About Bewafa shayari: प्यार मोहब्बत में धोखा (Bewafai) भी कई बार देखने को मिलती है। ऐसे में लोग अपने दिल की दास्ताँ समझाने के लिए शायरी का सहारा लेते हैं। शायरों ने इसलिए ही बेवफाई के ऊपर कई शायरियां (Bewafa Shayari) लिखी है इन्ही में से कुछ आज हम आपको सुनाएंगे। तो लीजिए पेश है आपके सामने बेवफा शायरी।

Contents (इस पोस्ट में आप देखेंगे)

 

👉दोस्तों इस पोस्ट को 6 भागों में बांटा गया है एवं ये सभी शायरियां काफी बढ़िया हैं इसलिए आप से आग्रह है कि इस पोस्ट को अंत तक पढ़िएगा।👈

 


बेवफा शायरी | New Bewafa Shayari


 

bewafa shayari

बेवफा शायरी – बेवफा ने दिया बुझा दिया  

उसके प्यार में हमने खुद को भुला दिया
बिन मांगे ही उसे सब कुछ दिला दिया
थमा दिया था उसे अपने जिंदगी का दीया हमने
पर उस बेवफा ने दीया ही बुझा दिया…

Bewafa Shayari – Bewafa ne diya bujha diya  

Uske pyar me humne khud ko bhula diya
Bin maange hi use sab kuch dila diya
Thama diya tha use apne jindgi ka diya humne
Par us bewafa ne diya hi bujha diya…

 


 

शायरी – उसने मुझे बेवफा बनाया है  

जिसको अपना समझा सनम
उसने ही दिल पे सितम ढाया है
जिसे बसाया था मैंने दिल में
उसने ही मुझे बेवफा बनाया है…

Shayari – Usne mujhe bewafa banaya hai  

Jisko apna samjha sanam
Usne hi dil pe sitam dhaya hai
Jise basaya tha maine dil me
Usne hi mujhe bewafa banaya hai…

 


 

बेवफा शायरी – बेवफा कहलाये जाते हैं  

नाम वफा का लेते हुए
हम बेवफा कहलाये जाते हैं
हर दर से ठोकर खा कर भी
हम बेइन्तेहाँ मुस्कुराते जाते हैं…

Bewafa Shayari – Bewafa kehlaye jaate hai  

Nam wafa ka lete huye
Hum bewafa kehlaye jaate hai
Har dar se thokar kha kar bhi
Hum beintehaan muskuraate jaate hai…

 


 

शायरी – बेवफा हम कहलाए तो  

जब सवाल उठेगा जमाने में
रुस्वा चाहत तुम्हारी होगी
गर बेवफा हम कहलाए तो
बदनाम मोहब्बत तुम्हारी होगी…

Shayari – Bewafa hum kehlaaye to  

Jab sawaal uthega jamaane me
Ruswa chahat tumhari hogi
Gar bewafa hum kehlaaye to
Badnaam mohabbat tumhari hogi…

 


 

बेवफा शायरी – उठ गया भरोसा उस बेवफा से  

उठ गया हो भरोसा उस बेवफा से
तो मुझको गले लगा ले तू
जीवन भर साथ निभाऊंगी तेरा
मेरी वफा को आजमा ले तू…

Bewafa Shayari – Uth gaya bharosa us bewafa se  

Uth gaya ho bharosa us bewafa se
To mujhko gale laga le tu
Jeevan bhar sath nibhaungi tera
Meri wafa ko aajma le tu…

 


 

शायरी – ये तेरी बेवफाई कह ना पायेगा  

तुझसे जुदा हो के ये दिल रह ना पायेगा
की है तूने बेवफाई ये सदमा सह ना पायेगा
लाख कोशिश करता हूँ की ये कह दे दुनिया से
कसम खुदा की ये तेरी बेवफाई कह ना पायेगा…

Shayari – Ye teri bewafai kah na payega  

Tujhse juda ho ke ye dil rah naa payega
Ki hai tune bewafai ye sadma sah naa payega
Lakh koshish karta hu ki ye kah de dunia se
Kasam khuda ki ye teri bewafai kah na payega…

 


 

बेवफा शायरी – दाग बेवफाई का लगाया तुमने  

अनजान थी मैं नाम ऐ वफा से
दाग बेवफाई का सनम लगाया तुमने
नादान थी मैं ना समझी चाहत तुम्हारी
इसलिए जीते जी कब्र में सुलाया तुमने…

Bewafa Shayari – Daag bewafai ka lagaya tumne  

Anjan thi me nam ae wafa se
Daag bewafai ka sanam lagaya tumne
Nadaan thi me naa samjhi chahat tumhari
Isliye jeete ji kabr me sulaya tumne…

 


 

शायरी – दुनिया वालों वो बेवफा निकला  

पत्थर समझती रही जिसे ताउम्र
वो ही आज खुदा निकला
जिसे पूजा मैंने खुदा की तरह
दुनिया वालों वो ही बेवफा निकला…

Shayari – Duniya walo wo bewafa nikla  

Patthar samajhti rahi jise taaumr
Wo hi aaj khuda nikla
Jise pooja maine khuda ki tarah
Duniya walo wo hi bewafa nikla…

 


 

शायरी – जब होगी जमाने में बेवफाई  

सलामत रहे तेरी महफिल साकी
दौर मयकशी के यूं ही गुजरते रहेंगे
जब जब होगी जमाने में बेवफाई
दीवाने तेरे दर पे यूं ही गिरते संभलते रहेंगे…

Shayari – Jab hogi Zamane me bewafai  

Salamat rahe teri mehfil saaki
Daur maykashi ke yu hi gujarte rahenge
Jab jab hogi Zamane me bewafai
Deewane tere dar pe yu hi girte sambhalte rahenge…

 


 

बेवफा शायरी – बेवफाई की वजह से  

तेरी बेवफाई की वजह से आज
इस कोठे पर कदम आ गया है
खुदा ही जाने कि ये खता किसकी है
हाथ में मौत का जाम आ गया है…

Bewafa Shayari – Bewafai ki wajah se  

Teri bewafai ki wajah se aaj
Is kothe par kadam aa gaya hai
Khuda hi jaane ki ye khata kiski hai
Hath me maut ka jaam aa gaya hai…

 


Very Emotional Bewafa Shayari


 

bewafai shayari

बेवफा शायरी – बेवफाई का चर्चा  

अपनी लुटी हुई दुनिया के लिए
आखिर किसको मैं बदनाम करुँ
तेरी बेवफाई का चर्चा सनम मेरे
आखिर कैसे मैं खुलेआम करुँ…

Bewafa Shayari – Bewafai ka charcha  

Apni luti hui duniya ke liye
Aakhir kisko me badnaam karu
Teri bewafai ka charcha sanam mere
Aakhir kaise me khuleaam karu…

 


 

शायरी – जमाने ने की है बेवफाई  

जमाने ने की है बेवफाई इस कदर
हिम्मत नहीं है किसी से नजर मिलाने की
जज्बा ही खत्म हो गया वफा का मेरा
हिम्मत नहीं है फिर से दिल लगाने की…

Shayari – Zamane ne ki hai bewafai  

Zamane ne ki hai bewafai is kadar
Himmat nahi hai kisi se najar milaane ki
Jazba hi khatam ho gaya wafa ka mera
Himmat nahi hai fir se dil lagane ki…

 


 

शायरी – ठुकराते हो वफा  

तुम ठुकराते हो वफा अपनों की
पर गैरों ने कब साथ निभाया है
वो कोठे वाली महज तवायफ है
तवायफ ने कब प्यार निभाया है…

Shayari – Thukrate ho wafa  

Tum thukrate ho wafa apno ki
Par gairo ne kab sath nibhaya hai
Wo kothe wali mahaj tawaif hai
tawaif ne kab pyar nibhaya hai…

 


 

शायरी – समझ लो हमें बेवफा सनम  

नाकाम चेहरे से गम हमसे हटाया ना जाएगा
अपनी इज्जत का मोती हमसे लुटाया ना जाएगा
तुम समझ लो भले हमें बेवफा सनम
हमसे दाग दामन पे यूं सजाया ना जाएगा…

Shayari – Samajh lo hume bewafa sanam  

Nakam chehre se gum humse hataya na jayega
Apni izzat ka moti humse lutaya na jayega
Tum samajh lo bhale hume bewafa sanam
Humse daag daaman pe yu sajaya naa jayega…

 


 

बेवफा शायरी – बेवफा मैं नहीं कोई और है  

हर तरफ एक शोर है प्यारे
बेवफा मैं नहीं कोई और है प्यारे
क्यों ढाते हो इस दिल पे सितम
तेरी दुश्मन मैं नहीं कोई और है प्यारे…

Bewafa Shayari – Bewafa me nahi koi or hai  

Har taraf ek shor hai pyare
Bewafa me nahi koi or hai pyare
Kyu dhate ho is dil pe sitam
Teri dushman me nahi koi or hai pyare…

 


 

शायरी – जमाने को अपनी बेवफाई दिखाया ना करो  

अपने हाथों से ये मुखड़ा छिपाया ना करो
इस कदर दिल पे सितम ढाया ना करो
माना कि तुम हो बेवफा
जमाने को यूं अपनी बेवफाई दिखाया ना करो…

Shayari – Zamane ko apni bewafai dikhaya na karo  

Apne hatho se ye mukhda chipaya na karo
Is kadar dil pe sitam dhaya na karo
Mana ki tum ho bewafa
Zamane ko yu apni bewafai dikhaya na karo…

 


 

शायरी – रिश्ता है बेवफाई का  

रिश्ता क्या है उनसे मेरा
बस रिश्ता है बेहयाई का
वो मेरे कोई नहीं अब से
बस रिश्ता है बेवफाई का…

Shayari – Rishta hai bewafai ka  

Rishta kya hai unse mera
Bas rishta hai behayaee ka
Wo mere koi nahi ab se
Bas rishta hai bewafai ka…

 


 

शायरी – बेवफा कहो या सितमगर  

मुझे बेवफा कहो या सितमगर
मुझे तेरी चाहत का एहसास रहता है
तू रहता है दूर निगाहों से
तेरा प्यार मेरे दिल के पास रहता है…

Shayari – Bewafa kaho ya sitamgar  

Mujhe bewafa kaho ya sitamgar
Mujhe teri chahat ka ahsaas rehta hai
Tu rehta hai door nigahon se
Tera pyar mere dil ke paas rehta hai…

 


 

शायरी – तस्वीर बेवफा की  

मुझसे तुम वफ़ा की आस रखती हो
मैं हर शाम कोठे पे बिताता हूँ
आँखों में रहती है तस्वीर बेवफा की
पीकर शराब याद उसकी भुलाता हूँ…

Shayari – Tasveer bewafa ki  

Mujhse tum wafa ki aas rakhti ho
Me har shaam kothe pe bitata hu
Aankho me rehti hai tasveer bewafa ki
Peekar sharab yaad uski bhulata hu…

 


 

बेवफा शायरी – बेवफाई का साथ  

था वादा तुम्हारा वो संगदिल
दो कदम भी साथ ना निभाया तुमने
बुझा कर दीप मोहब्बत का
बेवफाई का साथ निभाया तुमने…

Bewafa Shayari – Bewafai ka sath  

Tha vaada tumhara vo sangdil
Do kadam bhi saath na nibhaya tumne
Bujha kar deep mohabbat ka
Bewafai ka sath nibhaya tumne…

 


Bewafa Shayari in Hindi


 

bewafa shayari hindi

बेवफा शायरी – बेवफा डोली में चली है  

जश्न मना रहे हैं मोहब्बत के दुश्मन
दुनिया उनकी डोली उठाये चली है
कैसे हो वफ़ा का यकीन
वो बेवफा डोली में मुँह छिपाए चली है…

Bewafa Shayari – Bewafa doli me chali hai  

Jashn manaa rahe hain mohabbat ke dushman
Duniya unki doli uthaye chali hai
Kaise ho wafa ka yakeen
Wo bewafa doli me muh chipaaye chali hai…

 


 

शायरी – हम बेवफा कहलाए जाते हैं  

मेरा दामन दागदार है
हम बेवफा कहलाए जाते हैं
हर सितम सहकर जमाने का
बस हम कलम चलाए जाते हैं…

Shayari – Hum bewafa kehlaaye jate hain  

Mera daaman daagdaar hai
Hum bewafa kehlaaye jate hain
Har sitam sahkar jamaane ka
Bas hum kalam chalaye jate hain…

 


 

शायरी – मेरी तकदीर बेवफा  

अगर ना होती मेरी तकदीर बेवफा
तो आज हम धोकेबाज कहलाए ना जाते
तुम ना देती दर्द हमें तो
इस कदर महफिल से हम ठुकराए ना जाते…

Shayari – Meri takdeer bewafa  

Agar naa hoti meri takdeer bewafa
To aaj hum dhokebaaj kehlaaye naa jate
Tum naa deti dard hamen to
Is kadar mehfil se hum thukraaye naa jate…

 


 

शायरी – तुम्हारा नाम था बेवफा  

तुम्हारी वो डगर मैखाना थी
तुम कब से आशिकों के जाम पीने लगे
तुम्हारा तो नाम ही था सनम बेवफा
तुम कब से वफा की आहें भरने लगे…

Shayari – Tumhara naam tha bewafa  

Tumhari wo dagar maikhana thi
Tum kab se aashikon ke jaam peene lage
Tumhara to naam hi tha sanam bewafa
Tum kab se wafa ki aahen bharne lage…

 


 

शायरी – क्या मिलता है बेवफाई में  

क्या मिलता है बेवफाई में मुझे भी बताओ
बहुत सताई है ये दुनिया अब तुम न सताओ
बहुत ढूंढा है तुम्हे इस पागल दिल ने
आके मिल जाओ अब और न तड़पाओ…

Shayari – Kya milta hai bewafai me  

Kya milta hai bewafai me mujhe bhi batao
Bahut satai hai ye duniya ab tum na satao
Bahut dhoonda hai tumhe is pagal dil ne
Aake mil jao ab or naa tadpao…

 


 

बेवफा शायरी – कीमत चुकाते हैं बेवफा की  

चिराग जलते ही दिल जल उठता है हमारा
महफिल में बोली लगती है हमारी वफा की
सबकी नजर होती है हमारे बदन पे
लोग कीमत चुकाते हैं इस बेवफा की…

Bewafa Shayari – Keemat chukaate hai bewafa ki  

Chirag jalte hi dil jal uthta hai hamara
Mehfil me boli lagti hai hamari wafa ki
Sabki najar hoti hai hamare badan pe
Log keemat chukaate hai is bewafa ki…

 


 

शायरी – बेवफाई का जहर पीना पड़ेगा  

वो मौत जिंदगी से अच्छी है
जिसमें तुमसे जुदा हो कर जीना पड़ेगा
तेरा सर होगा गैरों के आगोश में
तेरी बेवफाई का जहर हमें पीना पड़ेगा…

Shayari – Bewafai ka jahar peena padega  

Wo maut jindgi se achi hai
Jisme tumse juda ho kar jeena padega
Tera sar hoga gairon ke aagosh me
Teri bewafai ka jahar hame peena padega…

 


 

शायरी – सबने की बेवफाई है  

जान देना आसान नहीं होता
किसने जान देकर प्रीत निभाई है
इस खुदगर्ज जमाने में
सबने की हमसे बेवफाई है…

Shayari – Sabne ki bewafai hai  

Jaan dena aasan nahi hota
Kisne jaan dekar preet nibhai hai
Is khudgarj jamaane me
Sabne ki humse bewafai hai…

 


 

शायरी – बेवफा की याद भुलाई नहीं जाती  

शमां दिल में चाहत की जलाई नहीं जाती
एक बेवफा की याद दिल से भुलाई नहीं जाती
कैसे हाथ थाम लू ऐ हसीना मैं तुम्हारा
मुझसे रीत बफा की अब निभाई नहीं जाती…

Shayari – Bewafa ki yaad bhulai nahi jati  

Shama dil me chahat ki jalai nahi jati
Ek bewafa ki yaad dil se bhulai nahi jati
Kaise hath thaam lu ae haseena mai tumhara
Mujhse reet bafa ki ab nibhai nahi jati…

 


 

बेवफा शायरी – तकदीर बेवफा सही  

तकदीर बेवफा सही जानम
फिर भी मुकद्दर आजमाएंगे हम
तू सुने या ना सुने मेरी
फिर भी हाल ए दिल सुनाएंगे हम…

Bewafa Shayari – Takdeer bewafa sahi  

Takdeer bewafa sahi jaanam
Fir bhi mukaddar aajmaenge hum
Tu sune ya naa sune meri
Fir bhi haal ae dil sunayenge hum…

 


Shayari on Bewafa


 

bewafa ki shayari

बेवफा शायरी – दुनिया बेवफा कहती है  

तुम खुद को पत्थर कहते हो
मैं पत्थर को पिघला दूँगी
जिसे दुनिया बेवफा कहती है
उसे भी चलन बफा का सिखला दूँगी…

Bewafa Shayari – Duniya bewafa kehti hai  

Tum khud ko patthar kehte ho
Me patthar ko pighla dungi
Jise duniya bewafa kehti hai
Use bhi chalan bafa ka sikhla dungi…

 


 

शायरी – वफा के बदले मिली बेवफाई  

हर दिल टूटा है इस जमाने में
किस्मत वालों ने नहीं मंजिल प्यार की पाई है
लाखों लोग यहाँ ऐसे हैं
जिन्हें वफा के बदले में मिली बेवफाई है…

Shayari – Wafa ke badle mili bewafai  

Har dil toota hai is jamaane me
Kismat walo ne nahi manjil pyar ki paai hai
Lakhon log yahan aise hain
Jinhe wafa ke badle me mili bewafai hai…

 


 

शायरी – देख कर तेरी बेवफाई  

इतना ऊँचा उठ गए हो तुम
आसमान भी शर्म से सर झुकाने लगा
देख कर तेरी बेवफाई आज
मेरा दिल खून के आंसू बहाने लगा…

Shayari – Dekh kar teri bewafai  

Itna uncha uth gaye ho tum
Aasman bhi sharm se sar jhukaane laga
Dekh kar teri bewafai aaj
Mera dil khoon ke aansu bahaane laga…

 


 

शायरी – बेवफा बनाने की ख्वाइश  

अच्छी कीमत मांगी है प्यार की
ये मेरे प्यार की कहीं आजमाईश तो नहीं
खुद बेवफा हो तुम ओह आशिक
मुझे बेवफा बनाने की तुम्हारी ख्वाइश तो नहीं…

Shayari – Bewafa banane ki khawaish  

Achi keemat maangi hai pyaar ki
Ye mere pyaar ki kahin aajmaish to nahi
Khud bewafa ho tum oh aashiq
Mujhe bewafa banane ki tumhari khawaish to nahi…

 


 

बेवफा शायरी – मैं हूँ बेवफा  

किस किस को दूँ मैं दिल अपना
हर शख्स मुझे प्यार करता है
दुनिया पागल है या फिर मैं हूँ बेवफा
जिसे देखो वही मुझपे मरता है…

Bewafa Shayari – Me hu bewafa  

Kis kis ko du me dil apna
Har shaks mujhe pyaar karta hai
Duniya pagal hai ya fir me hu bewafa
Jise dekho wahi mujhpe marta hai…

 


 

शायरी – सभी के दिल में है बेवफाई  

क्यों करते हैं लोग वफा
जब यहाँ पर दिल लगाने की इजाजत नहीं है
सभी के दिल में है वहशत बेवफाई
यहाँ किसी को प्यार की इजाजत नहीं है…

Shayari – Sabhi ke dil me hai bewafai  

Kyon karte hain log wafa
Jab yahan par dil lagaane ki ijajat nahi hai
Sabhi ke dil me hai vahshat bewafai
Yaha kisi ko pyar karne ki ijajat nahi hai…

 


 

शायरी – बेवफा कहकर दागदार ना करो  

जख्मी दिल पर अब वार न करो
धोकेबाज कहकर मुझे शर्मसार ना करो
उठेगी मेरी भी अर्थी तेरे जनाजे के साथ इसलिए
बेवफा कहकर चाहत को दागदार ना करो…

Shayari – Bewafa kehkar daagdaar naa karo  

Zakhmi dil par ab vaar naa karo
Dhokebaaj kehkar mujhe sharmsaar naa karo
Uthegi meri bhi arthi tere janaje ke sath isliye
Bewafa kehkar chahat ko daagdaar naa karo…

 


 

शायरी – शौक से कह लेना बेवफा  

बिखरी हुई लटें सुलझाकर तो देखो
एक बार हमसे नजरें मिलाकर तो देखो
फिर शौक से कह लेना साथी को बेवफा
एक बार मेरी बफा आजमा कर तो देखो…

Shayari – Shauk se keh lena bewafa  

Bikhri hui laten suljhakar to dekho
Ek bar humse najre milakar to dekho
Fir shauk se keh lena sathi ko bewafa
Ek bar meri bafa aajma kar to dekho…

 


 

शायरी – इनाम बेवफाई का पाया  

एक हसरत थी चाहत की
दामन बेवफाई का पाया है
ता उम्र की बफा सनम
इनाम बेवफाई का पाया है…

Shayari – Inaam bewafai ka paya  

Ek hasrat thi chahat ki
Daaman bewafai ka paaya hai
Ta umr ki wafa sanam
Inaam bewafai ka paya hai…

 


 

बेवफा शायरी – किस्सा छिपा है मेरी बेवफाई का  

जा रहे हो इस कदर मुँह मोड़कर
अभी तो मेरी मैय्यत को दफनाना बाकी है
अभी किस्सा छिपा है मेरी बेवफाई का
अभी तो तुम्हारी दास्तान बताना बाकी है…

Bewafa Shayari – Kissa chipa hai meri bewafai ka  

Jaa rahe ho is kadar muh modkar
Abhi to meri maiyyat ko dafnana baaki hai
Abhi kissa chipa hai meri bewafai ka
Abhi to tumhari dastaan batana baaki hai…

 

 


Best Bewafa Shayari


 

Best bewafa shayari

बेवफा शायरी – वो बेवफा से ही दिल लगाएगा  

जिसे रास नहीं आती वफा
वो तो बेवफा से ही दिल लगाएगा
जिसकी आदत है बस मयकशी
वो तो हर शाम पी कर लड़खड़ाएगा…

Bewafa Shayari – Wo bewafa se hi dil lagayega  

Jise raas nahi aati wafa
Wo to bewafa se hi dil lagayega
Jiski aadat hai bas maykashi
Wo to har shaam pi kar ladkhadayega…

 


 

शायरी – ना दो दुहाई वफा की  

ढक दो कफन से चेहरा मेरा
हटा कर कफन मेरे चेहरे को शर्मसार ना करो
अब ना दो दुहाई अपनी वफा की
नाम लेकर वफा का उसे दागदार ना करो…

Shayari – Naa do duhai wafa ki  

Dhak do kafan se chehra mera
Hata kar kafan mere chehre ko sharmsaar naa karo
Ab naa do duhai apni wafa ki
Naam lekar wafa ka use daagdaar naa karo…

 


 

शायरी – तेरी बेवफाई आज  

खुशी मुबारक हो मेहबूबा तुम्हें
उदासी आज मेरी पहचान बन गई
तेरी बेवफाई ओ हसीना आज
तेरे आशिक़ की पहचान बन गई…

Shayari – Teri bewafai aaj  

Khushi mubarak ho mehbooba tumhe
Udaasi aaj meri pehchaan ban gayi
Teri bewafai oh haseena aaj
Tere aashiq ki pehchaan ban gayi…

 


 

शायरी – कैसे ना करे यकीन बेवफाई का  

कैसे ना करे यकीन तेरी बेवफाई का
जब तेरे दर पे सारा बाजार लगता है
बदनाम होती है मेरे प्यार की वफा
जब सरे बाजार तेरे प्यार का व्यापार होता है…

Shayari – Kaise naa kare yakeen bewafai ka  

Kaise naa kare yakeen teri bewafai ka
Jab tere dar pe saara bajaar lagta hai
Badnaam hoti hai mere pyaar ki wafa
Jab sare bajaar tere pyaar ka vyapar hota hai…

 


 

बेवफा शायरी – बेवफा को भी वफा सीखा दूँगी  

हर मर्ज का इलाज है मेरे पास
तेरे दिल पे मैं मलहम लगा दूँगी
तू भूल चुका है चलन वफ़ा का
मैं बेवफा को भी वफा सीखा दूँगी…

Bewafa Shayari – Bewafa ko bhi wafa sikha dungi  

Har marj ka ilaaj hai mere paas
Tere dil pe me malham laga dungi
Tu bhool chuka hai chalan wafa ka
Me bewafa ko bhi wafa sikha dungi…

 


 

शायरी – पहले की बेवफाई मुझसे  

बिना चिराग के रौशनी नहीं होती
तुम जालाना चाहती हो शमां महफिल में
पहले की तुमने बेवफाई मुझसे
अब रुस्वा करना चाहती हो महफिल में…

Shayari – Pehle ki bewafai mujhse  

Bina chirag ke roshni nahi hoti
Tum jalaana chahti ho shaman mehfil me
Pehle ki tumne bewafai mujhse
Ab ruswa karna chahti ho mehfil me…

 


 

शायरी – आज बेवफा कहलाई जाती हूँ  

एक छोटी सी खता के बदले में
आज बेवफा कहलाई जाती हूँ
दुआ करती हूँ तेरी खुशी की
आज खुद की नजरों में गिर जाती हूँ…

Shayari – Aaj bewafa kehlai jaati hoon  

Ek choti si khata ke badle me
Aaj bewafa kehlai jaati hoon
Dua karti hu teri khushi ki
Aaj khud ki najre me gir jati hoon…

 


 

शायरी – दुनिया कहती है मुझे बेवफा  

ना थी कोई आस ना थी कोई उम्मीद
एक रोज आएगा आपका भी पैगाम ऐ वफा
आपका मिला पैगाम सर आँखों पे
मगर दुनिया कहती है मुझे सनम बेवफा…

Shayari – Duniya kehti hai mujhe bewafa  

Na thi koi aas na thi koi ummeed
Ek roj aayega aapka bhi paigam ae wafa
Aapka mila paigam sar aankho pe
Magar duniya kehti hai mujhe sanam bewafa…

 


 

शायरी – बेवफाई के लिए मजबूर हो गए  

तेरी निगाहों से जब हम दूर हो गए
बेवफाई करने के लिए मजबूर हो गए
एक तू ना भुला पाई मेरी मोहब्बत
हम अपनी नजर से गिरने के लिए मजबूर हो गए…

Shayari – Bewafai ke liye majboor ho gaye  

Teri nigaho se jab hum door ho gaye
Bewafai karne ke liye majboor ho gaye
Ek tu na bhula pai meri mohabbat
Hum apni najar se girne ke liye majboor ho gaye…

 


 

बेवफा शायरी – वो तो बस बेवफा है  

समझा था जिसे हमने हमसफर
उसने दी बस प्यार में दगा है
फितरत है शायद ये उसकी
वो तो बस एक बेवफा है…

Bewafa Shayari – Wo to bas bewafa hai  

Samjha tha jise humne humsafar
Usne di bas pyar me daga hai
Fitrat hai shayad ye uski
Wo to bas ek bewafa hai …

 


Bewafa Wali Shayari


 

new bewafa shayari

बेवफा शायरी – खुद को बेवफा कहलाउंगी  

हर इल्जाम सहा है प्यार में
आज ये जिल्लत भी उठाउंगी
तेरी खुशी के लिए मेरी जान
मैं खुद को बेवफा कहलाउंगी…

Bewafa Shayari – Khud ko bewafa kehlaungi  

Har iljaam saha hai pyaar me
Aaj ye jillat bhi uthaungi
Teri khushi ke liye meri jaan
Me khud ko bewafa kehlaungi…

 


 

शायरी – तुम होंगे भले ही बेवफा  

दूर रह कर भी तुम मेरे करीब रहते हो
मुझे दिल से भुलाने की कोशिश ना करो
तुम होंगे सनम भले ही बेवफा
मगर मेरी बफा को आजमाने की कोशिश ना करो…

Shayari – Tum honge bhale hi bewafa  

Door rah kar bhi tum mere kareeb rehti ho
Mujhe dil se bhulne ki koshish na karo
Tum honge sanam bhale hi bewafa
Magar meri wafa ko aajmaane ki koshish na karo…

 


 

शायरी – मुझे बेवफा की तलाश है  

बफा की किसे जरुरत है
मुझे बेवफा की तलाश है
तू भी प्यासा है मोहब्बत का
मुझे भी तेरी चाहत की प्यास है…

Shayari – Mujhe bewafa ki talaash hai  

Bafa ki kise jarurat hai
Mujhe bewafa ki talaash hai
Tu bhi pyasa hai mohabbat ka
Mujhe bhi teri chahat ki pyas hai…

 


 

शायरी – बेवफा मेरे साथ अच्छा बफा निभाया  

रोती है आज मुझपर मेरी बदनसीबी
बेवफा तूने मेरे साथ अच्छा बफा निभाया
जिसको मैंने समझा था अपना
वो भी मुझसे निकला पराया…

Shayari – Bewafa mere sath accha wafa nibhaya  

Roti hai aaj mujhpar meri badnaseebi
Bewafa toone mere sath accha wafa nibhaya
Jisko maine samjha tha apna
Wo bhi mujhse nikla paraya…

 


 

बेवफा शायरी – हद होती है बेवफाई की  

हद होती है सनम बेवफाई की
तूने हर सितम की इन्तेहाँ तोड़ दी
कब तक सहते हम जालिम तेरे दर्द
परेशान हो कर हमने दुनिया छोड़ दी…

Bewafa Shayari – Had hoti hai bewafai ki  

Had hoti hai sanam bewafai ki
Tu ne har sitam ki intehaan tod di
Kab tak sehte hum jaalim tere dard
Pareshaan ho kar humne duniya chod di…

 


 

शायरी – जिसकी नजर हो बेवफा  

जिसकी नजर हो बेवफा सनम
उसके दिल में मोहब्बत नहीं होती
जिसमें गैरत ही ना हो सनम
उसे किसी की चाहत नहीं होती…

Shayari – Jiski najar ho bewafa  

Jiski najar ho bewafa sanam
Uske dil me mohabbat nahi hoti
Jisme gairat hi na ho sanam
Use kisi ki chahat nahi hoti…

 


 

शायरी – मजबूरियों में बेवफाई देखने वाले  

मेरे होंठों पे फूलों की खुशी तो तुमने देखी होगी
मगर दिल में जो बसे हैं वो वीराने नहीं देखे
मेरी मजबूरियों में बेवफाई देखने वाले
छलकती इन आँखों से तूने आंसू नहीं देखे…

Shayari – Majbooriyon me bewafai dekhne wale  

Mere hothon pe fulon ki khushi to tumne dekhi hogi
Magar dil me jo base hain wo veerane nahi dekhe
Meri majbooriyon me bewafai dekhne wale
Chalakti in aankho se toone aansu nahi dekhe…

 


 

शायरी – मुझे ही बेवफा बताया जाता है  

वफा करने के बाद भी
मुझे ही बेवफा बताया जाता है
लेकर नाम वफा का
फिर सूली पे लटकाया जाता है…

Shayari – Mujhe hi bewafa bataya jaata hai  

Wafa karne ke baad bhi
Mujhe hi bewafa bataya jaata hai
Lekar naam wafa ka
Fir sooli pe latkaya jaata hai…

 


 

शायरी – तुम समझते हो मुझे बेवफा  

थी मजबूर साथ निभा ना पाई मैं
इसलिए माफ़ी मांगने आई हूँ
तुम समझते हो सनम मुझे बेवफा
वास्तविक हकीकत बताने आई हूँ…

Shayari – Tum samajhte ho mujhe bewafa  

Thi majboor sath nibha na pai me
Isliye maafi maangne aai hu
Tum samajhte ho sanam mujhe bewafa
Vastavik hakikat batane aai hu…

 


 

बेवफा शायरी – कहती थी दुनिया हमको बेवफा  

जाम पीकर भी ना खोते थे होश कभी
आज बिन पिए भी हम लड़खड़ाने लगे हैं
पहले कहती थी ये दुनिया हमको बेवफा
आज वो भी इल्जाम बेवफाई का लगाने लगे हैं…

Bewafa Shayari – Kehti thi duniya humko bewafa  

Jaam peekar bhi naa khote the hosh kabhi
Aaj bin piye bhi hum ladkhadane lage hain
Pehle kehti thi ye duniya humko bewafa
Aaj wo bhi iljaam bewafai ka lagaane lage hain…

 

यह भी पढ़िए: गम से भरी हुई Sad शायरियां

 

तो दोस्तों आपको ये शायरियाँ कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट (Bewafa Shayari) को शेयर करें और ऐसे ही शायरियाँ पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here