corona virus in hindi

About Corona Virus in Hindi: कोरोना वायरस या Covid 19 (यानी कि Corona Virus Disease 2019) यह विश्व के समस्त देशों पर आज सबसे बड़ा खतरा बन के मंडरा रहा है। चीन की एक जगह से उत्पन्न हुआ ये वायरस अब तेजी से पूरी दुनिया में फैलता जा रहा है। यह ना ही कोई हथियार है और ना ही कोई परमाणु बम परन्तु फिर भी कई देशों के सैकड़ों नागरिकों की जान ले चुका है। इस वायरस को महामारी घोषित करते हुए विश्व में कई जगह इमरजेंसी लागू कर दी गई है। दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे इस वायरस के संक्रमण से अब कई लोगों में डर का माहोल बन गया है।

अगर आप भी कोरोना वायरस का नाम सुन कर घबरा रहे हैं तो आपको बता दें की घबराना समस्या का समाधान नहीं है, बल्कि इसकी पूरी जानकारी ले कर इसके बचने के उपायों को अपनाना समझदारी है। इसी कोशिश के साथ आज हम आपको कोरोना वायरस की सम्पूर्ण जानकारी और इससे बचने के उपाय बताने जा रहे हैं। तो बस पड़ते रहिए ये पोस्ट।

 

नोट : दोस्तों इस पोस्ट में कोरोना वायरस से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी को साझा किया गया है। अतः आप इसे धैर्यपूर्वक पूरा पढ़ें।

 

Page Contents

कोरोना वायरस क्या है | What is Corona Virus in Hindi

कोरोना वायरस एक खतरनाक वायरस है इसका सम्बन्ध “कोरोनावाइरीडी” (Coronaviridae) परिवार से है। कोरोना वायरस शब्द कि उत्पति लेटिन भाषा से हुई है। अस्थाई रूप से इस वायरस को ‘2019 नोवेल कोरोना वायरस‘ या ‘COVID 19‘ नाम दिया गया है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस की सतह पर क्राउन (crown) जैसे उभार होते हैं। माइक्रोस्कोप में देखने पर यह सौर कोरोना जैसे दिखाई देते हैं इसलिए इस वायरस को कोरोना वायरस कहा जाता है।

यह एक RNA (Ribonucleic acid) वायरस है। RNA का अर्थ है कि यह वायरस शरीर के अंदर जाकर कोशिकाओं में टूट जाता है और इन्हीं कोशिकाओं के माध्यम से स्वतः ही पुनः जीवित हो जाता है। कोरोना वायरस एक संक्रमित रोग है जो कि एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में विषाणु अथवा बैक्ट्रिया के द्वारा मानव शरीर में प्रवेश करता है। अतः कोरोना वायरस “वायरसों” का एक समूह है जो कि जानवरों से इंसान में प्रवेश कर गया है। यह वायरस मानव और जानवरों द्वारा तेजी से फ़ैल रहा है एवं पूरा विश्व इस वायरस की चुनौती से लड़ रहा है। यही वजह है की विश्व स्वास्थ संगठन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है।

 

कोरोना वायरस का इतिहास | History of Corona Virus in Hindi

विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) के मुताबिक 2002 में यह वायरस पहली बार संज्ञान में आया था। 2002 में यह वायरस लगभग 37 देशों में फैला था। कोरोना विषाणु के जेनेटिक कोड के विश्लेषण से ज्ञात हुआ है कि मनुष्य को संक्रमित करने की क्षमता रखने वाला यह कोरोना वायरस सार्स (SARS) का निकट सम्बन्धी है। बहुत कम लोग ही यह जानते हैं कि सार्स (SARS) कोरोना वायरस (Severe Acute Respiratory Syndrome) ने 2002 से 2003 तक लगभग 8,098 लोगों को संक्रमित किया था एवं इस वायरस से संक्रमित होकर 774 लोंगो की मृत्यु भी हुई थी। चीन और हांगकांग में इस सार्स (SARS) वायरस का प्रकोप सबसे ज्यादा रहा था।

इसके बाद कोरोना परिवार से सम्बंधित मार्स (MERS) वायरस (Middle East Respiratory Syndrome) वर्ष 2012-2013 में संज्ञान में आया और इस वायरस ने भी सैंकड़ो लोगों की जान ली थी। परन्तु इन दोनों वायरस से सबसे ज्यादा खतरनाक अब नॉवेल कोरोना वायरस है जो की वर्ष 2019 से फैलना शुरू हुआ है।

 

कहाँ से आया नॉवेल कोरोना वायरस (Covid 19) | Where did Novel Coronavirus come from

novel corona virus

नॉवेल कोरोना वायरस (Covid 19) की अगर बात करें तो यह वायरस चीन के वूहान शहर से फैलना शुरू हुआ। वैज्ञानिकों का मनाना है कि यह वायरस चीन के वूहान जिले के समुद्री जीवों को बेचने वाले बाज़ार से आया है। इस बाजार में जंगली जीवों का अवैध व्यापर किया जाता है और बाजार में मिलने वाले कई जंगली जीवों जैसे कि सांप, वैक्युन आदि का इस्तेमाल खाध पदार्थो के रूप में चीन करता है। आपको बता दें कि चीन जंगली जीवों का सेवन करने वाला सबसे बड़ा उपभोक्ता है। चीन के रेस्टोरेंट और होटलों में चमकादड़ का सूप परोसा जाता है जो कि कई चीनी नागरिकों का पसंदीदा सूप है। अब कुछ अज्ञात सूत्रों के अनुसार चीनी अकादमी ऑफ साइंसेज द्वारा किये गए शोध से पता चला है कि कोरोना वायरस की उत्पति भी चमगादड़ और सांप दोनों से हो सकती है।

बता दें की कोरोना वायरस के पहले मरीज ने भी वूहान के इसी मार्किट से sea food ले कर खाया था। अतः सम्भावना है की कोरोना वायरस भी इन्ही जीवों से होते हुए मनुष्यों में प्रवेश कर गया है। विश्व स्वास्थ संगठन के अनुसार चीन से आये SARS और MERS वायरस भी जानवरों से होते हुए ही मानव में आये थे।

 

कोरोना वायरस कितने प्रकार का होता है | Types of Corona Virus in Hindi

जैसा की ऊपर बताया कोरोना वायरस के और भी प्रकार होते हैं तो चलिए देखते हैं की यह वायरस कितने प्रकार का होता है। आपको यह जानकार हैरानी होगी कि कोरोना वायरस के मुख्यतः सात प्रकार होते हैं।

1. 229E अल्फा कोरोना वायरस

2. NL63 अल्फा कोरोना वायरस

3.OC43 बीटा कोरोना वायरस

4. HKU1 बीटा कोरोना वायरस

5. MERS-CoV (Middle East Respiratory Syndrome, or MERS कोरोना वायरस)

6. SARS-CoV (Severe Acute Respiratory Syndrome, or SARS कोरोना वायरस)

7. SARS-CoV-2 (यह कहलाता है Novel Coronavirus या COVID-19) ; यही वायरस इस समय दुनिया भर में फैल रहा है।

 

कोरोना वायरस कैसे फैलता है | How Corona Virus spreads

कोरोना वायरस में अत्यंत सूक्ष्म कण पाए जाते हैं जो कि हवा के माध्यम से 6 फिट की दूरी तय कर सकते हैं। किसी भी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के खांसने, छींकने से यह वायरस स्वस्थ व्यक्ति तक आसानी से पहुंच जाता है। स्पष्ट है कि संक्रमित रोगी के सम्पर्क में आने से कोरोना वायरस फैलता है।

इसके आलावा यदि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति ने सतह या वस्तु का इस्तेमाल किया है तो उस सतह और वास्तु के द्वारा भी कोरोना वायरस फैलता है।

 

किस सतह पर कितनी देर जीवित रहता है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस के जीवाणु को लेकर अब तक कोई पुख्ता प्रमाण मौजूद नहीं हैं परन्तु दुनिया भर में हुए शोध के मुताबिक कोरोना वायरस के जीवाणु को लेकर विभिन्न डाटा नीचे बताये गए हैं।

प्यास्टिक और स्टील पर कोरोना वायरस 72 घंटे तक जीवित रहता है।

हाथों पर 10 मिनिट तक कोरोना वायरस जीवित रहता है।

अख़बार, कॉर्ड बोर्ड और करेंसी पर कोरोना वायरस 24 घंटे तक जीवित रहता है।

हवा में कोरोना वायरस 30 मिनिट तक जीवित रहता है।

पीतल के बर्तन में कोरोना वायरस 4 घंटे तक जीवित रहता है।

स्मार्ट फोन, लेपटॉप, कंप्यूटर और टीवी स्क्रीन पर कोरोना वायरस 72 घंटे तक जीवित रहता है।

बस और ट्रेनों में लगे स्टील के हैंडलों में कोरोना वायरस 72 घंटे तक जीवित रहता है।

 

कोरोना वायरस के प्रारंभिक लक्षण | Early Symptoms of Corona Virus

corona symptoms

कोरोना वायरस के लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते होते हैं। तो आइये एक-एक करके कोरोना वायरस के लक्षणों के बारें में जानतें हैं।

1. कोरोना वायरस सर्वप्रथम मानव शरीर के गले की कोशिकाओं को संक्रमित करता है।

2. गले की कोशिकाओं के द्वारा यह वायरस फेफड़ों और गले की नलियों को संक्रमित करता है। फिर फेफड़ों की कोशिकाओं में जाकर यह टूट जाता है एवं यह अनेक कोरोना वायरस को जीवित करता है जो कि कोरोना फैक्ट्रिया कहलाती हैं। अतः फेफड़ों के माध्यम से कोरोना वायरस अपनी संख्या को बढ़ाता है।

3. इसके पश्चात सुखी खांसी, सांस लेने में प्रॉब्लम और बुखार आता है, यही कोरोना के मरीज के प्रारंभिक लक्षण होते हैं।

 

कोरोना वायरस के मुख्या लक्षण | Corona Virus Symptoms in Hindi

1. सर्दी, जुकाम, नाक बहना।

2. गले में खराश का होना।

3. बेबजह थकान का महसूस होना।

4. बार-बार छींके आना।

5. सीने में दर्द महसूस होना।

6. सर में दर्द होना।

7. ब्रोंकाइटिस।

8. इंक्यूबेशन की अज्ञात अवधि।

Note : आपको बता दें कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को सबसे पहले बुखारा आता है उसके बाद सुखी खांसी होती है। लगभग एक हफ्ते बाद संक्रमित व्यक्ति को साँस लेने में दिक्क्त होती है। कोरोना के गंभीर संक्रमण में निमोनिया होना, किडनी का फेल होना शामिल है जिसके चलते मनुष्य की मृत्यु हो सकती है।

 

कोरोना वायरस फैलने के चरण | Phases of Corona Virus Outbreak

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस धीरे-धीरे चरणों में फैलता है। आई.सी.एम.आर (Indian Council of Medical Research) की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस फैलने के चार चरण हैं। पहले और दूसरे चरण में कोरोना वायरस धीमी गति से प्रहार करता है किन्तु तीसरे और चौथे चरण में यह अति तीव्र गति से प्रहार करता है। पहले और दूसरे चरण में कोरोना वायरस की रोकथाम की जा सकती है। किन्तु तीसरे और चौथे चरण में इसकी रोकथाम कर पाना अत्यंत मुश्किल है। चौथ चरण में कोरोना वायरस महामारी का रूप ले लेता है।

 

कोरोना वायरस फैलने के चार चरण –

पहला चरण-

पहले चरण में विदेशों से आये संक्रमित लोगों को रखा गया है। अतः इस चरण में वायरस को फैलने से रोका जा सकता है।

दूसरा चरण-

दूसरे चरण में उन लोंगो को रखा गया है जो किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आकर संक्रमित हुए हैं। जैसे कि संक्रमित व्यक्ति के परिजन, दोस्त, ट्रैन, टैक्सी, बस इत्यादि।

तीसरा चरण-

तीसरे चरण में “कम्युनिटी ट्रांसमिशन” आता है। यह उस समय होता है जब ना तो सवस्थ व्यक्ति किसी संक्रमित व्यक्ति के पास जाता है और ना ही विदेश से आता है या विदेश जाता है फिर भी वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाता है। यह चरण तब होता है जब लोग किसी क्षेत्र में कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं, जिनमें कुछ ऐसे भी हैं जो सुनिश्चित नहीं हैं कि वे कैसे या कहाँ से संक्रमित हो गए।

चौथा चरण-

चौथे चरण में यह वायरस महामारी का रूप धारण कर लेता है। यह चरण तब आता है जब पूरा क्षेत्र या उस क्षेत्र में मौजूद अधिकतर चीजें ही संक्रमित हो जाती हैं फिर जब लोग उस क्षेत्र में प्रवेश करते हैं तो वे भी संक्रमित होने लगते हैं। उदहारण के रूप में इटली, यूरोप के कई देश और चीन इसकी मार झेल रहें हैं।

 

कोरोना वायरस का प्रभाव | Effect of Corona Virus in Hindi

corona virus effect

कोरोना वायरस के प्रभाव बड़े भयंकर रूप से विश्व में देखे जा सकते हैं। कुछ प्रभाव इस प्रकार हैं।

1. कोरोना वायरस ने विश्व भर में कर्फू जैसा लगा दिया कई देश अपनी सीमाएं बंद कर चुके हैं।

2. अधिकतर देशों की flight रद्द की जा चुकी हैं।

3. कोरोना वायरस से सभी सार्वजानिक स्थानों को बंद कर दिया गया है।

4. अधिकतर देशों के बाजार बंद कर दिए गए हैं।

5. सभी देशों के स्कूल कोचिंग सेंटर बंद है।

6. सभी देशों के पर्यटन स्थल बंद हैं।

7. कई देशों के मंदिर बंद हैं।

8. कई प्राइवेट कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के आदेश दे दिए हैं।

 

कोरोना वायरस से प्रभावित अर्थव्यवस्था |  Effect of Corona Virus on Economy

अभी तक यह ही सुना और देखा जाता था की किसी युद्ध के दौरान ही किसी देश की अर्थव्यवस्था गिर सकती हैं। किसी भी देश ने यह कभी नहीं सोचा होगा की एक मात्र वायरस किसी भी देश की अर्थव्यवथा को प्रभावित कर सकता है। कोरोना वायरस की चुनौती से लग रहा है की प्रथम विश्व युद्ध और द्वितीय विश्व युद्ध के बाद तृतीय विश्व युद्ध इस वायरस ने छेड़ दिया है। इस वायरस के चलते जनहानि व धनहानि दोनों ही हो रही है जो कि भारत और अन्य देशों की अर्थव्यवास्थ पर बुरा प्रभाव डाल रहा है। आपको बता दें कि यूरोप ओईसीडी अर्थात विकास संगठन ने 2020-2021 की विकास दर को 1.1% घटा दिया है। पहले अनुमान लगाया गया था कि भारत की विकास दर इस वर्ष 6.2 रहेगी लेकिन अब लग रहा है की कोरोना वायरस की वजह से भारत की विकास दर घट कर 5.1 हो सकती है।

 

कोरोना वायरस का प्रभाव कितने दिनों में दिखाई देता है

कोरोना का प्रभाव कितने दिन में दिखेगा इसे लेकर अब तक अलग-अलग समय सीमा बताई गयीं हैं।

1. कई देशों के लोकल हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमित लक्षण लगभग पांच दिन में दिखाई देने लगते हैं।

2. विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) के मुताबिक इस वायरस के संक्रमित लक्षण 14 दिनों में देखे जा सकतें हैं।

3. वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं के अनुसार इसके लक्षण 24 दिनों के बाद भी देखे जा सकतें हैं।

 

कोरोना वायरस से प्रभावित देश | Corona virus Affected Countries

दिन प्रतिदिन हर देश नॉवेल कोरोना वायरस की चपेट में आता जा रह है। बता दें की 20 मार्च 2020 तक विश्व के लगभग 162 देश नोवेल कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। 20 मार्च तक कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले 10 मुख्या देशों की बात की जाए तो इनके नाम कुछ इस प्रकार हैं –

सबसे ज्यादा प्रभावित देश

चीन

इटली

स्पेन

जर्मनी

ईरान

संयुक्त राज्य अमेरिका

फ्रांस

साउथ कोरिया

स्विट्ज़रलैंड

यूनाइटेड किंगडम

ऊपर बताये गए इन 10 देशों में अब तक कोरोना वायरस के मामले सबसे अधिक हैं। आपको बता दें कि हमारे देश भारत में भी कोरोना वायरस तेजी से अपने पैर फैलाने की कोशिश कर रहा है। इसलिए कोरोना वायरस से पूरा देश दहशत में है। भारतीय सरकार इस संक्रमण को रोकने का पूर्ण प्रयास कर रही है। शुक्रवार 20 मार्च तक भारत में कोरोना के मामले 200 के पार पहुँच चुके हैं वहीं अगर क्षेत्र की बात करें तो भारत के 14 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस अब अपने पाँव पसार चुका है।

सभी देशों में संक्रमण का डेटा देखने के लिए आप यहाँ क्लिक करके देख सकते हैं – Total affected persons from Corona Virus Worldwide.

 

कोरोना वायरस से अब तक कितनी मौतें हुई

आपको बता दें की दुनियाभर में कोरोना वायरस से अब तक 11 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। विश्व में सबसे ज्यादा मौतें कोरोना वायरस से इन 10 देशों में हुई हैं –

इटली – 4025 मौतें हुई

चीन – 3248 मौतें हुई

ईरान – 1284 मौतें हुई

स्पेन – 850 मौतें हुई

फ्रांस – 372 मौतें हुई

अमेरिका- 195 मौतें हुई

यूनाइटेड किंगडम – 103 मौतें हुई

नेथरलैंड – 107 मौतें हुई

साऊथ कोरिया – 84 मौतें हुई

जापान – 33 मौतें हुई

अपने देश भारत की अगर बात करें तो यहाँ कोरोना वायरस से अब तक 5 मौतें हो चुकी हैं। दुनिया भर में कोरोना वायरस से प्रभावित होने वाले ये आंकड़े वाकई गंभीर कर देने वाले हैं।

 

कोरोना वायरस से बचाव | Protection from Corona Virus in Hindi

corona virus precautions

कुछ सावधानियां रखकर हम स्वयं को और अपने देश को कोरोना वायरस के आतंक से बचा सकते हैं। अतः स्वास्थ मंत्रालय ने भी कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए इन निदेशों को अपनाएं –

1. किसी वस्तु को छूने के बाद, बाथरूम और बाहर से आने के बाद हाथों को साबुन अथवा सेनेटाइजर से 20 सेकंड तक धोयें।

2. यदि किसी व्यक्ति को खांसी, जुकाम, बुखार है तो उस व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें।

3. चेहरे पर मास्क लगा कर रखें। याद रहे मास्क को हमेशा नीचे की तरफ से ही खोलें। मास्क के साइड से किसी प्रकार का कोई गैप नहीं होना चाहिए। हर 6 घंटे में इस मास्क को बदलें। मास्क हटाने के बाद साबुन से अपने हाथों को धोएं। साथ ही अपने मास्क को उपयोग किसी दूसरे व्यक्ति ना करने दें।

4. खासते और छींकते वक्त टिशू पेपर का इस्तेमाल करें।

5. अपने जिले, कस्वा, गाँव में ही रहें। बाहर की यात्रा पर कुछ समय के लिए प्रतिबंध लगाए।

6. जंक फूड,आइसक्रीम, कोल्ड्रिंक्स तथा मार्केट में उपलब्ध खाने-पीने की चीजों का उपयोग न करें।

7. मांस और अंडे का सेवन न करें।

8. भीड़ वाले स्थानों पर ना जाएँ ।

9. पार्टी, जिम, सिनेमाघरो इत्यादि जगहों पर ना जाएं।

10. संक्रमित व्यक्ति से एक निश्चित दूरी बनाकर रखें।

11. किसी व्यक्ति से हाथ न मिलाएं।

12. हांथो से नाक,आँख, मुँहू को स्पर्श ना करें।

13. यदि स्वयं में या किसी अन्य व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दें तो तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सालय में चेकअप अवश्य करवाएं।

इस वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सतर्क रहें सावधान रहें और अपने आस-पास के लोगों को भी इस वायरस के प्रति जागरूक करें।

 

कोरोना वायरस का इलाज क्या है | What is the treatment of Corona Virus in Hindi

इस वैश्विक माहमारी से बचने के लिए किसी भी देश के पास अब तक इस वायरस का इलाज नहीं है। हालाँकि वैज्ञानिक अपने प्रयोगों से फैल रहे इस वायरस को कंट्रोल करने कि कोशिश कर रहें हैं लेकिन हर सम्भव प्रयास करने के बाद भी इसका अभी तक कोई निष्कर्ष नहीं निकला है।

जैसा कि विगत है की कोरोना वायरस का अब तक कोई इलाज नहीं है। लेकिन घबराने के जरुरत नहीं हैं बता दें की आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) को बढ़ाकर इस वायरस से काफी हद तक अपना बचाव कर सकतें हैं। इम्युनिटी अच्छी होगी तो कोरोना होने के बाद भी आपके इससे रिकवर करने की संभावना ज्यादा होगी। बता दें की विश्व में हजारों लोग कोरोना होने के बाद भी रिकवर हो कर के दोबारा स्वस्थ हुए हैं। तो आइये देखते हैं कोरोना वायरस से बचने के लिए हम कैसे अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं और बाबा रामदेव द्वारा बताये गए कुछ महत्पूर्ण उपायों के बारे में –

  • सुबह-शाम हल्दी वाले दूध का सेवन करें।
  • सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले लहसुन की पोथियों का सेवन करें।
  • खाने-पीने में गर्म पानी का उपयोग करें।
  • प्रातः उठकर नीम-तुलसी की पत्तियों का सेवन करें।
  • प्रतिदिन नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर स्नान करें।
  • प्रतिदिन गिलोय का रस या काढ़ा बनाकर सेवन करें।
  • प्रतिदिन कपालभांति, आनिलोम विलोम, सूर्यनमस्कार जैसे प्रायाणाम और योगासन करें।
  • अपने साथ रुमाल में हमेशा लौंग, कपूर, इलायची रखें। इनकी गंध से बैक्टीरिया उत्पन्न नहीं होते हैं।

 

कोरोना वायरस से संबंधित कुछ जरूरी सवाल और जवाब

 

सवाल – क्या कोरोना वायरस गर्मी से ख़त्म हो जाता है?

जवाब – इसके शोध में लगे हुए विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) के विशेषज्ञों के अनुसार ऐसा नहीं है। विशेषज्ञों के मुताबिक यह वायरस गर्म और शुष्क मौसम में और भी ज्याद घातक हो सकता है।

सवाल – क्या गर्म पानी से नहाने से कोरोना वायरस नहीं फैलता?

जवाब – डॉक्टर के मुताबिक ऐसा नहीं है। यदि आप गर्म पानी से नहाते हैं तब भी यह वायरस फैल सकता है।

सवाल – क्या कोरोना वायरस पालतू जानवर से फैलता है?

जवाब – नहीं। यदि कोई जानवर या व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है तब यह वायरस फैलता है।

सवाल – क्या कोरोना वायरस ठण्ड बढ़ने से तेजी से बढ़ता है?

जवाब – विश्व स्वास्थ संगठन के मुताबिक अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

सवाल – क्या निमोनिया के टीके कोरोना वायरस से सुरक्षा देते हैं?

जवाब – निमोनिया के लिया इस्तेमाल किये जाने वाले न्यूमोकोकल और हिमोफिलस इन्फ्लुएंजा के टीके कोरोना वायरस से सुरक्षा नहीं देते हैं। अभी तक इस वायरस को खत्म करने की दवा या टीका उपलब्ध नहीं है।

सवाल – क्या शरीर पर एल्कोहल या कैलोरीन के छिड़काब से वायरस को मारा जा सकता है?

जवाब – नहीं। इनके इस्तेमाल से आपके शरीर पर पहले से मौजूद वायरस नहीं फैलेंगे।

 

कोरोना वायरस के लिए जरूरी हेल्पलाइन नंबर | Helpline Numbers for Corona Virus

कोरोनावायरस के प्रकोप के मद्देनजर, सरकार ने कोरोनोवायरस संक्रमण से संबंधित सभी प्रकार के प्रश्नों और समर्थन के लिए चौबीसों घंटे हेल्पलाइन नंबर स्थापित किए हैं। यहां हेल्पलाइन नंबर हैं नीचे दिए गए हैं।

Central Helpline Number: +91-11-23978043
Central Helpline Number: +91-11-23978046

कोरोना वायरस के राज्य अनुसार (State wise) हेल्पलाइन नंबर देखने के लिए आप नीचे दी गए लिंक पर क्लिक कर के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर जा कर देख सकते हैं।

State-wise Helpline number: https://www.mohfw.gov.in/coronvavirushelplinenumber.pdf

 

निवेदन : इस वायरस से बचने के लिए सबको एकजुट होकर लड़ना होगा। बता दें की अभी भी भारत में अधिकतर लोगों को कोरोना वायरस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी नहीं है। अतः आप से निवेदन है की आप इस पोस्ट को फेसबुक, वाट्स एप और पूरे सोशल मीडिया पर इतना शेयर करें की कोरोना वायरस के बारे में हर एक व्यक्ति को सारी जानकारी मालूम हो सके। याद रहे आपके द्वारा किया गया ये प्रयास किसी व्यक्ति को जागरूक कर उसे संक्रमित होने से बचा सकता है।

 

तो दोस्तों ये थी कोरोना वायरस से जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी (Information of Corona Virus in Hindi)। हम आशा करते हैं की आपको corona virus से जुड़ी सभी महत्पूर्ण बातें समझ आ गए होंगी और आप इस पोस्ट में बताये सभी उपायों को जरूर अपनाएंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

7 COMMENTS

  1. nice 👌👌👌👌👌

  2. प्रियेश शर्मा

    बहुत सुंदर

  3. I Already Read The Info.From News Papers & Social media But This Page Helped Me to Get Whole Info.From Same Sources ….👍👍
    Those Who Knows Nothing About Covid-19 Read That Article Must 👌, Damn Sure After It You’re Able To Speak About it.

    :- #TukTuk

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here