About Mohabbat Shayari: जिंदगी में जब कभी भी किसी को mohabbat होती है तो वो अपने पार्टनर को शायरी के द्वारा अपने दिल की बात कहने की कोशिश करता है। ऐसे में लोगों को तलाश होती है कुछ लाजवाब शायरियों की जो उनके दिल का हाल बयान कर सके। तो आज इस पोस्ट में हम ऐसी ही कुछ लाजवाब mohabbat shayari आपके लिए ले कर आये हैं।

 


Mohabbat Shayari


 

mohabbat shayari

मोहब्बत शायरी – मोहब्बत चाहत होती है  

मोहब्बत चाहत होती है सभी की
हम बेवफाई को सलाम करते हैं
महफिल तो होती है पसंद सबकी
हम तन्हाई को अपने नाम करते हैं…

Mohabbat Shayari – Mohabbat chahat hoti hai  

Mohabbat chahat hoti hai sabhi ki
Hum bewafai ko salam karte hai
Mehfil to hoti hai pasand sabki
Hum tanhai ko apne naam karte hai…

 


 

मोहब्बत शायरी – जाम मोहब्बत का  

तेरी बाहों में हम आज
जिंदगी से ऊबकर सो गए
पीकर जाम मोहब्बत का
तेरे आगोश में आ कर खो गए…

Mohabbat Shayari – Jaam mohabbat ka  

Teri baaho me hum aaj
Zindgi se ubkar so gaye
Peekar jaam mohabbat ka
Tere aagosh me aa kar kho gaye…

 


 

मोहब्बत शायरी – दिल में रहती मोहब्बत है  

ये जिंदगी अब आपकी अमानत है
इस दिल में रहती आपकी मोहब्बत है
आपके बिना सूना सारा जहान है
इन साँसों को आपकी जरुरत है…

Mohabbat Shayari – Dil me rehti mohabbat hai  

Ye zindgi ab aapki amanat hai
Is dil me rehti aapki mohabbat hai
Aapke bina soona sara jahaan hai
In saanso ko aapki jarurat hai…

 


 

मोहब्बत शायरी – माशूक की मोहब्बत  

आशिक माशूक की मोहब्बत
हुस्न और इश्क़ की कहानी
बफा की या की बेवफा से
परवान चढ़ी ये वीरान जवानी…

Mohabbat Shayari – Mashook ki mohabbat  

Aashik mashook ki mohabbat
Husn or ishq ki kahani
Bafa ki ya ki bewafa se
Parwaan chadi ye veeran jawaani…

 


 

मोहब्बत शायरी – मोहब्बत करना दिल तोडना नहीं  

मोहब्बत करना दिल तोडना नहीं
ये लव भरी किस ले छोड़ना नहीं
क्योंकि नाजुक है दिल मेरा
तड़प जायेगा इसे झकजोड़ना नहीं…

Mohabbat Shayari – Mohabbat karna dil todna nahi  

Mohabbat karna dil todna nahi
Ye love bhari kiss le chodna nahi
Kyunki najuk hai dil mera
Tadap jayega ise jhakjodna nahi…

 


 

मोहब्बत शायरी – एहसास मोहब्बत का  

हर रात ख्वाबों में आती हो तुम
एहसास मोहब्बत का दिलाती हो तुम
ना जाने कब पास होगी हमारे
दूर रह कर क्यों इतना सताती हो तुम…

Mohabbat Shayari – Ehsaas mohabbat ka  

Har raat khawon me aati ho tum
Ehsaas mohabbat ka dilaati ho tum
Naa jaane kab paas hodi hamare
Door reh kar kyu itna sataati ho tum…

 


 

मोहब्बत शायरी – बेगुनाह मोहब्बत रोती है  

तू तो सोया है मज़ार पे खुद
तुझे क्या खबर होगी ज़माने की
बेगुनाह मोहब्बत रोती है यहाँ
सजा मिलती है यहाँ दिल लगाने की…

Mohabbat Shayari – Begunaah mohabbbat roti hai  

Tu to soya hai mazar pe khud
Tujhe kya khabar hogi zamaane ki
Begunaah mohabbbat roti hai yaha
Saza milti hai yaha dil lagaane ki…


 

मोहब्बत शायरी – मोहब्बत में है बेवफाई  

करके मोहब्बत मुझको मिली रुस्वाई
उनकी मोहब्बत ने मुझे ये सिखाई
ना करना मोहब्बत किसी से ऐ दोस्त
इनकी मोहब्बत में ही है बेवफाई…

Mohabbat Shayari – Mohabbat me hai bewafai  

Karke mohabbat mujhko mili ruswai
Unki mohabbat ne mujhe ye sikhaai
Naa karna mohabbat kisi se ae dost
Inki mohabbat me hi hai bewafai…

 


 

मोहब्बत शायरी – पाक मोहब्बत 

लगाया है जो दाग तूने बेवजह सनम
हाय हमारी पाक मोहब्बत पर
लगाए बैठे हैं हम अपने सीने से
तुम्हारे प्यार की निशानी समझ कर…

Mohabbat Shayari – Paak mohabbat  

Lagaya hai jo daag tune bewajah sanam
Haay hamari paak mohabbat par
Lagaye baithe hai hum apne seene se
Tumhare pyar ki nishani samajh kar…

 

 


 

मोहब्बत शायरी – मोहब्बत में धोखा

ठोकर खा कर जब गिरे तो
हमे खुद व खुद संभलना आ गया
मोहब्बत में धोखा खाने के बाद
हमे खुद व खुद लिखना आ गया…

Mohabbat Shayari – Mohabbat me dhoka  

Thokar kha kar jab gire to
Hume khud va khud sambhalna aa gaya
Mohabbat me dhoka khaane ke baad
Hume khud va khud likhna aa gaya…

 


Mohabbat Shayari in Hindi


 

mohabbat shayari in hindi

मोहब्बत शायरी – मुहब्बत का जाम पिया था  

दिल की हर बात अधूरी है अभी
एक और मुलाकात जरूरी है अभी
मैंने मुहब्बत का जाम तो पिया ही था
पर तेरे लिए मैंने आंसू भी पिए थे कभी…

Mohabbat Shayari – Mohabbat ka jaam piya tha  

Dil ki har baat adhuri hai abhi
ek or mulakat jaruri hai abhi
Maine mohabbat ka jaam to piya he tha
Par tere liye maine aansu bhi piye the kabhi…

 


 

शायरी – नाम मोहब्बत का  

नाम लेकर मोहब्बत का
क्यों तुम दिल मेरा दुखाती हो
जो गिर चुका है अपनी नजर में
उसे अब और क्यों सताती हो…

Shayari – Naam mohabbat ka  

Naam lekar mohabbat ka
Kyu tum dil mera dukhati ho
Jo gir chuka hai apni nazar me
Use ab or kyu satati ho…

 


 

शायरी – मोहब्बत में रुस्वाई  

क्या मिला मुझसे बेवफाई करके
खुदा को भी नाराज किया मोहब्बत में रुस्वाई करके
मैं भी अब कुछ कर नहीं सकता
शायद तुझे जन्नत मिल जाए मेरी भलाई करके…

Shayari – Mohabbat me ruswaai  

Kya mila mujhse bewafai karke
Khuda ko bhi naraj kiya mohabbat me ruswaai karke
Main bhi shayad kuch kar nahi sakta
Shayad tujhe jannat mil jaye meri bhalai karke…

 


 

शायरी – मोहब्बत ने सजा दिलवाई  

जान के उनको दिल क्यों लगाए
आ खाली कसम हम उनको तड़पाये
आ करके दिखा दे क्या होती है बेवफाई
मुझे उनकी मोहब्बत ने है सजा दिलवाई…

Shayari – Mohabbat ne saja dilwaai  

Jaan ke unko dil kyu lagaye
Aa khaali kasam hum unko tadpaaye
Aa karke dikha de kya hoti haI bewafai
Mujhe unki mohabbat ne hai saja dilwaai…

 


 

मोहब्बत शायरी – तुमसे मोहब्बत करती हूँ  

में तुमसे मोहब्बत करती हूँ
तुम्हारी नजर रहती है मेरी जवानी पे
तुम चाहते हो बहकाना मुझे
तुम्हारी नजर रहती है मेरी नादानी पे…

Mohabbat Shayari – Tumse mohabbat karti hu  

Me tumse mohabbat karti hu
Tumhari nazar rehti hai meri jawani pe
Tum chahte ho behkana mujhe
Tumhari nazar rehti hai meri nadaani pe…

 


 

शायरी – खोजने के बाद भी सच्ची मोहब्बत नहीं मिलती  

ठोकर खाकर ही इंसान की मोहब्बत संवारती है
जब चाहे साथी मिल जाये तब प्यार भी जीत बनती है
मेहबूबा के साथ वीराने में भी दिल की कली खिलती है
बहुत खोजने के बाद भी सच्ची मोहब्बत नहीं मिलती है…

Shayari – Khojne ke baad bhi sacchi mohabbat nahi milti  

Thokar kha kar hi insaan ki mohabbat sanwarti hai
Jab chahe saathi mil jaye tab pyar bhi jeet banti hai
Mehbooba ke sath veerane me bhi dil ki kali khilti hai
Bahut khojne ke baad bhi sacchi mohabbat nahi milti hai…

 


 

शायरी – सजाई हैं मोहब्बत से गलियां  

दिल तड़पता है उन्हें पाने के लिए वो मिलते ही नहीं
तरसती है आँखें दीदार के उनके पर वो नजर आते ही नहीं
उनके लिए दिल जान हाजिर है बिछाये है दिल सड़कों पर
सजाई हैं मोहब्बत से गलियां पर वे इधर आते ही नहीं…

Shayari – Sajai hai mohabbat se galiyan  

Dil tadapta hai unhe paane ke liye wo milte hi nahi
Tarasti hai aankhe deedar ke unke par wo nazar aate hi nahi
Unke liye dil jaan hazir hai bichaye hai dil sadko par
Sajai hai mohabbat se galiyan par ve idhar aate hi nahi…

 


 

शायरी – मोहब्बत करनी थी उनसे  

मोहब्बत करनी थी उनसे ऐ दिल मुझको
मगर तू लगा रहा इनके कोरे वादों पर
दुश्वार करके रख दी तूने जिंदगी हमारी
और बता क्या मिला तुझे इन हसीनों पर…

Shayari – Mohabbat karni thi unse  

Mohabbat karni thi unse ae dil mujhko
Magar tu laga raha inke kore vaado par
Dushwar karke rakh di tune zindgi hamari
Or bata bata kya mila tujhe in haseeno par…

 


 

शायरी – जिंदगी की पहली मोहब्बत  

नाज है मुझे उस खुदा की खुदाई पर
जिसने तुझे इतनी ख़ूबसूरती दी
उस दिल को तूने तोड़ दिया
जिसने तुझे जिंदगी की पहली मोहब्बत दी…

Shayari – Zindgi ki pehli mohabbat  

Naaz hai mujhe us khuda ki khudaai par
Jisne tujhe itni khoobsurat di
Us dil ko tune tod diya
Jisne tujhe zindgi ki pehli mohabbat di…

 


 

शायरी – मोहब्बत का घाव  

मजनू के इस दिल पर तेरे प्यार का दबाब है
मेरे जिंदगी में सचमुच खुड़ियों का अभाव है
डरता हूँ लग ना जाए कहीं गैरों की नजर
कितना हसीन तेरी मोहब्बत का ये घाव है…

Shayari – Mohabbat ka ghaav  

Majnu ke is dil par tere pyar ka dabaab hai
Mere zindgi me sachmuch khudiyo ka abhaav hai
Darta hu lag naa jaye kahi gairo ki nazar
Kitna haseen teri mohabbat ka ye ghaav hai…

 


Mohabbat Ki Shayari


 

mohabbat ki shayari

मोहब्बत शायरी – उसकी मोहब्बत  

उसकी मोहब्बत प्यार वफा
ये रोग पुराना है मेरे लिए
बचकर रहता हूँ अब हसीनों से
ये खेल पुराना है मेरे लिए…

Mohabbat Shayari – Uski mohabbat  

Uski mohabbat pyar wafa
Ye rog purana hai mere liye
Bachkar rehta hu ab haseeno se
Ye khel purana hai mere liye…

 


 

शायरी – मोहब्बत बहुत सताती है  

आ जाओ जल्दी बहुत याद आती है
बीती रात की मोहब्बत बहुत सताती है
रात और दिन हो गए हैं पहाड़ों जैसे
जिंदगी के साथ मौत भी हमें बुलाती है…

Shayari – Mohabbat bahut satati hai  

Aa jao jaldi bahut yaad aati hai
Beeti raat ki mohabbat bahut satati hai
Raat or din ho gaye hain pahado jaise
Zindgi ke sath maut bhi hame bulaati hai…


 

शायरी – नफरत से ही कह दे मोहब्बत हो गयी  

देख भी नहीं सकते मुझे इतनी नफरत हो गयी
नफरत से ही एक बार कह दे की मोहब्बत हो गयी
जब कोई आता है वह कहता है उल्फत हो गयी
किस तरह कह दूँ हजारों से मोहब्बत हो गयी…

Shayari – Nafrat se hi keh de mohabbat ho gayi  

Dekh bhi nahi sakte mujhe itni nafrat ho gayi
Nafrat se hi ek bar keh de ki mohabbat ho gayi
Jab koi aata hai vah kehta hai ulfat ho gayi
Kisi tarah keh doon hazaro se mohabbbat ho gayi…

 


 

शायरी – तुमसे है मोहब्बत  

तुमसे है मोहब्बत हम नफरत ना करेंगे
हम और से दुनिया में मोहब्बत ना करेंगे
तुम जिस तरह खुद व खुद करते हो हिमाकत
दिल देकर हम किसी को हिमाकत ना करेंगे…

Shayari – Tumse hai mohabbat  

Tumse hai mohabbat hum nafrat na karenge
Hum or se duniya me mohabbat naa karenge
Tum jis tarah khud va khud karte ho himakat
Dil dekar hum kisi ko himakat naa karenge…

 


 

मोहब्बत शायरी – जीत जाएगी मोहब्बत  

सपनों को तोड़कर हमें गम का राख मिला
जो आग लगाई तूने तो मेरा घर भी जला
ना जाने कब तक चलेगा गम का सिलसिला
जीत जाएगी मोहब्बत और फिर खड़ा होगा प्यार का किला…

Mohabbat Shayari – Jeet jayegi mohabbat  

Sapno ko todkar hame gum ka raakh mila
Jo aag lagai tune to mera ghar bhi jala
Naa jane kab tak chalega gum ka silsilaa
Jeet jayegi mohabbat or fir khada hoga pyar ka kila…

 


 

शायरी – मोहब्बत हो गयी मुझको  

क्यों बनाया इतना हसीं खुदा ने उनको
देखकर भूल जाता है सारा काम मुझको
बार बार देखना चाहता है ये दिल क्यों उनको
किससे कहूं कि उनसे मोहब्बत हो गयी है मुझको…

Shayari – Mohabbat ho gayi mujhko  

Kyu banaya itna haseen khuda ne unko
Dekhkar bhool jata hai sara kaam mujhko
Baar baar dekhna chahta hai ye dil kyu unko
Kisse kahun ki unse mohabbat ho gayi hai mujhko…

 


 

शायरी – मोहब्बात का चिराग  

शाम को जो हमने मोहब्बात का चिराग जलाया था
सुबह होते ही हमने अपने अश्कों से बुझाया था
कई सदियों तक तो कोई भी मेरे पास ना आया था
उनकी याद में इस दिल को हमने किस तरह बहकाया था…

Shayari – Mohabbat ka chiraag  

Shaam ko jo humne mohabbat ka chiraag jalaya tha
Subha hote hi humne apne ashko se bujhaya tha
Kai sadiyo tak to koi bhi mere paas naa aya tha
Unki yaad me is dil ko humne kis tarah behkaya tha…

 


 

शायरी – मोहब्बत नाम है मिट जाने का  

मोहब्बत तो नाम है मिट जाने का
तुमने ख़ाक मोहब्बत के अंजाम देखे हैं
कफन बांधकर निकलते हैं राह ऐ वफा पे
ऐसे दीवानो के आपने ख़ाक अंजाम देखे हैं…

Shayari – Mohabbat naam hai mit jaane ka  

Mohabbat to naam hai mit jaane ka
Tumne khaak mohabbat ke anjaam dekhe hai
Kafan baandhkar nikalte hai raah ae wafa pe
Aise deewano ke aapne khak anjam dekhe hai…

 


 

शायरी – मोहब्बत एक आईना है  

जिंदगी एक घड़ी है जाने कब रुक जाए
मोहब्बत एक आईना है जाने कब रूठ जाए
इंसान एक खिलता फूल है जाने कब बिखर जाए
दिल एक नाजुक शीश है जाने कब टूट जाए…

Shayari – Mohabbat ek aaina hai  

Zindgi ek ghadi hai jaane kab ruk jaye
Mohabbat ek aaina hai jaane kab rooth jaye
Insaan ek khilta phool hai jaane kab bikhar jaaye
Dil ek najuk seesha hai jaane kab toot jaaye…

 


 

मोहब्बत शायरी – जनाज़ा मोहब्बत का  

जनाज़ा उठा है मोहब्बत का मेरी
पर अभी ये मेरी मैय्यत नहीं है
अभी तो जीना है अश्क पीने के लिए
खुदा को हमसे अभी मोहब्बत नहीं है…

Mohabbat Shayari – Janaza mohabbat ka  

Janaza utha hai mohabbat ka meri
Par abhi ye meri maiyyat nahi hai
Abhi to jeena hai ashq peene ke liye
Khuda ko humse abhi mohabbat nahi hai…

 


Shayari on Mohabbat


 

shayari on mohabbat

मोहब्बत शायरी – उसे मोहब्बत हो गयी  

मेरे इश्क़ की दास्ताँ
एक बेवफा की हुकूमत हो गई
पहले हमे थी उससे
आज उसे हमसे मोहब्बत हो गयी…

Mohabbat Shayari – Use mohabbat ho gayi  

Mere ishq ki dastan
Ek bewafa ki hukumat ho gai
Pehle use thi humse
Aaj use humse mohabbat ho gayi…

 


 

शायरी – तुम्हे मोहब्बत नहीं  

मिलाकर नजरें फिर झुका लेना
सनम समझ में हमारी आता नहीं
अगर शर्माए या टकराने के बाद
जानों तुम्हे हमसे मोहब्बत नहीं…

Shayari – Tumhe mohabbat nahi  

Milakar najre fir jhuka lena
Sanam samajh me hamari aata nahi
Agar sharmaye ya takraane ke baad
Jaano tumhe humse mohabbat nahi…

 


 

शायरी – डर लगता है मोहब्बत से  

रस्म ऐ उल्फत अदा करने की चाह में
हमे नफरत हो गयी प्यार के नाम से
कभी ईमान था चाहत हमारी
आज डर लगता है मोहब्बत के नाम से…

Shayari – Dar lagta hai mohabbat se  

Rasm ae ulfat ada karne ki chah me
Hume nafrat ho gayi pyar ke naam se
Kabhi imaan tha chahat humari
Aaj dar lagta hai mohabbat ke naam se…

 


 

शायरी – मोहब्बत की नजर से  

देखे ना हमको कोई मोहब्बत की नजर से
आ जाता है भूला हुआ अफसाना मुझे याद
आया है ये दोस्त गम में ऐसा मुकाम
ना दुनिया थी हमें याद, ना दुनिया को हम थे याद…

Shayari – Mohabbat ki nazar se  

Dekhe naa humko koi mohabbat ki nazar se
Aa jata hai bhula hua afsana mujhe yaad
Aaya hai ye dost gum me aisa mukaam
Naa duniya thi hame yaad naa duniya ko hum the yaad…

 


 

मोहब्बत शायरी – मोहब्बत अभी कुंवारी है  

क्यों ना रहूं दूर तुमसे
मुझे इज़्ज़त जान से प्यारी है
कैसे सुला लूँ आगोश में
मेरी मोहब्बत अभी कुंवारी है…

Mohabbat Shayari – Mohabbat abhi kunwari hai  

Kyu na rahu door tumse
Mujhe izzat jaan se pyari hai
Kaise sula lu aagosh me
Meri mohabbat abhi kunwari hai…

 


 

शायरी – मोहब्बत में लैला मजनू  

जीकर शायद किसी ने भी प्यार नहीं पाया है
मोहब्बत में लैला मजनू ने भी मौत को अपनाया है
तुझे लगता होगा तू जीकर भी नहीं है खुश
मोहब्बत में मर कर भी मैंने जन्नत को पाया है…

Shayari – Mohabbat me laila majnu  

Jeekar shayad kisi ne bhi pyaar nahi paya hai
Mohabbat me laila majnu ne bhi maut ko apnaya hai
Tujhe lagta hoga tu jeekar bhi nahi hai khush
Mohabbat me mar kar bhi maine zannat ko paya hai…

 


 

शायरी – करके रुसवां मोहब्बत को  

क्यों ना समझा कि ये दिल खिलौना नहीं
करके रुसवां मोहब्बत को तू अब रोना नहीं
तोड़ दिया है समझ के खिलौना ये दिल
पाया है बड़ी मुश्किल से प्यार तूने इसे अब खोना नहीं…

Shayari – Karke ruswa mohabbat ko  

Kyo na samjha ki ye dil khilona nahi
Karke ruswa mohabbat ko tu ab rona nahi
Tod diya hai samajh ke khilona ye dil
Paya hai badi mushkil se pyar tune ise ab khona nahi…

 


 

शायरी – क्यों की मोहब्बत तूने  

क्यों की मोहब्बत तूने जब तुझे मंजूर ना था
मैंने तो प्यार किया था मेरा कोई कसूर ना था
फिर तूने क्यों की ये बेवफाई
इसमें भी तेरी खता नहीं शायद रब को ही मंजूर न था…

Shayari – Kyo ki mohabbat tune  

Kyo ki mohabbat tune jab tujhe manjoor naa tha
Maine pyar kiya tha mera koi kasoor na tha
Fir tune kyu ki bewafai
Isme bhi teri khata nahi shayad rab ko hi manjoor na tha…

 


 

शायरी – सनम मोहब्बत करने लगे  

सनम मोहब्बत तो करने लगे
मगर सलीका नहीं था इश्क़ करने का
दिल से आग तो सुलगने लगी
पर सलीका नहीं था आग बुझाने का…

Shayari – Sanam mohabbat karne lage  

Sanam mohabbat to karne lage
Magar saleeka nahi tha ishq karne ka
Dil se aag to sulagne lagi
Par saleeka nahi tha aag bujhaane ka…

 


 

मोहब्बत शायरी – जनाज़ा मेरी मोहब्बत का  

परवान चढ़ेगी जमाने की चाहत
जब आशिक की अर्थी उठाई जाएगी
उठाकर जनाज़ा मेरी मोहब्बत का
मेहबूबा के घर बरात बुलाई जाएगी…

Mohabbat Shayari – Janaza meri mohabbat ka  

Parwan chadegi jamaane ki chahat
Jab aashik ki arthi uthai jayegi
Uthakar janaza meri mohabbat ka
Mehbooba ke ghar baraat bulai jayegi…

 

यह भी पढ़िए: बेवफाई वाली शायरियां

 

तो दोस्तों आपको ये शायरियाँ कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट (Mohabbat Shayari) को शेयर करें और ऐसे ही शायरियाँ पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here