oregano in hindi

About Oregano in hindi: ”ओरिगैनो” यह नाम आपने पहले शायद ही कभी सुना हो। बता दें की इसे हिंदी में अजवाइन की पत्ती कहा जाता है। अजवाइन के बीजों के आलावा अजवाइन के पौधे में भी कई प्रकार के औषधिये गुण पाए जाते हैं। इसलिए oregano यानि अजवाइन की पत्तियों का इस्तेमाल वर्षों से मानव स्वास्थ को बेहतर बनाने के लिए किया जाता रहा है। अधिकतर जगह ओरिगैनो का प्रयोग pizza herb के रूप में होता है। इसलिए लोग ओरिगैनो को केवल पिज्जा में स्वाद बढ़ाने वाले तत्व के रुप में ही जानते हैं। परन्तु बता दें ओरिगैनो के और भी कई फायदे हैं जिनके बारे में आप नहीं जानतें होंगे। आज के लेख में हम आपको ना सिर्फ इसके फायदे बताएँगे बल्कि ओरिगैनो की सम्पूर्ण जानकारी मुहैया करवाएंगे।

 

ओरिगैनो क्या है | What is Oregano in Hindi

ओरिगैनो एक बेहद गुणकारी पौधा है इसका वैज्ञानिक नाम ओरिगैनम वल्गार (Origanum vulgare) है। यह तुलसी और पुदीने की तरह ही होता है। मीठी नीम, पुदीना, धानिया पत्ती का उपयोग जैसे हम खाने का जायका बढ़ाने के लिए करते हैं, उसी प्रकार oregano का उपयोग भी मसाले के रूप में खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। अक्सर इस पौधे की पत्तियों का इस्तेमाल पिज्जा और पास्ता जैसे व्यजनों में किया जाता है। ओरिगैनो का इस्तेमाल italian खाने में सर्वाधिक होता है।

खाने का जायका बढ़ाने के अतरिक्त ओरिगैनो का उपयोग आयुर्वेदिक और देशी उपचार के रूप में भी किया जाता है। खास बात यह है की सम्पूर्ण विश्व में ओरिगैनो की लगभग 60 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं जिनका इस्तेमाल कई तरीके से होता है। भारत में ओरिगैनो हिमालय में कश्मीर से लेकर सिक्किम में बहुतायत में पाया जाता है। भारतीय बाजार में ओरिगैनो पत्तियों, चाय, तेल और टेबलेट जैसे विभिन्न प्रकार के रूपों में मिलता है।

 

  • ओरिगैनो की तासीर

जैसा की हम सभी जानते हैं कि प्रत्येक खाध और पेय पदार्थ की एक तासीर होती है। इसलिए जब भी हम कोई खाध पदार्थ का सेवन करते हैं है तो उसकी तासीर का प्रभाव हमारे शरीर पर पड़ता है। इसलिए अपने स्वस्थ्य को देखते हुए लोग तासीर के अनुरूप ही खाध पदार्थों का सेवन करते हैं। बता दें कि oregano की तासीर गर्म होती है। अतः एसिडिटी की समस्या वाले लोगों को ओरिगैनो का सेवन नहीं करना चाहिए।

 

  • ओरिगैनो का स्वाद

दोस्तों अजवाइन की पत्तियों का इस्तेमाल सूखने के उपरांत ही मसालों के रूप में किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि सूखने के बाद ओरिगैनो का स्वाद बढ़ जाता है। यह स्वाद में तीखा और कसैला लगता है।

 

कैसा होता है ओरिगैनो का पौधा | How did Oregano plant look like

oregano plant in hindi

ओरिगैनो का पौधा लामिएसी (Lamiaceae) परिवार का पौधा होता है। इसकी लम्बाई लगभग तीन फिट तक होती है। बता दें कि ओरिगैनो पुदीना और तुलसी के पौधे के सामान ही बारह मासी पौधा है जिसको आसानी से कहीं भी उगाया जा सकता है। ओरिगैनो की टहनिया धारीदार और पतली लाइनों वाली होती हैं जो कि पत्तियों से ढकी हुई होती हैं। झाड़ीनुमा oregano के पौधे में हल्के बैगनी और सफ़ेद रंग के फूल देखने को मिलते हैं। यह फूल एक ही जगह पर अधिक संख्या में होते हैं इसलिए जब खिलते हैं तो छत्तरी की तरह दिखाई देते हैं।

ओरिगैनो के पौधे में टैनिन नामक आवश्यक तेल पाया जाता है। इस पौधे में लगने वाली पत्तियों और टहनियों का उपयोग मसालों,आयुर्वेदिक दवाओं सहित पशु चिकित्सा और सौंदर्य प्रसाधनो के रूप में उपयोग किया जाता है। ओरिगैनो का पौधा मुख्या रूप से ग्रीस और भूमध्य देशों के पर्वतीय क्षेत्रों में मूलतः पाया जाता है।

 

ओरिगैनो में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व | Nutrients of Oregano in Hindi

ओरिगैनो एक खास किस्म की जड़ी बूटी है इसमें पोटेशियम, सोडियम, फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड, फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड, जिंक, विटामिन सी, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी 6, फोलेट, विटामिन-ए, विटमिन ई, विटामिन k, विटामिन डी, कार्बोहाइड्रेट, पानी, ऊर्जा, प्रोटीन, कैल्शियम, ओमेगा फैटी एसिड्स, फाइबर, फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड, मैगनीज, आयरन, कॉपर, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं।

 

ओरिगैनो के विभिन्न नाम | Some other names of Oregano

जैसा कि हमें विदित है कि दुनिया में कई देश हैं और उनमे कई राज्य हैं। सब की बोलचाल की भाषा भी अलग-अलग है। इसलिए यह जानना भी जरुरी है कि किस राज्य में ओरिगैनो (Oregano) को क्या बोला जाता है।

ओरिगैनो के विदेशी नाम

ओरिगैनो का रुसी नाम – ओरिगैनो

ओरिगैनो का लैटिन नाम – ग्रीको

ओरिगैनो का फ्रेंच नाम – ऑरिगन

ओरिगैनो के भारतीय राज्यों में विभिन्न नाम

ओरिगैनो का हिन्दी नाम – सथ्रा (sathra), मर्जोरम (Marjoram)

ओरिगैनो का तमिल नाम – मरुवु (Maruvu)

ओरिगैनो का मलयालम नाम – काट्टुमरुआ

ओरिगैनो का यूनानी नाम – मरजानजोश (marzan-josh)

 

ओरिगैनो के फायदे | Benefits of Oregano in Hindi

oregano benefits in hindi

ओरिगैनो में कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो अच्छी सेहत के लिए लाभदायक होते हैं। ऊपर ओरिगैनो के विषय में अन्य जानकारी से अवगत होने के बाद आपके मन में भी यह विचार अवश्य ही उमड़ रहा होगा कि आखिर ओरिगैनो किस प्रकार शरीर को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होता है। तो देर किस बात आइये जानते हैं oregano के स्वास्थवर्धक फायदे।

 

1. मासिक धर्म के दर्द को कम करने में है लाभकारी

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के शरीर के भीतर कुछ अंदरूनी बदलाव होते हैं जिसकी वजह से लगभग चार से पांच दिन महिलाओं को दर्द का सामना करना पड़ता है। मासिक धर्म के चार से पांच दिनों में शरीर में ज्यादातर दर्द कमर, पेट, पैरों, जांघ, पेट के निचले हिस्से में होता है। यह समय महिलाओं को होने वाला दर्द तो एक आम बात है लेकिन असहनीय दर्द समस्या का कारण बनता है।

बता दें कि इस समस्या से छुटकार पाने के लिए आप ओरिगैनो यानी अजवाइन की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। ओरिगैनो में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल properties पाई जाती है जो दर्द को कम करने में फायदेमंद होती है। दर्द में राहत पाने के लिए आप ओरिगैनो की पत्तियों का काढ़ा बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। ओरिगैनो के काढ़े का सेवन करने के उपरांत निश्चित ही आपको मासिक दर्द से आराम मिलेगा।

 

2. शरीर में रक्त को जमने से रोके

अक्सर कई लोगों के शरीर में रक्त जम जाता है जिसे आम बोलचाल की भाषा में खून के थक्के (Blood clots) भी कहा जाता है। शरीर में खून जमने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि लगातार कई घंटों तक बैठकर काम करने से, शरीर में blood circulation घटने से या किसी चोट की वजह से शरीर में रक्त का स्त्राव रुक जाता है और खून के थक्के जमने लगते हैं। बता दें की यह कोई सामान्य बीमारी नहीं है अपितु एक भयंकर बीमारी है जिसकी वजह से कई बार लोगों की मौत भी हो जाती है इसलिए इस बीमारी को कभी भी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

यदि आपको या आपके किसी परिचित को खून के थक्के की शिकायत है तो आप ओरिगैनो की पत्तियों का तेल अथवा ओरिगैनो की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। चूँकि ओरिगैनो में vitamin k और प्रोटीन पाया जाता है यह रक्त स्त्राव को सही करने में सहायक होता है।

 

3. सूजन को करे कम

शरीर में सूजन किसी भी वजह से और कभी भी आ सकती है। लेकिन अक्सर जिन लोगों को सूजन की समस्या बनी ही रहती है उन लोगों को पोटैशियम की कमी, पानी की कमी, खून की कमी, और यहाँ तक की लीवर खराब होने जैसी समस्या भी हो जाती है। सूजन की समस्या से निजात पाने के लिए ओरिगैनो का प्रयोग करना बेहद लाभकारी होता है।

ओरिगैनो में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, पोटैशियम, इम्यूनोमॉड्यूलेटरी जैसे कई तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो सूजन को आसानी से कम करते हैं। ओरिगैनो की पत्तियों से तैयार पेस्ट या ओरिगैनो तेल का उपयोग सूजन वाले भाग पर करने से जल्द आराम मिलता है।

 

4. ओरिगैनो फ्लू रोगों में है फायदेमंद

गले में दर्द, सर्दी, खांसी, गले में खरास, सिरदर्द , बुखार, उल्टी, कफ जैसी समस्याएं बैक्ट्रिया के संक्रमण से होती हैं। ये सभी ऐसे रोग है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल जाते हैं इसलिए इन रोगों को Flu रोग की श्रेणी में रखा जाता है। ओरिगैनो एक ऐसी जड़ी बूटी है जो फ्लू रोगों से शरीर को बचाने में मदद करती है। ओरिगैनो में एंटी वायरल, एंटी एलर्जी, एंटीबैक्टीरियल तत्वों के आलावा इन्फ्लुएंजा गुण भी पाए जाते हैं जो शरीर को संक्रमित करने वाले बैक्ट्रिया को नष्ट कर देते हैं।

 

5. एनीमिया के रोगियों के लिए है फायदेमंद

एनीमिया रोग शरीर में खून की कमी की वजह से होता है। शरीर में आयरन और अन्य पोषक तत्वों की कमी होने के कारण हीमोग्लोबिन के स्तर में कमी आ जाती है और परिणाम स्वरुप हमारा शरीर anemia रोग से ग्रस्त हो जाता है। दोस्तों ओरिगैनो की पत्तियों में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो की hemoglobin के स्तर को बढ़ाता है। इससे हमारे शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ती है और एनीमिया रोग में आराम मिलता है। एनीमिया रोग से छुटकारा पाने के लिए आप ओरिगैनो का सेवन कर सकते हैं।

 

6. त्वचा संक्रमण को रोके

हानिकारक बैक्ट्रिया के संक्रमण की वजह से शरीर की त्वचा पर खाज खुजली, धब्बे के अतरिक्त चेहरे की त्वचा पर मुँहासे, लाल दाने, हो जाते हैं। इन बैक्ट्रिया को अगर समय पर समाप्त नहीं किया जाए तो यह दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जाते हैं जिसकी वजह से त्वचा sensitive और dull हो जाती है। Oregano में एंटीमाइक्रोबियल, एंटी इंफ्लेमेटरी, इम्यूनोमॉड्यूलेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो शरीर की त्वचा पर होनी वाली समस्त परेशानियों से निजात दिलाने में सहायक होते हैं।

 

7. बालों की समस्याओं के लिए है फायदेमंद

बालों को भी त्वचा की तरह ही कई रोगों का सामना करना पड़ता है। बालों में रुसी का होना, खुजली होना, रुखापन होना यह सभी बालों को कमजोर बनाने के आलावा बालों की चमक भी छीन लेता है। यदि आप भी बालों से सम्बंधित इन में किसी भी समस्या से जूझ रहे हैं तो आप ओरिगैनो का उपयोग कर सकते हैं। ओरिगैनो में विटामिन ई, विटामिन सी, प्रोटीन, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम जैसे कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो बालों की सभी समस्याओं का अंत करके बालों को स्वस्थ और मजबूत बनाने में मदद करते हैं।

 

8. पेट से सम्बंधित समस्याओं से दिलाए निजात

पेट खराब होने का सीधा प्रभाव शरीर के पाचन तंत्र (Digestive System) पर पड़ता है। पाचन तंत्र के खराब होने की वजह से स्वस्थ व्यक्ति भी स्वयं को अस्वस्थ महसूस करता है क्योंकि पाचन तंत्र की खराबी के कारण व्यक्ति को गैस, कब्ज, उल्टी, गले में जलन जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। पेट को सही रखने के लिए oregano बेहद फायेदमंद औषधि है। ओरिगैनो में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक पाई जाती है जो की पेट के समस्त विकारों को दूर करने में मदद करते हैं।

 

ओरिगैनो के अन्य लाभ | Some Other Benefits of Oregano in Hindi

oregano image

1. ओरिगैनो के इस्तमाल से आप कई तरह के कैंसर से अपनी रक्षा कर सकते हैं क्योंकि ओरिगैनो में एंटीबैक्टेरियल, एंटी इंफ्लेमेटरी और फाइबर पाया जाता है। यह कैंसर को पैदा करने वाले टॉक्सिन को शरीर से बहार निकाल देते हैं।

नोट : यह उपाय कैंसर जैसी घातक बिमारी होने से रोकता है ना कि कैंसर हो जाने के बाद उसे ठीक करता है। कैंसर मरीज अपने डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी दवाई या चीज का सेवन ना करें।

2. ओरिगैनो में मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन सी पाया जाता है जो ह्रदय को स्वस्थ बनाता हैं।

3. ओरिगैनो में Vitamin K और Vitamin D प्रचुर मात्रा में पाया जाता जो हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाता है।

4. ओरिगैनो के सेवन से Glucose और Insulin के बढ़े हुए मात्रा को कम करके मधुमेह रोग को नियंत्रित किया जा सकता है।

5. ओरिगैनो में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो शरीर के तनाव और थकान को कम करती है।

6. ओरिगैनो में विटमिन ई पाया जाता है जो आँखों के लिए बेहद लाभकारी होता है।

 

ओरिगैनो का उपयोग | Uses of Oregano in Hindi

oregano uses in hindi

दोस्तों अभी तक आपने ओरिगैनो का उपयोग केवल पिज्जा, कटोरी चाट, बर्गर आदि में ही किया होगा लेकिन स्वस्थ को सेहतमंद बनाने के लिए आपने ओरिगैनो का उपयोग नहीं किया होगा। इसलिए अब आपको बताते है कि सेहत को सही बनाने के लिए आप ओरिगैनो का कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

1. ओरिगैनो की ताज़ी पत्तियों का जूस बनाकर आप इसका सेवन कर सकते हैं।

2. ओरिगैनो के ताजे पत्तों का उपयोग आप प्रतिदिन सलाद के रूप में कर सकते हैं।

3. ओरिगैनो की सुखी पत्तियों का काढ़ा बनाकर आप इसका उपयोग कर सकते हैं।

4. ओरिगैनो का सेवन आप चाय के रूप में कर सकते हैं।

5. ओरिगैनो का उपयोग आप तेल के रूप कर सकते हैं।

6. ओरिगैनो की पत्तियों का पेस्ट बनाकर उपयोग कर सकते हैं।

 

ओरिगैनो के नुकसान | Side Effects of Oregano in Hindi

दोस्तों एक तरफ ओरिगैनो के स्वास्थवर्धक लाभ हैं तो वहीं दूसरी तरफ इसके नुकसान भी हैं। इसलिए ओरिगैनो के फायदों को जानने के बाद आइये ओरिगैनो के से होने वाले नुकसानों के बारे में जानते हैं।

1. ओरगेनो का अत्यधिक सेवन करने से पेट ख़राब हो जाता है।

2. गर्भवती महिलाओं को ओरिगैनो का सेवन नहीं करना चाहिए इसके सेवन से गर्भपात हो सकता है।

3. किसी भी तरह की एलर्जी वाले लोगों को चिकत्सक के परामर्श लेने के बाद ही ओरिगैनो का इस्तेमाल करना चाहिए।

4. ओरिगैनो तेल का इस्तेमाल सेंसटिव वाली स्किन पर नहीं करना चाहिए एवं शरीर पर तेल का उपयोग करने से पहले ओरिगैनो के तेल में नारियल का तेल मिलाने के बाद ही उपयोग करना चाहिए।

5. किसी भी तरह की सर्जरी के पहले और सर्जरी होने के बाद ओरिगैनो का उपयोग नहीं करना चाहिए।

6. स्तनपान करने वाली महिलाओं को ओरिगैनो का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

7. मधुमेह के रोगियों को चिक्तिसक का परामर्श लेकर ही ओरिगैनो का सेवन करना चाहिए।

8. किसी भी तरह की चोट लगने के बाद ओरिगैनो का उपयोग नुकसानदायक होता है।

 

तो दोस्तों ये थी ओरिगैनो (Oregano in hindi) से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप ओरिगैनो के समस्त फायदे और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here