black salt in hindi

About Black Salt in Hindi: नमक रसोई का राजा होता है क्योंकि आप कितना भी स्वादिष्ट खाना क्यों न बना लें बगैर नमक के सब स्वादहीन ही लगेगा। यही वजह है की प्रत्येक घर की रसोई में नमक मौजूद होता है। यूँ तो हमारी रसोई में कई प्रकार के नमक पाए जाते हैं लेकिन आज विशेषकर हम आप से काला नमक (Black Salt) की बात करने वाले हैं। प्रायः काला नमक का उपयोग केवल व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। लेकिन आपको बता दें कि सदियों से काला नमक का प्रयोग आयुर्वेद में दवाई के रूप में होता रहा है।

अतः काला नमक सेहत के लिए बेहद गुणकारी है जो कई प्रकार के रोगों से छुटकारा दिलाने की शक्ति रखता है। इसलिए आज के लेख में हम आपसे काला नमक के फायदे और इसकी कुछ और महत्पूर्ण जानकारी साझा करने वाले हैं जिनसे अवगत होने के पश्चात यकीनन आप सफेद नमक की तरह ही काला नमक का उपयोग नियमित रूप से करने लगेगें।

 

Page Contents

क्या होता है काला नमक | What is Black Salt in Hindi

यूँ तो अमूनन लोगों ने काला नमक को देखा होगा लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होंगे जो black salt से परिचित नहीं होंगे। इसलिए आपको बता दें कि काला नमक एक तरह का रॉक साल्ट होता है जिसका रंग हल्का काला, ब्राउन और गुलाबी होता है। दिलचस्प बात यह है कि काला नमक को महीन करने पर इसका रंग गुलाबी हो जाता है। काला नमक की स्वाद की बाद करें तो इस नमक का स्वाद नमकीन, खारा व तीखा होता है।

काला नमक की तासीर :

काला नमक की तासीर के सबंध में बेहद ही कम लोग जानते हैं। यदि आप काला नमक की तासीर को नहीं जानते हैं तो आपको बता दें कि इसकी तासीर ठंडी होती है।

 

काला नमक के प्रकार | Types of Black Salt in Hindi

black salt types in hindi

दोस्तों मुख्य से काला नमक तीन प्रकार में पाया जाता है। आखिर काला नमक के प्रमुख रूप से पाए जाने वाले ये तीन प्रकार कौनसे हैं आइये जानते हैं।

 

1. ब्लैक लावा साल्ट | Black Lava Salt

ब्लैक लावा साल्ट को हवाईयन (Hawaiian) ब्लैक सॉल्ट के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि काला नमक के इस प्रकार का रंग गहरा काला होता है लेकिन इसका स्वाद में यह लजीज होता है।

 

2. हिमालयन नमक | Himalayan salt

हिमालयन नमक को सेंधा नमक और भारतीय काला नमक के नाम से जाना जाता है। यह एक प्रकार का खनिज नमक है जिसका रंग हल्का भूरा व गुलाबी होता है। यदि इसके स्वाद की बात की जाये तो हिमालयन नमक का स्वाद खारा होता है एवं इस प्रकार के नमक का इस्तेमाल अधिकतर व्रतों में किया जाता है।

 

3. विच साल्ट | Black Ritual Salt

विच साल्ट को काला रिचुअल नमक के नाम से भी जाना जाता है। दिलचस्प बात यह कि इस प्रकार के नमक को समुद्री लकड़ी के कोयला और राख से तैयार किया जाता है जिसका उपयोग खाने के लिए नहीं किया जाता है।

 

काला नमक में मौजूद पौष्टिक तत्व | Nutrients of Black Salt in Hindi

काला नमक एक स्वास्थ्यवर्धक गुणकारी नमक है जिसमें मुख्य रूप में आयरन, पोटैशियम, सोडियम, क्लोराइड, सोडियम सल्फेट, सोडियम बाइसल्फेट, सोडियम बाईसलफाइट, सोडियम सल्फाइड, लोहा सल्फाइड, हाइड्रोजन सल्फाइड, प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, कैल्शियम, हाइड्रोक्लोरिक एसिड, एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

 

काला नमक के विभिन्न नाम | Some Other Names of Black Salt

दोस्तों काला नमक एक हिंदी नाम है जिससे हम भलीभांति परिचित हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि अन्य भाषाओं में इसे कई प्रकार के नामों से भी जाना जाता है। यदि आप काला नमक के अन्य भाषाई नामों को नहीं जानते हैं तो देर किस बात की चलिए इसके अन्य नाम भी जान लेते हैं।

अंग्रेजी में काला नमक का नाम – ब्लैक साल्ट

गुजरती में काला नमक का नाम – मीठू

नेपाली में काला नमक का नाम – नुन

बंगाली में काला नमक का नाम – लबन

मराठी में काला नमक का नाम – मीठ

मलयालयम में काला नमक का नाम – सुलेमानी

 

काला नमक के जबरदस्त फायदे | Benefits of Black Salt in Hindi

black salt benefits in hindi

दोस्तों काला नमक में कई प्रकार के खनिज व मिनरल्स पाए जाते हैं जो शरीर के छोटे-छोटे रोगों को ठीक करने में तो सहायक होते ही हैं साथ ही अनेक प्रकार के गंभीर रोगों को भी नियंत्रित करने में प्रभावी हैं। यदि आप अभी तक काला नमक से होने वाले स्वास्थवर्धक फायदों से अनजान हैं तो चलिए देर किए बगैर आपको इनके बारे में विस्तार से बताते हैं।

 

1. कब्ज रोग से काला नमक दिलाता है निजात

कब्ज की समस्या दिन-व-दिन बढ़ती ही जा रहा है एवं वर्तमान समय में केवल बुजुर्ग ही कब्ज की समस्या से पीड़ित नहीं हैं बल्कि युवा व बच्चे भी इसका शिकार बन रहे हैं। चूँकि वर्तमान समय में कई लोग कब्ज से जूझ रहे हैं जिसमें से कुछ गलत दिनचर्या की वजह से इसका शिकार बन जाते हैं तो कुछ लोग गलत खान पान की वजह से कब्ज रोग की चपेट में आ जाते हैं।

यदि आप भी कब्ज रोग से पीड़ित हैं तो आप कब्ज से निजात पाने के लिए काला नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें कि काला नमक को अजवाइन और जीरे के साथ मिलकर सेवन करने से इससे छुटकारा मिलता है।

 

2. मांसपेशियों के लिए काला नमक होता है फायदेमंद

हड्डियों की तरह ही मांसपेशियां भी शरीर का एक अहम हिस्सा होती हैं। इसलिए कई लोग मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए वर्कआउट करते हैं। लेकिन कई लोग ऐसे भी होते हैं जो व्यस्त जीवनशैली की वजह से व्यायम नहीं कर पाते हैं व संतुलित आहार का सेवन नहीं करते हैं जिसकी वजह से मांसपेशियां कमजोर होने के साथ कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त हो जाती हैं।

आपको बात दें कि मांसपेशियों को मजबूत और अन्य रोगों से छुटकारा पाने के लिए आयुर्वेद में काला नमक का उपयोग किया जाता है। दरअसल काला नमक में मैग्नीशियम कैल्शियम व प्रोटीन सहित कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो मांसपेशियों को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होते हैं।

 

3. पेट में होने वाली ऐंठन से दिलाए छुटकारा

पेट में ऐंठन होने वाली समस्या से कभी न कभी प्रत्येक व्यक्ति को सामना करना पड़ता है। दरअसल गलत खान पान की वजह से या फिर पेट में गैस बनने की वजह से पेट में ऐंठन होने लगती है जिसके कारण पेट में दर्द होने लगता है। हालाँकि पेट में ऐंठन होना एक प्रकार की सामान्य समस्या है जिसका उपचार अधिकतर लोग घरेलु उपायों की मदद से ही करते हैं।

दोस्तों यदि आप भी घरेलु उपायों की मदद से पेट की ऐंठन से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप काला नमक का उपयोग कर सकते हैं। काला नमक का अजवाइन और हींग के साथ चूर्ण बनाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट में होने वाली ऐंठन से निजात पा सकते हैं।

 

4. दांतों को चमकीला और स्वस्थ बनाने में है दमदार

चमकीले और स्वस्थ दांत व्यक्ति के आकर्षण का प्रतीक माने जाते हैं। लेकिन दांतों की ठीक प्रकार से सफाई नहीं करने की वजह से दांत पीले और अस्वस्थ हो जाते हैं जो व्यक्ति के सौंदर्य को तो कम करते ही हैं साथ ही शरीर के लिए कष्टदायक भी होते हैं। चूँकि दांतों से सम्बंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए अक्सर लोग तरह-तरह के टूथपेस्ट व दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं जो दांतों को पूर्ण रूप से स्वस्थ बनाने में कारगर नहीं होते हैं। लेकिन यदि आप देशी उपाय की मदद से दांतों को निरोगी बनाना चाहते हैं तो आप काला नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दरअसल काला नमक में कई प्रकार के खनिज पए जाते हैं जो मुँह की दुर्गन्ध, दांतों का पीलापन, दांतो का दर्द आदि परेशानियों से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद होते हैं। मुँह की दुर्गन्ध, दांतों का पीलापन व दांतो का दर्द इन सब समस्याओं से निजात पाने के लिए व दांतों को चमकीला बनाने के लिए आप काला नमक, हल्दी और सरसों तेल का उपयोग मंजन के रूप में कर सकते हैं।

 

5. वजन को कम करने में काला नमक है फायदेमंद

वर्तमान समय में लोग फिट रहना पसंद करते हैं। इसलिए जरा सा वजन बढ़ने पर चिंतित हो जाते हैं एवं वजन को कम करने वाले तमाम तरह के उपायों की खोज में लग जाते हैं। यदि आपका भी वजन बढ़ गया है या फिर आप अपने वजन को सामान्य रखना कहते हैं तो आप काला नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दरअसल काला नमक में सोडियम की मात्रा तो कम पाई ही जाती साथ ही काला नमक में अनेक प्रकार के औषधीय तत्व भी पाए जाते है जो वजन को कम करने व नियंत्रित रखने में लाभकारी होते हैं। सुबह खली पेट नींबू या किसी भी प्रकार के जूस के साथ काला नमक का उपयोग वजन कम करने के लिए किया जा सकता है।

 

6. भोजन को पचाने में होता है सहायक

अनियमित दिनचर्या व असंतुलित खान पान की वजह से लोगों का पाचन तंत्र खराब हो जाता है जिसकी वजह से भोजन ठीक प्रकार से नहीं पच पाता है। बता दें कि जब भोजन ठीक प्रकार से नहीं पचता है तो कई प्रकार की शारीरिक समस्याएँ उत्पन्न हो जाती हैं जैसे कि पेट में दर्द होना, गैस बनना, डकारें आना, पेट फूलना, उल्टी होना, घबराहट होना, भूख कम हो जाना या फिर कब्ज का होना आदि।

यदि आप भी भोजन नहीं पचने की समस्या से पीड़ित हैं तो आप काला नमक का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल काला नमक में हाइड्रोक्लोरिक एसिड पाया जाता है जो पाचन में सुधर करके भोजन को पचने में मदद करता है।

 

7. सूजन को कम करने में होता है लाभकारी

कभी किसी चोट के लगने के कारण या फिर स्वास्थ के प्रति लापरवाही अनदेखी करने से शरीर के किसी भी अंग में सूजन आ जाती है जिसकी वजह से अधिकतर लोगों अपने दैनिक कार्यों को ठीक प्रकार से नहीं कर पाते हैं। हालाँकि सूजन आना एक आम समस्या है जिसका उपचार साधारण तरीकों से किया जा सकता है। लेकिन यदि सूजन बार-बार आती है तो इसका आना किसी बड़ी बीमारी का संकेत हो सकता है इसलिए इसका उपचार जल्द से जल्द करवाना उचित माना जाता है।

यदि आप भी सूजन की समस्या से पीड़ित हैं तो आप काला नमक का उपयोग कर सकते हैं। काला नमक को गर्म करके सूती कपड़े में बांधकर या गुनगुने पानी में काला नमक डालकर सिकाई करने से सूजन को कम किया जा सकता है।

 

काला नमक के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Black Salt in Hindi

kala namak ke fayde

1. काला नमक में एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो त्वचा के कई प्रकार के त्वचा संबधी रोगों को ठीक करने में फायदेमंद होते हैं।

2. काला नमक सेराटोनिन हॉर्मोन को बढ़ाने में सहायक होता है जिसकी वजह से काला नमक तनाव कम करने में भी फायदेमंद नमक माना जाता है।

3. काला नमक में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत रखने में असरदार होता है।

4. काला नमक अनिद्रा की समस्या से छुटकारा दिलाने में प्रभावी होता है।

5. गैस की समस्या से निजात दिलाने में काला नमक फायदेमंद होता है।

6. आँखों को स्वस्थ रखने में काला नमक लाभकारी माना जाता है।

 

काला नमक का उपयोग | Uses of Black Salt in Hindi

black salt uses in hindi

काला नमक का स्वाद लजीज होता है जिसका उपयोग आप कई प्रकार से कई रूपों में कर सकते हैं। यदि आपको काला नमक का उपयोग करना नहीं आता है तो चिंतित होने की आवश्यकता नहीं हैं क्योंकि अब हम आपको बताने वाले हैं कि काला नमक का इस्तेमाल किस प्रकार से किया जा सकता है।

1. टमाटर, गाजर सूप, मिक्स वेजिटेबल सूप में डालकर आप काला नमक का उपयोग कर सकते हैं।

2. चटनी के रूप में आप काला नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. साबूदाना अथवा अन्य किसी भी प्रकार की खिचड़ी में आप काला नमक का उपयोग कर सकते है।

4. सलाद में काला नमक का उपयोग किया जाता है।

5. जूस में काला नमक का इस्तेमाल किया जा सकता है

6. नीबूं शिकंजी में आप काला नमक का उपयोग कर सकते हैं।

 

काला नमक के नुकसान | Side Effects of Black Salt in Hindi

काला नमक से होने वाले फायदों का लाभ आप केवल इसकी संतुलित मात्रा का प्रयोग करके ही उठा सकते हैं। अतः काला नमक का उपयोग असंतुलित मात्रा में करने से कई प्रकार के शारीरिक नुकसान हो सकते हैं। इसलिए अब हम आपको काला नमक से होने वाले नुकसानों की जानकारी देने वाले हैं।

1. काला नमक का अधिक उपयोग करने से किडनी से संबधित परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं।

2. हाईब्लड प्रेशर से पीड़ित रोगियों के लिए काला नमक का उपयोग नुकसानदायक साबित हो सकता है।

3. काला नमक में सोडियम पाया जाता है जो पथरी से पीड़ित लोगों के लिए हानिकारक हो सकता है।

4. काला नमक का अधिक इस्तेमाल करने से ह्रदय रोगों का खतरा बढ़ सकता है।

 

तो दोस्तों ये थी काला नमक (black salt in hindi) से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप काला नमक के फायदे और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here