोटी चम्मच एलोवेरा जेल, एक विटामिन ई का कैप्सूल लें। अब इन सभी को मिलाकर गाड़ा पेस्ट बना लें। इस पेस्ट की मोटी परत चेहरे पर लगाकर 15 मिनिट के लिए छोड़ दें उसके बाद ठन्डे पानी से चहरे को धोलें। इस उपाय को हफ्ते में एक दिन छोड़कर करने से झुर्रियों की समस्या से छुटकारा मिलता है।

 

एप्सम सॉल्ट के नुकसान | Side Effect of Epsom Salt in Hindi

दोस्तों आप एप्सम सॉल्ट के फायदों से तो अवगत हो गए होंगे लेकिन अब हम आपको इसके कुछ नुकसान से भी अवगत करने जा रहे हैं। नुकसान का नाम सुनकर चिंतित होने की आवश्कता नहीं है क्योंकि किसी भी चीज का सही तरीके से उपयोग ना करना या अत्यधिक उपयोग करना हानिकारक रहता है। इसी लिए आपको इस हानि से बचने के लिए बस नीचे बताये गई बातों को ध्यान में रखना है।

1. एप्सम सॉल्ट का अधिक सेवन करने से दस्त, उल्टी होने लगतें हैं। कई बार इसके अत्यधिक उपयोग से डायरिया हो जाता है।

2. डायबिटीज और किडनी के रोगियों को एप्सम सॉल्ट का उपयोग करना निषेध है।

3. जिन व्यक्तियों में ओयोडिन की कमी होती है उन व्यक्तियों को एप्सम सॉल्ट का उपयोग नहीं करना चाहिए। यदि आप एप्सम सॉल्ट का सेवन करना चाहतें हैं तो उसके साथ आयोडीन नमक का सेवन भी करते रहें। जिससे आयोडीन की भी पूर्ति होती रहे।

4. गर्वभती महिलाओं को एप्सम सॉल्ट का उपयोग अपने डॉटर का परामर्श लेकर ही करना चाहिए।

5. त्वचा पर एप्सम सॉल्ट का इस्तेमाल अत्यधिक नहीं करना चाहिए।

6. छोटे बच्चे (0 से 6 साल) तक के को एप्सम सॉल्ट का सेवन नहीं करना चाहिए।

 

तो दोस्तों ये थी एप्सम सॉल्ट से जुड़ी कुछ जानकारी (Epsom salt in hindi)। हम आशा करते हैं की आपको एप्सम सॉल्ट के फायदे समझ आ गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here