banana in hindi

About Banana in Hindi: रोगों से बचने के लिए शरीर का मजबूत होना जरूरी है। अब यूँ तो सृष्टि ने मानव को स्वस्थ रखने के लिए कई प्रकार की वनस्पतियां, सब्जियां व फल आदि प्रदान किए हैं परन्तु किस चीज का इस्तेमाल कब करना है यह जानना जरूरी है। ऐसे में आज हम आपको एक ऐसे फल के फायदों से परिचित करवाने वाले हैं जो ऊर्जा प्रदान करने में, वजन बढ़ाने में, रक्तचाप नियंत्रित करने में, एनीमिया से बचाने में, आदि कई समस्याओं में लाभदायक है।

जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे हैं केले की जिसका उपयोग कई लोग बड़े चाव से करते हैं तो कई लोग केला को देखकर मुंह बना लेते हैं। जो लोग केला खाना पसंद नहीं करते हैं वह आज का लेख पढ़ने के पश्चात इसका इस्तेमाल यकीनन करने लगेंगे क्योंकि आज हम आपसे केला से होने वाले स्वास्थवर्धक फायदे (Kele ke fayde) और इससे जुड़ी कुछ रोचक जानकारी साझा करने वाले हैं। चलिए शुरू करते हैं और पहले केले से जुड़े कुछ तथ्य जानते हैं।

 

Page Contents

क्या होता है केला | What is Banana in Hindi

केला Musaceae परिवार के घासदार पेड़ का गुणकारी फल है इसका वैज्ञानिक नाम Musa acuminata है। खास बात यह है कि केले का पेड़ बेहद आकर्षित होता है जिसमें गुच्छों की अलग-अलग पत्तियों में लगभग 3 से लेकर 20 केले लटके हुए होते हैं। कच्चा केला का रंग हरा होता है लेकिन पकने के पश्चात इसका रंग पीला हो जाता है साथ ही अंदर से केला के गूदे का रंग सफ़ेद होता है।

स्वाद में केला मीठा होता है जिसकी वजह से इसे बच्चे और बुजुर्ग बड़े चाव से खाते हैं। आपको बता दें कि कच्चे केला और पके केला दोनों का ही इस्तेमाल कई प्रकारों से किया जाता है।

केला की तासीर :

केला (Banana) बारह माह मिलने वाला फल है इसलिए कई लोग इसकी तासीर को जाने बगैर किसी भी समय इसका सेवन कर लेते हैं जिसके कारण कई प्रकार की शारीरिक तकलीफों का सामना करना पड़ता है। आपको बता दें कि केला की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका इस्तेमाल सही समय पर करना चाहिए।

 

केले में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व | Nutrients of Banana in Hindi

प्राचीन काल से ही केला का उपयोग आयुर्वेद में चिकत्सा के रूप में किया जाता रहा है क्योंकि केला में मुख्य रूप से कैल्शियम, मैग्नीशियम, थाईमिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, फास्फोरस, फोलिक एसिड, आयरन, कॉपर, पोटैशियम, विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी 6, फाइबर, फास्फोरस, सोडियम, विटामिन सी, फैटी एसिड कुल मोनोअनसैचुरेटेड सहित एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो सेहत को निरोगी रखने में फायदेमंद होते हैं।

 

केले के विभिन्न नाम | Some Other Names of Banana

केला एक ऐसा विशिष्ट फल है जो सम्पूर्ण भारत में पाया जाता है। चूँकि भारत एक विशाल देश है इसलिए कई प्रांतों में विभाजित है एवं सभी प्रांतों की अलग-अलग भाष है इसलिए केला को भाषाई आधार पर विभिन्न नामों से जाना जाता है। यदि आप केला के अन्य भाषाई नामों से परिचित नहीं हैं तो चलिए जानते हैं केला के विभिन्न नाम कौन-कौनसे हैं।

केला का हिंदी में नाम – कदली, केरा

केला का अंग्रेजी में नाम – बनाना

केला का संस्कृत में नाम – अंशुमतीफला

केला का तेलगु में नाम – कदलमु

केला का तमिल में नाम – वलई

केला का कन्नड़ में नाम – बालेहन्नु

केला का मराठी में नाम – कदली

केला का पंजाबी में नाम – खेला

केला का बंगाली में नाम – कोला

केला का मलयालम में नाम – क्षेत्रकदली

केला का नेपाली में नाम – केरा

 

केले के फायदे | Benefits of Banana in Hindi

banana benefits in hindi

केला एक ऐसा अद्भुत फल है जो विभिन्न शारीरिक और मानसिक समस्यों से छुटकारा दिलाने में लाभकारी है। यह कई तरह के रोगों से लड़ने की क्षमता शरीर को प्रदान करता है इसलिए अब आगे के लेख में हम आपको केला से होने वाले सेहतमंद फायदों से रूबरू करवाने वाले हैं।

 

1. दुबलापन दूर करने में केला है गुणकारी

कार्श्य रोग को आम बोलचाल की भाषा में दुबलापन कहते हैं। बता दें कि दुबलेपन की स्तिथि में शरीर का वजन कम होने लगता है एवं शरीर की हड्डियां दिखने लगती हैं। चूँकि शरीर के दुबले होने के कई कारण होते हैं जैसे की भूख की कमी, भोजन का ठीक से न पचना, कब्ज, गैस आदि। हालाँकि शरीर का दुबला होना कोई रोग नहीं होता है लेकिन शरीर की लम्बाई के अनुरूप यदि वजन कम होता है तो कई प्रकार की शारीरिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

यदि आप भी दुबलेपन की समस्या से पीड़ित हैं तो आप केला का उपयोग कर सकते हैं। प्रतिदिन केला का सेवन दूध के साथ करने से दुबलापन को दूर किया जा सकता है।

 

2. केला पाचन तंत्र को दुरुस्त करने में है असरदार

पाचन तंत्र के ख़राब होने से कई प्रकार के शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसके आलावा खराब पाचन तंत्र की वजह से लोग मोटे भी हो सकते हैं एवं दुबले भी हो सकते हैं। इसलिए यदि आप सेहतमंद शरीर पाना चाहते हैं तो पाचन तंत्र का दुरुस्त होने बेहद आवश्यक है। आपको बता दें कि केला भारत वर्ष का प्राचीनतम स्वादिष्ट व पौष्टिक फल है जिसकी मदद से आप अपने पचन तंत्र को मजबूत बना सकते हैं।

दरअसल केला में फाइबर पाया जाता है जो खराब पाचन तंत्र को ठीक करने में फायदेमंद होता है। नित्य सुबह शाम केला का सेवन करने से पाचन तंत्र सम्बन्धी विकारों को दूर किया जा सकता है।

 

3. उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में केला है प्रभावी

वर्तमान समय में रक्तचाप की समस्या कई घरों में देखी जा सकती है। रक्तचाप का बढ़ना या कम होना दोनों ही स्वास्थ के लिए नुकसानदायक होते हैं। आज के समय में ज्यादातर उच्च रक्तचाप की समस्या से लोग जूझ रहे हैं एवं उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए कई लोग प्रतिदिन दवाइयों का सेवन करते हैं।

यदि आप भी उच्च रक्तचाप की परेशानी से पीड़ित हैं तो एवं इसे नियंत्रित करने वाले उपायों की तलाश कर रहे हैं तो आप केला का इस्तेमाल करके देखिए। बता दें कि केले में पोटैशियम, मैग्नीशियम, फाइबर और विटामिन सी पाया जाता है जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में प्रभावी होता है।

 

4. कब्ज से छुटकारा दिलाने में होता है लाभकारी

दोस्तों कब्ज यानी कि आँतों से मल का ठीक तरह से निष्कासन नहीं होना। आपको बता दें आयुर्वेद में कहा गया है कि पेट के अधिकतर रोगों का संबध मल से है। अतः कब्जमुक्त व्यक्ति कई प्रकार के रोगों से शरीर का बचाव कर सकता है। लेकिन वर्तमान समय में अनियमित जीवनशैली व अन्य कारणों की वजह से दिन-व-दिन कब्ज से पीड़ित रोगियों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है।

यदि आप भी कब्ज रोग से ग्रस्त हैं एवं इसको ठीक करना चाहते हैं तो आप केला का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल केला में फाइबर और विटामिन सी पाया जाता है जो कब्ज से निजात दिलाने में लाभकारी होता है।

 

5. श्वेत प्रदर में केला होता है फायदेमंद

श्वेत प्रदर को आधुनिक भाषा में ल्यूकोरिया के नाम से जाना जाता है। अगर आप इसके बारे में नहीं जानते हैं तो बता दें कि मूत्र मार्ग से निकलने वाले सफेद गाढ़े पदार्थ को श्वेतप्रदर कहा जाता है। दरअसल श्वेत प्रदर दो प्रकार का होता है एक जो योनि मार्ग से निकलता है एवं दूसरा जो गर्भाशय ग्रीवा से उत्पन्न होकर निकलता है। श्वेत प्रदर से पीड़त महिलाओं को कामर दर्द, कमजोरी, आँखों के नीचे अँधेरा छा जाना योनि में खुजली होना, आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

श्वेत प्रदर एक ऐसा रोग है जिससे अधिकांश महिलायें ग्रस्त हैं एवं इसका उपचार करने के लिए नए-नए उपायों का सहारा लेती हैं। यदि आप भी श्वेत प्रदर की परेशानी से पीड़ित हैं तो आपके लिए केला का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि केला में अनेक प्रकार के विटामिन्स व खनिज पाए जाते हैं जो श्वेत प्रदर की समस्या को ठीक करने में मदद करते हैं।

 

6. एसिडिटी को शांत करने में केला निभाता है साथ

एसिडिटी यानि कि हार्टबर्न की समस्या किसी भी व्यक्ति को गलत खान पान, अनियमित दिनचर्या या अन्य किसी भी कारणवश हो सकती है। एसिडिटी की समस्या में रोगी के पेट में जलन होने लगती है, खट्टी डकारे आने लगती है, सीने में दर्द होने लगता है। कई लोग एसिडिटी की समस्या को नजरअंदाज कर देते हैं जिसकी वजह से बाद में उनको कई प्रकार की जटिल रोगों से जूझना पड़ता है। इसलिए एसिडिटी होने पर तुरंत उपचार करना चाहिए।

यदि आपको कभी-कभी गलत खाना या गलत दिनचर्या की वजह से एसिडिटी की समस्या उत्पन्न होती है तो उसका तुरंत इलाज केला से किया जा सकता है। बता दें केला एसिडिटी को शांत करने में प्रभावी फल माना जाता है।

 

7. एनीमिया रोगियों के लिए केला होता है फायदेमंद

एनीमिया एक प्रचलित रोग है जिससे विश्व के करोड़ों लोग पीड़ित हैं। एनीमिया रोग अधिकांश रूप से महिलाओं में पाया जाता है एवं इस रोग की वजह से थकान, कमजोरी, त्वचा का पीला होना, दिल की धड़कन का असामान्य होने जैसी अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

दोस्तों एनीमिया रोग से निजात पाने के लिए यदि आप अंग्रेजी दवाइयों पर निर्भर नहीं रहना चाहते हैं तो आप केला का इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें के केला में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो एनीमिया रोग में फायदेमंद होता है।

 

8. केला आँखो के लिए है बेहद गुणकारी

आँखे शरीर का बेहद नाजुक और महत्पूर्ण अंग हैं इसलिए आँखों स्वस्थ रखना बेहद आवश्यक होता है। परन्तु व्यस्त दिनचर्या की वजह से वर्तमान समय में अधिकतर लोग आँखों का ठीक प्रकार से ख्याल नहीं रख पाते हैं जिसकी वहज से दिन प्रतिदिन आँखों से सबंधित रोगों से अनेकों लोग जूझ रहे हैं। आँखों को स्वस्थ रखने में विटामिन ए जरुरी होता है जब शरीर में विटामिन ए की कमी हो जाती है तो आँखों से सबंधित कई प्रकार के रोग स्वतः ही होने लगते हैं।

इसलिए आपको बता दें कि यदि आप आँखों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आप केला का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल केला में विटामिन ए पाया जाता है जो आँखों को स्वस्थ रखने में गुणकारी होता है।

 

9. शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है केला

हमारे शरीर को प्रतिदिन ऊर्जा की जरुरत होती है एवं ऊर्जा के बिना शरीर किसी भी कार्य को ठीक प्रकार से संचालित नहीं कर पाता है। आपने भी कई लोगों को यह कहते हुए अवश्य सुना होगा कि आज शरीर में ऊर्जा की कमी लग रही है जिसकी वजह से कार्य ठीक तरह से सम्पन्न नहीं हो पा रहा है।

दरअसल ऊर्जा की कमी वजह से शरीर में थकन होने लगती है जिसकी वजह से शरीर किसी भी क्रिया को पूर्ण रूप से सम्पादित नहीं कर पाता है। इसलिए आपको बता दें यदि आपके शरीर में ऊर्जा की कमी है तो आप केला की मदद से इस कमी से छुटकारा पा सकते हैं क्योंकि केला में पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा पाई जाती है।

 

10. खून पतला करने में केला होता है फायदेमंद

शरीर में रक्त से सम्बंधित कई प्रकार की समस्याएँ होती हैं जैसे की रक्त की कमी, ब्लड क्लॉट या फिर खून का गाढ़ा होना आदि। आज के समय में गलत खानपान, उलटी सीढ़ी दवाइयां (Steroid) लेना और बिगड़ता लाइफस्टाइल की वजह से बहुत से लोगों में खून गाढ़ेपन की समस्या हो रही है। दोस्तों शरीर में रक्त का गाढ़ापन हृदय संबंधी रोग, कोलेस्ट्रॉल आदि को बढ़ावा देने में सहयोगी होता है। इसलिए खून का पतला होना शरीर के लिए आवश्यक होता है।

यदि आप भी खून के गाढ़ेपन से परेशान हैं एवं खून का पतला करने की सोच रहे हैं तो आप केला का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल केला में कई प्रकार के गुणकारी खनिज और विटामिन्स पाए जाते हैं जो खून को पतला करने में फायदेमंद होते हैं।

 

11. शारीरिक व मानसिक विकास के लिए केला है जरूरी

शिशु के विकास के लिए अक्सर प्रत्येक माँ चिंतित रहती है। सवाल जो अक्सर पुछा जाता है वो है कि शिशु को ऐसा कौनसा पौष्टिक खाद्य पदार्थ का सेवन कराया जाये जिससे शिशु का मानसिक विकास पूर्ण रूप से हो सके। दरअसल बच्चों के विकास के लिए पोषक आहार की आवश्यकता होती है लेकिन आज के समय में बच्चों को मिलावट वाला खाना या आर्टिफीसियल चीजें मिल रही हैं जो बच्चों के विकास में बाधा उत्पन्न कर रहा है।

ऐसे में आप केले का उपयोग कर सकते हैं। बता दें कि केला में पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, आयरन, फोलेट, नियासिन, विटामिन बी6, विटामिन ए, विटामिन सी, तांबा, सोडियम आदि तत्व पाए जाते हैं जो शिशु के मानसिक और शारीरिक विकास को परिपूर्ण तरीके से करने में फायदेमंद होते हैं।

 

12. याददाश्त को बढ़ाने में केला होता है लाभकारी

आज के दौर की तेज रफ़्तार जीवन और दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के साधन जुटाने के लिए व्यक्ति खुदकी सेहत को भूलता जा रहा है और इसका प्रभाव शरीर से अधिक मस्तिष्क पर पड़ रहा है। दरअसल आज के समय में चाहे छात्र – छात्राएं हों या व्यवसायी – नौकरीपेशा वाले लोग, सभी में एक दूसरे को पीछे छोड़ने की होड़ लगी हुई है। जिसकी वजह से वह अपने खान पान व अन्य शारीरिक व मानसिक गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते हैं एवं इसके परिणाम स्वरुप लोगों की याददाश्त समय से पहले कमजोर होने लगी है।

यदि आप भी आप भी कमजोर याददाश्त की शिकायत से परेशान हैं तो आप याददाश्त को मजबूत बनाने के लिए केला का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल केला में फोलेट पाया जाता है जो याददाश्त को मजबूत या बढ़ाने में लाभकारी होता है।

 

13. भूख को नियंत्रित करने में केला है प्रभावी

दोस्तों भूख का अधिक लगना या भूख का कम लगना दोनों ही परिस्थितियां स्वास्थ के लिए हानिकारक होती हैं। कई लोग ऐसे होते हैं जिनको जरुरत से अधिक भूख लगती है जिसकी वजह से उन्हें कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अधिकतर लोग भूख को नियंत्रित करने वाले घरेलु उपायों के बारे में नहीं जानते हैं इसलिए भूख को नियंत्रित करने के लिए एलोपैथिक दवाइयों का उपयोग करते हैं।

बता दें कि यदि आप भूख को कंट्रोल करने वाले घरेलु उपायों की खोज कर रहे हैं तो आपके लिए सबसे बेहतरीन विकल्प केला है। दरअसल केला में मैग्नीशियम, फाइबर सहित कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो भूख को नियंत्रित करने में प्रभावी होते हैं।

 

14. केला मुहासों से छुटकारा दिलाने में है असरदार

मुँहासे त्वचा सम्बंधित सबसे जिद्दी रोग होते हैं एवं इस रोग से आज अधिकतर युवा व युवती परेशान हैं। चेहरे पर होने वाले मुँहासे चेहरे की सुंदरता को छीन लेते हैं इसलिए मुहासों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अधिकतर लोग तमाम तरह के उपायों का सहारा लेते हैं लेकिन फिर भी इस समस्या से छुटकारा पाने में असफल ही रहते हैं।

मुँहासे होने के अंदरूनी व बाहरी कई करण हो सकते हैं लेकिन यदि आप मुहासों की समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो आप केला का इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें की केला में कई प्रकार के विटामिन्स व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो मुंहासों की समस्या से मुक्ति दिलाने में असरकारक होते हैं।

 

15. चेहरे के सौंदर्य को निखारने में केला है फायदेमंद

बढ़ती उम्र या फिर प्रदूषण की वजह से चेहरे का सौंदर्य धीरे-धीरे कम होने लगता है जिसकी वजह से अधिकतर लोग चिंतित हो जाते हैं एवं चेहरे के सौंदर्य को निखारने के लिए फेशियल, क्लीनअप या फिर तमाम तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का सहारा लेते हैं लेकिन त्वचा संबधित इन उपायों को करने से केवल कुछ ही दिनों तक चेहरे का सौदंर्य रहता है एवं अधिक ब्यूटी प्रोडक्ट्स का उपयोग करने से त्वचा पतली और बेजान हो जाती है। इसलिए आपको बता दें कि यदि आप चेहरे की त्वचा को बगैर कोई नुकसान पहुंचाए खूबसूरत बनाना चाहते हैं तो आप केला का उपयोग कर सकते हैं।

दरअसल केला में विटामिन्स, खनिज व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो चेहरे के सौंदर्य को निखारने में फायदेमंद होते हैं। चेहरे के सौन्दर्य को निखारने के लिए आप केला का फेस पैक बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

केला के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Banana in Hindi

Banana ke fayde

1. केला में पोटैशियम व मैग्नीशियम पाया जाता जाता है जो ह्रदय को स्वस्थ रखने में फायदेमन्द होता है।

2. केला में मौजूद प्रोटीन और कैल्शियम बालों को मजबूत बनाने में महत्पूर्ण भूमिका अदा करते हैं।

3. केला में कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो तनाव को कम करने में असरदार होते हैं।

4. सूखी खांसी से पीड़ित लोगों के लिए केले का सेवन लाभकारी माना जाता है।

5. केला में मैग्नीशियम पाया जाता है जो बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में प्रभावी है।

6. केला अनिद्रा की समस्या से निजात दिलाने में फायदेमंद होता है।

7. जले हुए अंग की जलन को कम करने में केला असरकारक होता है दरअसल जले हुए शरीर पर केला को मसलकर लगाने से राहत मिलती है।

8. संतुलित मात्रा में केला का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा माना जाता है।

9. मूत्र विकारों से छुटकारा दिलाने में केला का सेवन लाभदायक होता है।

 

केला का उपयोग | Uses of Banana in Hindi

banana uses in hindi

यदि आप केले का उपयोग केवल एक फल के रूप में ही करते हैं तो आपको बता दें कि केला का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है। अगर आपको केला का उपयोग अन्य प्रकार से करना नहीं आता है तो चलिए अब हम आपको इसे इस्तेमाल करने के विभिन्न तरीके बताते हैं।

1. केला का उपयोग आप Banana shake के रूप में कर सकते हैं।

2. केला का उपयोग आप दूध के साथ कर सकते हैं।

3. केला का इस्तेमाल आप दही के साथ भी कर सकते हैं।

4. केला का इस्तेमाल फ्रूट रायता में किया जा सकता है।

5. केला उपयोग सब्जी के रूप में कर सकते हैं।

6. कच्चे केला का उपयोग समोसे के रूप में किया जा सकता है।

7. कच्चे केला का उपयोग इसके चिप्स बनाकर कर सकते हैं।

 

केले से होने वाले शारीरिक नुकसान | Side Effects of Banana in Hindi

केला एक गुणकारी फल है लेकिन गलत तरीके से इसका उपयोग करने पर यह शरीर के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए केले से सम्बंधित तमाम तरह की जानकरी जानने के पश्चात आइए केला से होने वाले नुकसानों पर भी नजर डालते हैं।

1. केला का अधिक उपयोग करने पर अपच की समस्या हो सकती है।

2. जो लोग मोटापा से जूझ रहे हैं उनको केले का अधिक सेवन नुकसानदायक साबित हो सकता है क्योंकि केला वजन बढ़ाने में सहयोगी होता है।

3. केले की तासीर ठंडी होती है इसलिए सर्दी जुकाम से पीड़ित लोगों के लिए केला का सेवन हानिकारक साबित हो सकता है।

4. केला में शुगर पायी जाती है जो दांतों के लिए नुकसान पहुंचा सकती है।

5. मधुमेह रोगियों के लिए केला का इस्तेमाल फायदेमंद माना जाता है। लेकिन मधुमेह रोगियों को केले का उपयोग चिकत्सक का परामर्श लेकर ही करना चाहिए।

 

तो दोस्तों ये थी केला (Banana in hindi) से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप केले के फायदे और नुकसान समझ गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पढ़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here