खुदा ने इस जहां में एक से एक खूबसूरत इंसान बनाये हैं। वैसे कहा जाता है की खूबसूरती देखने वालो की आँखों में होती है। बता दें खूबसूरती सिर्फ husn देखकर ही बयान नहीं की जाती बल्कि सामने वाले का दिल देख कर भी बयान कर दी जाती है। आज हम आपके लिए खूबसूरती और हुस्न पर कई Beautiful shayari ले कर आये हैं जो यकीनन आपको पसंद आएँगी।

 


Best Husn Shayari


 

husn shayari

हुस्न शायरी – हुस्न को देखकर उनके  

हुस्न को देखकर उनके
अजीब नशा सा छा गया
बिन पिए ही महफिल में कोई
होश खोया कोई लड़खड़ा गया…

Husn Shayari – Husn ko dekhkar unke  

Husn ko dekhkar unke
Ajeeb nasha sa cha gaya
Bin piye hi mehfil me koi
Hosh khoya koi ladkhada gaya…

 


 

शायरी – हुस्न को बेनकाब कर दो  

रुख से पर्दा हटा लो जरा
हुस्न को बेनकाब कर दो
नजर से नजर मिला कर
दिल को बेकरार कर दो…

Shayari – Husn ko benakaab kar do  

Rukh se parda hata lo zara
Husn ko benakaab kar do
Nazar se nazar mila kar
Dil ko bekaraar kar do…

 


 

शायरी – हुस्न चीज ही ऐसी है  

खुदा ने हुस्न चीज ही ऐसी बनाई है
तबियत मचल जाती है बड़े-बड़ों की
एक बार जो मुस्कुराकर देख ले हसीना
जान निकल जाती है खड़े-खड़ों की…

Shayari – Husn cheez hi aisi hai  

Khuda ne husn cheez hi aisi banai hai
Tabiyat machal jati hai bade bado ki
Ek baar jo muskurakar dekh le haseena
Jaan nikal jati hai khade khado ki…

 


 

शायरी – खुदा हुस्न तो दिया उन्हें  

ऐ खुदा हुस्न तो दिया उन्हें
जरा शर्मो हया भी दी होती
आशिकों के दिल तोड़ने पर
कोई वाजिब सजा भी दी होती…

Shayari – Khuda husn to diya unhe  

Ae khuda husn to diya unhe
Zara sharmo haya bhi di hoti
Aashiko ke dil todne par
Koi wajib saza bhi di hoti…

 


 

हुस्न शायरी – हुस्न का जलवा दिखाकर  

हुस्न का जलवा दिखाकर
अब क्यों नजरे चुरा रही हो
दिल लगा के हटा लिया
अब क्यों जुल्म ढा रही हो…

Husn Shayari – Husn ka jalwa dikhakar  

Husn ka jalwa dikhakar
Ab kyu nazre chura rahi ho
Dil laga ke hata liya
Ab kyu zulm dha rahi ho…

 


 

शायरी – हुस्न का बिखरा है शबाब  

हुस्न का बिखरा है यहाँ हर तरफ शबाब
बंद करता हूँ नजर दिल हो ना जाए खराब
खुदा भी ढूंढ़ता है तुझे आसमान में ऐ शबाब
इस जहाना में तेरा शायद ही हो जबाब…

Shayari – Husn ka bikhra hai shabaab  

Husn ka bikhra hai yaha har taraf shabaab
Band karta hu nazar dil ho na jaye kharab
Khuda bhi dhondta hai tujhe aasman me ae shabab
Is jahaan me tera shayad hi ho jawaab…

 


 

शायरी – जवानी और हुस्न आये हैं सैलाब पर  

रंगरेलियां मानाने आये हैं
आज सभी दीवाने तालाब पर
कमसीन हसीनाओं की भी कमी नहीं
आज जवानी और हुस्न आये हैं सैलाब पर…

Shayari – Jawani or husn aaye hai sailaab par  

Rangreliya manaane aaye hai
Aaj sabhi deewane talaab par
Kumseen haseenao ki bhi kami nahi
Aaj jawani or husn aaye hai sailaab par…

 


 

शायरी – हुस्न की परियों का जाम 

यूं ही गिर रहा है छलक छलक कर
हुस्न की परियों जाम तुम्हारी जवानी का
पिलाकर एक प्याली अपनी नजरों से
क्यों नहीं उड़ा देते होश अपने दीवाने का…

Shayari – Husn ki pariyo ka jaam  

Yu hi gir raha hai chalak chalak kar
Husn ki pariyo jaam tumhari jawani ka
Pilakar ek pyali apni nazro se
Kyu nahi uda dete hosh apne deewane ka…

 


 

शायरी – हुस्न को देखा तो देखते रह गए  

तेरे हुस्न को देखा तो देखते रह गए
कई सारे ख्वाब आँखों में कह गए
ख़ूबसूरती तेरी सैलाब बन कर टूटी मुझपे
इस सैलाब में आज हम भी बह गए…

Shayari – Husn ko dekha to dekhte reh gaye  

Tere husn ko dekha to dekhte reh gaye
Kai saare khwaab aankho me keh gaye
Khoobsurti teri sailaab ban kar tooti mujhpe
Is sailaab me aaj hum bhi beh gaye…

 


 

शायरी – गजब का हुस्न है  

बाजार में सजधज के आई है
वो गोरी आज महक रही है
गजब का हुस्न है उसका
पर जवानी उसकी बहक रही है…

Shayari – Gazab ka husn hai  

Bazaar me sajdhaj ke aai hai
Wo gori aaj mahak rahi hai
Gazab ka husn hai uska
Par jawani uski bahak rahi hai…

 


Latest Beautiful Shayari


 

beautiful shayari

ब्यूटीफुल शायरी – हुस्न की हसीन वादियों में  

हुस्न की हसीन वादियों में
मौजूद है एक खौफनाक खाई भी
इस जहान में सिर्फ प्यार ही नहीं
बल्कि शामिल है बेवफाई भी…

Beautiful Shayari – Husn ki haseen wadiyo me  

Husn ki haseen wadiyo me
Mojud hai ek khaufnak khai bhi
Is zahaan me sirf pyar hi nahi
Balki shamil hai bewafai bhi…

 


 

शायरी – देखा नहीं हुस्न तेरे जैसा  

बहक गए हम तेरे महखाने में
देखा नहीं हुस्न तेरे जैसा जमाने में
हटाओ पर्दा दिखाओ चाँद का टुकड़ा
हल चल मच जाए दिल के वीराने में…

Shayari – Dekha nahi husn tere jaisa  

Bahak gaye hum tere mehkhane me
Dekha nahi husn tere jaisa zamane me
Hatao parda dikhao chand ka tukda
Hal chal mach jaye dil ke veerane me…

 


 

शायरी – तुम्हारा हुस्न नहीं प्यार चाहिए  

मुझे तुम्हारा हुस्न नहीं प्यार चाहिए
खूबसूरती नहीं दिल उदार चाहिए
दिल में चाहत है तेरी तेरे जिस्म की नहीं
मुझे प्यार का लम्बा इंतजार चाहिए…

Shayari – Tumhara husn nahi pyar chahiye  

Mujhe tumhara husn nahi pyar chahiye
Khoobsurti nahi dil udaar chahiye
Dil me chahat hai teri tere jism ki nahi
Mujhe pyar ka lamba intezaar chahiye…

 


 

शायरी – हुस्न में तुम्हारे गजब का निखार है  

कमसीन हसीना हो तुम
हुस्न में तुम्हारे गजब का निखार है
एक बार देख ले तुम्हे अगर तो
फरिश्ते को भी चढ़ जाता बुखार है…

Shayari – Husn me tumhare gazab ka nikhar hai  

Kumseen haseena ho tum
Husn me tumhare gazab ka nikhar hai
Ek bar dekh le tumhe agar to
Farishte ko bhi chad jata bukhar hai…

 


 

ब्यूटीफुल शायरी – तेरा हुस्न तेरी जवानी  

मेरे इश्क की मंजिल
तेरा हुस्न तेरी जवानी
तेरी मोहब्बत के नशे में ही
अब मुझे जिंदगी है बितानी…

Beautiful Shayari – Tera husn teri jawani  

Mere ishq ki manzil
Tera husn teri jawani
Teri mohabbat ke nashe me hi
Ab mujhe zindgi hai bitani…

 


 

शायरी – हुस्न की नजाकत को संभाल के रख  

अपने हुस्न की नजाकत को संभाल के रख
अपने सीने पे चोली को संभाल के रख
किस उम्मीद से आई है मेरे पास
दिल धड़क रहा है नैनों को संभाल के रख…

Shayari – Husn ki nazakat ko sambhal ke rakh  

Apne husn ki nazakat ko sambhal ke rakh
Apne seene pe choli ko sambhal ke rakh
Kis ummeed se aai hai mere paas
Dil dhadak raha hai naino ko sambhal ke rakh…

 


 

शायरी – हुस्न वाली नजाकत लिए  

चांदनी रात जब ठंडी हो
तो सुहानी रात कहलाती है
हुस्न वाली नजाकत लिए
ना जाने किधर जाती है…

Shayari – Husn wali nazakat liye  

Chandni rat jab thandi ho
To suhani rat kehlati hai
Husn wali nazakat liye
Naa jane kidhar jaati hai…

 


 

शायरी – वे अदब ऐ हुस्न का क्या कहना  

तेरे गुलाबी होंठ कजरारे नैना का क्या कहना
गोरी तेरे वे अदब ऐ हुस्न का क्या कहना
आपकी इन मदभरी अदाओं का क्या कहना
खुशी में हिलते हैं जो उन लबों का क्या कहना…

Shayari – Ve adab ae husn ka kya kehna  

Tere gulabi honth kajraare naina ka kya kehna
Gori tere ve adab ae husn ka kya kehna
Aapki in madbhari adaon ka kya kehna
Khushi me hilte hai jo un labo ka kya kehna…

 


 

शायरी – हुस्न वाली नाजुक है तू  

तेरे गोरे गाल पर काला एक तिल है
चौड़े फैले भरे सीने के भीतर दिल है
हुस्न वाली कमसीन नाजुक है तू
तू कयामत है तू ही मेरी मंजिल है…

Shayari – Husn wali najuk hai tu  

Tere gore gaal par kaala ek til hai
Chaude faile bhare seene ke bheetar dil hai
Husn wali kumseen najuk hai tu
Tu kayamat hai tu hi meri manzil hai…

 


 

शायरी – हुस्न के बाजार में  

हुस्न के बाजार में हर तरफ
मिलेगी घुंघरुओं की झंकार तुम्हें
तुम ढूंढ़ने निकले हो सच्चा प्यार मगर
यहाँ मिलेगा प्यार का व्यापार तुम्हें…

Shayari – Husn ke bazar me  

Husn ke bazar me har taraf
Milegi ghungruo ki jhankar tumhe
Tum dhoondne nikle ho saccha pyar magar
Yaha milega pyar ka vyapaar tumhe…

 


Shayari on Beauty


 

shayari on beauty

ब्यूटी – मरता हूँ तेरे हुस्न पे  

नाम बदनाम हमारा है
तू अमानत किसी और की है
मैं मरता हूँ तेरे हुस्न पे मगर
तू मोहब्बत किसी और की है…

Shayari on Beauty – Marta hu tere husn pe  

Naam badnaam humara hai
Tu amaanat kisi or ki hai
Me marta hu tere husn pe magar
Tu mohabbat kisi or ki hai…

 


 

शायरी – हुस्न आतिश कब संभाली जायेगी  

मेरा दिल बेचैन है बहुत
हुस्न आतिश कब संभाली जायेगी
मुस्कुराकर कह गया वो बेरहम
चुप रहो तब देखी भाली जाएगी…

Shayari – Husn aatish kab sambhali jayegi  

Mera dil bechain hai bahut
Husn aatish kab sambhali jayegi
Muskurakar keh gaya wo bereham
Chup raho tab dekhi bhali jayegi…

 


 

शायरी – क्यों लुटाई हुस्न मुझपे  

क्यों मारी तीर मुझपे हाय मेरी जान
क्यों लुटाई हुस्न मुझपे हाय मेरी जान
अब मैं घायल पड़ा तड़प रहा हूँ इधर
क्यों इतना तडपाई मुझको हाय मेरी जान…

Shayari – Kyu lutai husn mujhpe  

Kyu mari teer mujhpe hay meri jaan
Kyu lutai husn mujhpe hay meri jaan
Ab me ghayal pada tadap raha hu idhar
Kyu itna tadpai mujhko hay meri jaan…

 


 

शायरी – तेरे हुस्न की अदा लाजवाब लगती है  

तेरी चोली इतनी कसी बेहिसाब लगती है
आँखे मिलने पर नजरे बेताब लगती है
धधक कर रह गया दिल ये आज मेरा
मुझे तेरे हुस्न की हर अदा लाजवाब लगती है…

Shayari – Tere husn ki ada lajawaab lagti hai  

Teri choli itni kasi behisab lagti hai
Aankhe milne par nazre betaab lagti hai
Dhadhak kar reh gaya dil ye aaj mera
Mujhe tere husn ki har ada lajawaab lagti hai…

 


 

ब्यूटी शायरी – हुस्न जब जुदा हो जाएगा  

इश्क से हुस्न जब जुदा हो जाएगा
हादसों का खुद एक सिलसिला हो जाएगा
गिला हमें होगा तेरी बेवफाई का
जो भी रहेगा तेरे शहर में बेवफा हो जाएगा…

Shayari on Beauty – Husn jab juda ho jayega  

Ishq se husn jab juda ho jayega
Hadso ka khud ek silsila ho jayega
Gila hame hoga teri bewafai ka
Jo bhi rahega tere shahar me bewafa ho jayega…

 


 

शायरी – हुस्न की आग में परवाना जलेगा  

इस तरह आँख मिचौली से अब काम नहीं चलेगा
तेरी राहों के हर मोड़ पर खड़ा यह दीवाना मिलेगा
जब शमां का रूप भूल से ले लोगी तुम कभी
तेरे हुस्न की आग में ये परवाना जलेगा…

Shayari – Husn ki aag me parwaana jalega  

Is taraf aankh micholi se ab kaam nahi chalega
Teri raho ke har mod par khada yah deewana milega
Jab shama ka roop bhool se le logi tum kabhi
Tere husn ki aag me ye parwaana jalega…

 


 

शायरी – माशूक का हुस्न  

दिल फरेबी है बहुत
माशूक का हुस्न चाहता है
मदमस्त जवानी को दिल मेरा
जी भर चूमना चाहता है…

Shayari – Mashook ka husn  

Dil farebi hai bahut
Mashook ka husn chahta hai
Madmast jawani ko dil mera
Ji bhar choomna chahta hai…

 


 

शायरी – बेइंतहां हुस्न की मालकिन  

बहुत अच्छा लगता है जब तुम मुस्कुराती हो
खूबसूरती बढ़ जाती है जब शर्माती हो
बेइंतहां हुस्न की मालकिन हो तुम
गजब ही लगती हो जब तुम घबराती हो…

Shayari – Beintehan husn ki maalkin  

Bahut accha lagta hai jab tum muskurati ho
Khoobsurti bad jaati hai jab sharmati ho
Beintehan husn ki maalkin ho tum
Gazab hi lagti ho jab tum ghabrati ho…

 


 

शायरी – हुस्न का क्या है  

हुस्न का क्या है यह तो फूल है
देखना मुरझा जाएगा एक दिन
इश्क करना है अगर तो दिल देखो
फिर खुशी से बीत जाएगा हर दिन…

Shayari – Husn ka kya hai  

Husn ka kya hai yah to phool hai
Dekhna murjha jayega ek din
Ishq karna hai agar to dil dekho
Fir khushi se beet jayega har din…

 


 

शायरी – हुस्न वाले बातें करते हैं वफ़ा की  

लोग बातें करते हैं प्यार वफ़ा की
हमने लाखों दीवानों के अंजाम देखे हैं
हुस्न वाले बातें करते हैं वफ़ा की
हमने प्यार में होते हुए कत्ल ऐ आम देखे हैं…

Shayari – Husn wale bate karte hai wafa ki  

Log baate karte hai pyar wafa ki
Humne lakho deewano ke anjam dekhe hai
Husn wale bate karte hai wafa ki
Humne pyar me hote huye katl ae aam dekhe hai…

 


 

तो दोस्तों आपको ये Beautiful shayari कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट (Husn shayari) को शेयर करें और ऐसे ही शायरियाँ पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

1 COMMENT

  1. आप ने बहुत ही अच्छा शायरी लिखा हैं और आप के लिखने का अंदाज़ भी बहुत ही अच्छा है good and nice job

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here