mobile ka avishkar kisne kiya

आज के समय में मोबाइल के बिना जी पाना असम्भव सा लगता है। Mobile ka aviskar इंसानों द्वारा की गई सबसे उपयोगी चीजों में से एक है। मोबाइल ने ना सिर्फ दूर बैठे लोगों को संचार के माध्यम से एक दूसरे से जोड़ा है बल्कि टेक्नोलॉजी की इस दुनिया में इंसानों के लिए और भी कई ऐसे रास्ते खोल दिए हैं जिससे लोगों की जिंदगी आसान हो गई है। आज के समय में व्यक्ति मोबाइल से बातचीत करने के साथ-साथ मोबाइल का इस्तेमाल कैमरे द्वारा फोटो खींचने के लिए, Maps द्वारा किसी रास्ते को ढूंढ़ने के लिए, फोन वॉलेट द्वारा पैसों के लेन देन के लिए और मनोरंजन आदि सभी चीजों के लिए करता है। सुबह आखें खोलने से लेकर रात को नींद लगने तक लोग अपना अधिकांश समय मोबाइल पर ही बिताते हैं। ऐसे में मन में ये खयाल तो अवश्य आता होगा की आखिर Mobile ka aviskar kisne kiya? अगर आप भी यही जानना चाहते हैं तो आज हम आपको इसी चीज के बारे में बताने वाले हैं।

 

मोबाइल का आविष्कार किसने किया | Mobile Ka Aviskar Kisne Kiya

मोबाइल का आविष्कार 3 अप्रैल 1973 को मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने किया था। मार्टिन उस समय मोटोरोला कंपनी के एक शोधकर्ता और कार्यकारी थे। बता दें की मार्टिन ने इस मोबाइल फोन से पहला कॉल अपने प्रतिद्वंदी बैल लेबोरेटरी के इंजीनियर Dr. Joel S. Engel को लगाया था।

मार्टिन कूपर द्वारा बनाये गये इस मोबाइल फोन का नाम Motorola DynaTAC रखा गया था। विश्व का यह पहला मोबाइल फोन कोई छोटा मोटा फोन नहीं था बल्कि इसका आकर एक ईंट जितना बड़ा था। मोटोरोला के इस मोबाइल फोन की लम्बाई 9 इंच (लगभग 22.9 सेंटीमीटर) थी और वजन 1.1 किलोग्राम था। यह फोन सेलुलर नेटवर्क की तकनीक पर काम करता था। इस मोबाइल से फुल चार्ज करने के बाद लगभग 30 मिनट तक बात हो सकती थी, जबकि इसे फुल चार्ज करने में 10 घंटे का समय लगता था। इस फोन की लागत भी अत्यधिक थी। इस फोन में और भी कुछ खामियां थी जिससे की लोगों के बीच लाने से पहले लगभग एक दशक तक इस मोबाइल की खामियों को दूर करने और इसकी उत्पादन लागत को कम करने के ऊपर काम चलता रहा। इस बीच सेलुलर नेटवर्क को भी और सशक्त बनाया गया। तत्पश्चात सन 1983 में इसे बाजार में लोगों के लिए उपलब्ध कराया गया और इस मोबाइल का नाम Motorola DynaTAC 8000X रखा गया।

सन 1983 में आये मोटोरोला DynaTAC 8000X नामक इस मोबाइल की कीमत 3995 डॉलर (आज के समय में लगभग 2.80 लाख रूपए) थी। इस मोबाइल की बैटरी लगभग 6 घंटे तक चलती थी। जबकि इसे फुल चार्ज करने पर 30 मिनट तक बात कर सकते थे। इतना ही नहीं इस फोन में 30 लोगों के contact भी स्टोर करने का option उपलब्ध था।

 

कौन थे मार्टिन कूपर | Who is Martin Cooper

martin cooper

मोबाइल के आविष्कारक की संक्षेप में बात की जाये तो बता दें की मोबाइल का आविष्कार करने वाले मार्टिन कूपर का जन्म 26 दिसंबर 1928 को शिकागो (अमेरिका) में हुआ था।

मार्टिन के माता पिता यूक्रेन देश के रहने वाले थे जो की बाद में अमेरिका रहने चले गए थे। अमेरिका में रहते हुए कूपर ने अपनी शिक्षा हासिल की जहाँ उन्होंने Illinois इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से सन 1950 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की। स्नातक करने के बाद अमेरका और कोरिया युद्ध के दौरान कूपर को सबमरीन अफसर की नौकरी करने पड़ी।
युद्ध खत्म होने के बाद कूपर एक बार फिर पड़ने चले गए और उन्होंने सन 1957 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में मास्टर ऑफ़ साइंस की डिग्री भी हासिल कर ली। मास्टर डिग्री पूरी होने के बाद मार्टिन शिकागो की Teletype कारपोरेशन कंपनी में काम करने लगे। यहाँ से सन 1954 में स्तीफा देने के बाद मार्टिन ने मोटोरोला कंपनी ज्वाइन की। मोटोरोला में सीनियर डेवलपमेंट इंजीनियर रहते हुए ही कूपर ने सेलुलर नेटवर्क टेक्नोलॉजी पर काम करना शुरू किया और सन 1973 में एक टीम को लीड करते हुए मोबाइल फोन का आविष्कार किया।

 

भारत में मोबाइल कब आया | When did Mobile launched in India

जैसा की अभी बताया गया की पहला मोबाइल फोन बाजार में सन 1983 में लांच किया गया था। परन्तु बात दें की यह सिर्फ अमेरिका के बाजार में उपलब्ध था। भारत में अगर बात करें तो पहली मोबाइल सर्विस भारत में सन 1995 में शुरू की गई थी। उस समय सर्वप्रथम भारत के केंद्रीय दूरसंचार मंत्री श्री सुख राम ने 31 जुलाई 1995 को वेस्ट बंगाल के मुख्यमंत्री श्री ज्योति बासु से मोबाइल पर बात की थी। भारत में हुआ यह पहला मोबाइल कॉल दिल्ली के संचार भवन से कलकत्ता की राइटर्स बिल्डिंग पर कनेक्ट हुआ था। इस सेलुलर कॉल के बाद से ही कलकत्ता में मोबाइल सेवा का संचालन शुरू हो गया था।

भारत में उपलब्ध इस पहली मोबाइल सर्विस को Modi Telstra’s MobileNet सर्विस द्वारा उपलब्ध कराया गया था। मोदी टेल्स्ट्रा भारत के मोदी समूह और ऑस्ट्रेलियाई टेलीकॉम दिग्गज कंपनी टेल्स्ट्रा का एक जॉइंट वेंचर था। टेल्स्ट्रा कंपनी उस समय भारत में सेलुलर सेवाएं प्रदान करने के लिए लाइसेंस प्राप्त आठ कंपनियों में से एक थी।

 

अब कितने लोग करते हैं मोबाइल का इस्तेमाल | How many people are using Mobile

अगर आज के समय में दुनिया भर में मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वाले कुल लोगों की बात की जाए तो एकदम सटीक बता पाना बेहद मुश्किल होगा, क्युकी मोबाइल इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या आज दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। GSMA Intelligence की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक साल में ही मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या 5.19 बिलियन (लगभग 519 करोड़) बड़ी है। मोबाइल इस्तेमाल करने वाले कुल लोगों की संख्या अगर आप देखना चाहें तो आप GSMA Intelligence की वेबसाइट पर जा कर देख सकते हैं।

भारत की अगर बात करें तो भारतीय दूरसंचार नेटवर्क, telephone users के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है। जहाँ 1.21 बिलियन लोग (लगभग 121 करोड़ लोग) mobile फोन का इस्तेमाल करते हैं। मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वाले इन सभी लोगों में से 446 मिलियन लोग (लगभग 44.6 करोड़ जनता) समर्टफोन का इस्तेमाल करती हैं। भारत में आज टेलीकॉम इंडस्ट्री के इतने बड़े मार्किट होने की वजह से ही टेलीकॉम कंपनियों में प्रतिस्पर्धा की होड़ बहुत है और यही वजह भी है की भारत उन देशों में शामिल हैं जहाँ सबसे कम काल दरें हैं।

 

कितने तरह के मोबाइल बाजार में हैं उपलब्ध | Types of Mobile available in the Market

आज के समय में मुख्यता तीन प्रकार के मोबाइल फोन बाजार में उपलब्ध हैं जो की इस प्रकार हैं-

 

1. सेल फोन | Cell Phone

cell phone photo

सेल फोन शुरूआती दौर में आये मोबाइल फोन थे। इनमें कम एडवांस फीचर होते हैं तथा इनका इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है। इन फोन में मुख्या रूप से कॉल करना तथा टेक्स्ट मैसेज भेजना या किसी का मोबाइल नंबर save करना यही काम हो सकते थे। कम फीचर की वजह से इन फोन की कीमत बाजार में बहुत कम थी। अब नई तकनीक के मोबाइल आ जाने से cell phone की डिमांड बाजार में घट गई है। यही वजह है की अब यह फोन बाजार में कम ही देखने को मिलते हैं।

 

2. फीचर फोन | Feature Phone

feature phone

फीचर फोन दिखने में सेल फोन की तरह ही होते हैं लेकिन ये स्मार्ट फोन के भी कुछ फीचर (विशेषताएं) प्रदान करते हैं। फीचर फोन में कॉल और टेक्स्ट मैसेज करने के अलावा कैमरे से फोटो खींचना, वीडियो बनाना, मोबाइल में गाने सुनना, इंटरनेट चलाना व मल्टीमीडिया के अन्य फंक्शन उपलप्ध रहते हैं। इनकी कीमत सेल फोन के मुकाबले ज्यादा रहती है परन्तु ये स्मार्ट फोन की अपेक्षा सस्ते होते हैं।

 

3. स्मार्ट फोन | Smart Phone

smart phones

अब जो सभी सुविधाओं से परिपूर्ण मोबाइल फोन आ रहे हैं वे स्मार्टफोन कहलाते हैं। ये नई तकनीक का इस्तेमाल करते हैं। इसमें एडवांस ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जो मुख्यता चार प्रकार के होते हैं। जिसमें शामिल है एंड्राइड, एप्पल ios, ब्लैकबेरी और विंडो आधारित मोबाइल फोन। स्मार्टफोन टच स्क्रीन सुविधा प्रदान करते हैं और इसमें 4G इंटरनेट, Wifi कनेक्टिविटी, Hd कैमरा, Gps और ऐसे ही कई एडवांस फीचर होते हैं। यही फीचर इन्हे बाकी मोबाइल फोन से अलग बनाते हैं।

 

मोबाइल से जुड़े कुछ और रोचक तथ्य | Interesting Facts related to Mobile phone

 

1. अफ्रीका में पानी और बिजली के कनेक्शन से ज्यादा लोगों के पास मोबाइल फोन हैं।

2. दुनिया का पहला स्मार्टफोन Ericsson का GS88 “पेनेलोपे” मॉडल था। यह सन 1997 में आया था।

3. मोबाइल पर मालवारे के 99 प्रतिशत शिकार एंड्राइड यूजर होते हैं।

4. दुनिया का सबसे ज्यादा बिकने वाला मोबाइल फोन नोकिआ 1100 था। इस हैंडसेट की 250 मिलियन यूनिट बिकी थी।

5. आज के समय दुनिया में लोगो से ज्यादा मोबाइल फोन है। एक सर्वे के अनुसार दुनिया भर में 7500 मिलियन मोबाइल की लाइन्स मौजूद हैं जबकि विश्व की कुल जनसंख्या 7,350 मिलियन है।

6. वर्ष 2015 में लोग शार्क मछली के हमले से ज्यादा मोबाइल पर सेल्फी लेते हुए मरे हैं।

7. दुनिया का सबसे महंगा मोबाइल फाल्कन सुपरनोवा पिंक डाइमंड है। यह मुख्यता आईफोन 6 है जिसमें 18 कैरट गोल्ड का इस्तेमाल किया गया है। इसकी कुल कीमत 95.5 मिलियन डॉलर है।

8. मलेशिया में अपने पार्टनर को मोबाइल पर टेक्स्ट मैसेज करके तलाक देना कानूनी माना गया है।

9. फिनलैंड देश में मोबाइल फेंकने की एक विश्व प्रतियोगता आयोजित होती है। इसमें सबसे दूर मोबाइल फेंकने का रिकॉर्ड पुरुष का 97 मीटर जबकि महिला का 40 मीटर है।

10. एप्पल ने वर्ष 2018 में हर दिन लगभग 5 लाख 72 हजार मोबाइल फोन बेचे हैं।

11. आज के समय में मोबाइल फोन इंडस्ट्री दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली इंडस्ट्री है।

12. मोबाइल के रेडिएशन खतरनाक हैं। इसके ज्यादा इस्तेमाल से अनिद्रा और सिरदर्द होने की समस्या हो सकती है।

13. एक सर्वे के मुताबिक दुनिया के 70 प्रतिशत मोबाइल फोन का उत्पादन चीन में होता है।

14. चीन में मोबाइल पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या कंप्यूटर पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों से ज्यादा है।

15. औसतन एक इंसान एक दिन में करीब 110 बार अपने स्मार्टफोन को अनलॉक करता है।

 

यह भी जानिए :
गूगल की खोज किसने की और कब
Television का आविष्कार किसने किया और कब? जानिए

 

तो दोस्तों ये थी मोबाइल से जुड़ी कुछ जानकारी हम आशा करते हैं कि अब आपको mobile ka aviskar kisne kiya याद रहेगा। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here