blueberry in hindi

About Blueberry in Hindi: आप ने कई तरह के फल खाए होंगे लेकिन आज हम जिस फल की आप से बात कर रहे हैं उसका नाम आप ने पहले शायद ही कभी सुना हो। जी हाँ बात हो रही है blueberry की जिसे हिंदी में नीलबदरी भी कहा जाता है। यह फल दिखने में आपको जामुन (black plum) की तरह लग रहा होगा परन्तु बता दें यह जामुन से एकदम अलग है। दरअसल ब्लूबेरी एक विदेशी फल है इसलिए भारत में इसे कम ही लोग जानते हैं। ब्लूबेरी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक फल भी है एवं इस फल में अन्य फलों और सब्जियों की तुलना में अत्यधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। अगर आप blueberry और इसके फायदों से परिचित नहीं है तो इस लेख को पूरा पढ़िए यहाँ इसकी विस्तृत जानकारी साझा की गई है।

 

Page Contents

आखिर क्या है ब्लूबेरी | What is Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी बारहमासी झाड़ी में लगने वाला एक छोटा सा फल है। इसका वैज्ञानिक नाम वैक्सीनियम क्यानोकॉकस (Vaccinium Cyanococcus) है। ब्लूबेरी का पौधा Ericaceae परिवार से सम्बंधित पौधा है जो लगभग चार सेंटीमीटर तक लम्बा होता है। Blueberry पौधे में सफ़ेद, लाल, पीले रंग के फूल लगते हैं जो कि देखने में कटोरी की भांति नजर आते हैं। ब्लूबेरी फल गोल मोती की तरह दिखाई देता है अतः इस फल का आकार गोल और रंग नीला होता है। नीले रंग की वजह से ही ब्लूबेरी को नीलबदरी के नाम से भी जाना जाता है।

Blueberry खाने में बेहद स्वादिष्ट लगता है। इसका स्वाद खट्टा और हल्का मीठा होता है। बता दें की ब्लूबेरी फल अपने कई रंग बदलता है अर्थात कच्चे ब्लूबेरी फल का रंग पीला और हरा होता है। जबकि हल्का पकने के बाद ब्लूबेरी फल का रंग लाल बैंगनी हो जाता है और सम्पूर्ण तरीके से पकने के बाद ब्लूबेरी का रंग गहरा बैंगनी और नीला हो जाता है।

 

ब्लूबेरी का सर्वाधिक उत्पादन कहाँ होता है | Where did Blueberry found

blueberry plant in hindi

ब्लूबेरी मूल रूप से अमेरिका का फल है लेकिन इसका उत्पादन अब विश्व के कई देशों में होने लगा है। यदि सर्वाधिक उत्पादन की बात करें तो विश्व में सबसे अधिक ब्लूबेरी का उत्पादन आज भी उत्तरी अमेरिका में किया जाता है। इसके अलावा पोलैंड, कनाडा, जर्मनी और नीदरलैंड में भी ब्लूबेरी का उत्पादन उच्च मात्रा में किया जाता है। बता दें कि वाणिज्यिक उत्पादन के अंतर्गत ब्लूबेरी की छोटी प्रजातियों को कम बुश ब्लूबेरी (Lowbush blueberry) के नाम से एवं ब्लूबेरी की बड़ी प्रजातियों को उच्च बुश ब्लूबेरी (Highbush blueberry) के नाम से जाना जाता है।

 

ब्लूबेरी में पाए जाने वाले पोषक तत्व | Nutrients of Blueberry in Hindi

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा इंस्टीट्यूट ऑफ फूड एंड एग्रीकल्चरल साइंसेज के शोध के अनुसार ब्लूबेरी में अनेक प्रकार के खनिज और विटामिन्स पाए जाते हैं जो कैंसर, डायबिटीज, मोटापा, कोलस्ट्रोल जैसी कई बिमारियों के लिए फायदेमंद होते हैं।

ब्लूबेरी में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों की बात करें तो बता दें इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन बी 6, फोलेट, पोटेशियम, विटामिन K, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, मैंगनीज, कॉपर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फैटी एसिड सैचुरेटेड, फैटी एसिड पॉलीअनसैचुरेटेड, फैटी एसिड मोनोअनसैचुरेटेड, थियामिन, Riboflavin, फोलेट, विटामिन-ए, विटमिन ई, पानी, ऊर्जा, प्रोटीन, Antimicrobial, एंटी इंफ्लेमेटरी (anti inflammatory), सेलेनियम (Selenium) तत्व पाए जाते हैं जो स्वास्थ के लिए गुणकारी और फायदेमंद होते हैं।

 

ब्लूबेरी फल के विभिन्न प्रकार | Types of Blueberry in Hindi

blueberry types

औषधिये गुणों से युक्त blueberry फल दुनियाभर में लोकप्रिय फल है जो विश्व में एक नहीं बल्कि कई रूपों में पाया जाता है। इसके अनेकों प्रकारों को जानने के बाद आप निश्चित ही इसके अलग-अलग प्रकारों को उपयोग करना चाहेंगे। तो चलिए डालते हैं एक नजर ब्लूबेरी के विभिन्न रूपों पर।

 

1. हाईबश ब्लूबेरी | Highbush blueberry

Highbush blueberry दो अलग-अलग प्रकार की होती हैं। एक होती है दक्षिणी हाईबश ब्‍लूबेरी (Southern highbush blueberry) और दूसरी उत्तरी हाईबश (Northern highbush blueberry) ब्‍लूबेरी। उत्तरी हाईबश ब्‍लूबेरी के अंतर्गत blueberry के जर्सी, हार्डीब्लू, लिगेसी, ब्‍लूगोल्‍ड, पेट्रियट, ब्‍लूक्रॉप, मर्फी, रुबेल आदि प्रकार पाए जाते हैं। जबकि दक्षिणी यानी कि Southern highbush blueberry के अंतर्गत शार्पब्लू, ऑनईल, मिस्टी, गोल्फ कोस्ट, सनशाइन ब्लू आदि प्रकार पाए जाते हैं। ब्लूबेरी की अन्य किस्मों की तुलना में हाईबश ब्लूबेरी में अत्यधिक मात्रा में विटामिन्स और खनिज तत्व पाए जाते हैं जिसकी वजह इसको उच्च रोग प्रतिरोधी माना जाता है।

 

2. लोबश ब्‍लूबूरी | Lowbush blueberry

Lowbush blueberry को अमेरिका और कनाडा में उगाया जाता है। ब्लूबेरी की इस प्रजाति के फल मीठे और स्वादिष्ट होते हैं। ब्लूबेरी की तुलना में लोबश ब्‍लूबूरी का पौधा छोटा होता है इसलिए इस पौधे को सजावट के रूप में घर के बगीचे में भी लगाया जा सकता है। लोबश ब्‍लूबूरी की टॉप हेड और रूबी कार्पेट नमक प्रजाति पाई जाती हैं।

 

3. रैबिटआई ब्‍लूबेरी | Rabbiteye Blueberry

Rabbiteye Blueberry दक्षिण अमेरिका में अत्यधिक लोकप्रिय फल है एवं इस प्रजाति के पौधे 6 से 10 मीटर तक लम्बाई वाले होते हैं। रैबिटआई ब्लूबेरी पौधों को ग्रीष्मकाल वाले क्षेत्रों में भी आसानी से लगाया जा सकता है। Rabbiteye Blueberry के अंतर्गत ब्लूबेरी के टिफब्लू, क्लाइमेक्स, प्रीमियर, ब्राइटवेल आदि प्रकार पाए जाते हैं।

 

4. हाफ-हाई ब्‍लूबेरी | Half-high blueberry

हाफ-हाई ब्‍लूबेरी एक उच्च किस्म की प्रजाति होती है जिसको उच्च तापमान में भी उगाया जा सकता है। यह 35-45 डिग्री तक तापमान में भी बढ़ता है। हाफ-हाई ब्‍लूबेरी का पौधा लगभग तीन से चार फीट तक लम्बा होता है। यह लोबश ब्‍लूबेरी और उत्तरी हाईबश ब्‍लूबेरी से मिश्रित पौधा होता है। Half-high blueberry के अंतर्गत ब्लूबेरी के पोलरिस, नार्थस्काई, ब्लूगोल्ड, पेट्रियट आदि प्रकार पाए जाते हैं।

 

ब्लूबेरी के शानदार फायदे | Benefits of Blueberry in Hindi

blueberry benefits in hindi

खट्टे मीठे स्वाद वाला ब्लूबेरी स्वास्थ और सेहत के लिए बेहद ही लाभकारी है। एन्टीऑक्सडेंट युक्त ब्लूबेरी में मोटापा, डायबिटीज, कैंसर आदि गंभीर रोगों से लड़ने की क्षमता पाई जाती हैं। लेकिन ज्यादातर लोग blueberry के फायदों से अनजान हैं इसलिए ब्लूबेरी का उपयोग अन्य फलों की अपेक्षा कम किया है। यदि आप भी ब्लूबेरी के फायदों से अब तक परिचित नहीं हैं तो चलिए आज आपको ब्लूबेरी से होने वाले फायदों के बारे में बारीकी से बताते हैं।

 

1. मेमोरी को बढ़ाये ब्लूबेरी

ब्लूबेरी मस्तिष्क के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। ब्लूबेरी में कई तरह के मिनरल्स, विटामिन्स पाए जाते हैं जो मस्तिष्क के लिए सुरक्षा कवच की तरह काम करते हैं अर्थात मस्तिष्क को स्वस्थ बनाने में कारगार होते हैं। Blueberry में पाया जाने वाला तत्व फाइटो न्यूट्रीएंट मस्तिष्क की सभी कोशिकाओं को सक्रिय बनाता है। ब्लूबेरी में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो मेमोरी यानी यादाश्त को बढ़ाता है। इसके अतरिक्त ब्लूबेरी में Anthocyanin नामक गुण भी पाया जाता है जो मस्तिष्क की कोशिकाओं में रक्त संचार को ठीक करके मस्तिष्क से सम्बन्धी अन्य विकारों को सही करने में मदद करता है।

 

2. ब्लूबेरी से बनाये हड्डियों को स्वस्थ और निरोगी

मानव शरीर को स्वस्थ रखने में हड्डियों का विशेष योगदान होता है। स्वस्थ हड्डियों की वजह से मानव कठिन परिश्रम करने में सक्षम होता है। कमजोर हड्डियों से मनुष्य अपने आप को असहाय और लाचार महसूस करने लगता है इसलिए हड्डियों को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखना बेहद आवश्यक होता है। कैल्शियम, vitamin D, मैग्नीशियम, पोटैशियम, प्रोटीन हड्डियों को मजबुत और निरोगी बनाते हैं। blueberry में यह सभी तत्व उच्च मात्रा में पाए जाते हैं जो हड्डियों से सम्बंधित कई तरह के विकारों को दूर करके हड्डियों को स्वस्थ बनाने में सहायता करते हैं।

 

3. ब्लूबेरी लम्बे समय तक बनाये रखता है जवान

हमेशा जवान और खूबसूरत दिखने की चाह हर व्यक्ति के अंदर होती है इसलिए वह बढ़ती उम्र को छुपाने के लिए मार्केट में उपलब्ध कई तरह की एंटी एजिंग कॉस्मेटिक क्रीमों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन कॉस्मेटिक क्रीमों में कई तरह के केमिकल होते हैं जो त्वचा की कुदरती खूबसूरती को नुकसान पहुंचाते हैं। इसीलिए हमेशा प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए।

Blueberry में एंटीऑक्सीडेंट, anti inflammatory और कई पौष्टिक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो बढ़ती हुई उम्र के निशानों को रोककर त्वचा को चमकदार और जवान बनाते हैं। त्वचा को ग्लोइंग बनाने के लिए प्रतिदिन ब्लूबेरी का सेवन करने के आलावा आप ब्लूबेरी का पेस्ट बनाकर भी अपने शरीर की त्वचा पर लगा सकते हैं।

 

4. कोलस्ट्रोल को कम करे ब्लूबेरी

बड़ा हुआ cholesterol ह्रदय के लिए बेहद घातक होता है इसलिए कोलस्ट्रोल को नियंत्रण करना बहुत ही जरुरी होता है। बड़े हुए कलेस्ट्रॉल को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए सबसे बेहतर विकल्प ब्लूबेरी है। blueberry में फाइबर, विटमिन सी फोलेट एसिड और विटामिन ए पाया जाता है जो बड़े हुए कोलस्ट्रोल को कम करके LDL cholesterol के स्तर को ठीक करने में सहायता करते हैं। ब्लूबेरी में अत्यधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाया जाता है जो रक्त नलिकाओं को मजबूत बनाकर कोलस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है।

 

5. हृदय को स्वस्थ बनाता है ब्लूबेरी

अस्वस्थ ह्रदय का मुख्य कारण पौष्टिक तत्वों की कमी और दिनचर्या का ख़राब होना माना है। इसलिए वर्तमान समय में ह्रदय से सम्बंधित समस्याओं में दिन प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। कई लोग अपनी दिनचर्या और खान पान में बदलाव तो करना चाहते हैं लेकिन व्यस्त और भागदौड़ वाली जीवनशैली की वजह से बदलाव नहीं कर पाते हैं। यदि आप भी भागदौड़ वाली जिंदगी जी रहे हैं तो आप ह्रदय को स्वस्थ बनाने के लिए blueberry का इस्तेमाल कर सकते हैं। कई शोधकर्ताओं का मत है कि ब्लूबेरी ह्रदय को स्वस्थ बनाने में मदद करता है। ब्लूबेरी में विटामिन k, विटामिन डी, फाइबर पाया जाता है जो cholesterol को नियंत्रित करके heart को स्वस्थ और मजबूत बनाता है।

 

6. मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है ब्लूबेरी

ब्लूबेरी मधुमेह रोगियों के लिए गुणकारी औषधि है। ब्लूबेरी में Anti diabetic तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में बड़े हुए अतरिक्त रक्त शर्करा के स्तर को कम करते हैं। दोस्तों शरीर में रक्त शर्करा के कम होने से मधुमेह रोग में आराम मिलता है। इसके अतरिक्त ब्लूबेरी में anthocyanin तत्व पाया जाता है जो सम्पूर्ण शरीर में blood sugar के संतुलन को बनाये रखता है। ब्लूबेरी का जूस मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।

 

7. कैंसर रोग में फायदेमंद है ब्लूबेरी

दोस्तों कैंसर एक घातक और गंभीर बीमारी होती है जिसके कई प्रकार होते हैं। हालाँकि ब्लूबेरी के सेवन से कैंसर को ठीक तो नहीं किया जा सकता लेकिन ब्लूबेरी के सेवन से कैंसर के खतरे से शरीर को बचा सकते हैं। ब्लूबेरी का छोटा सा फल बड़े बड़े रोगों से लड़ने में मदगार होता है। ब्लूबेरी में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी, कॉपर और एंटीकैंसर गुण पाए जाते हैं जो कई तरह के कैंसर से शरीर को बचाने में मदद करते हैं।

 

8. पेट की बड़ी हुई चर्बी को करे कम

कई बार मोटापे से पीड़ित व्यक्ति बहुत मेहनत के बाद अपना वजन तो कम कर लेते हैं लेकिन पेट की बड़ी हुई चर्बी को कम करने में असमर्थ रहते हैं। बता दें की ब्लूबेरी आपकी चर्बी को कम करने में मदद कर सकती है। ब्लूबेरी में बेहद ही कम मात्रा में calorie होती है साथ ही इसमें फाइबर, विटामिन सी, कैल्शियम प्रमुख रूप में पाया जाता है। फाइबर, विटामिन सी, कैल्शियम को चर्बी कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए blueberry को वजन और पेट की बड़ी हुई चर्बी को कम करने वाला असरकारी फल माना जाता है।

 

9. आँखों के लिए गुणकारी है ब्लूबेरी

आँखों को स्वस्थ रखने के लिए आप ब्लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। ब्लूबेरी आँखों के लिए अत्यंत ही गुणकारी फल है। यह न सिर्फ आँखों के retina को स्वस्थ बनाता है बल्कि आँखों की रोशनी को भी बढ़ाता है। blueberry में विटामिन डी, विटामिन ई और विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो आँखों के नीचे पड़े काले घेरे और झुर्रियों का नष्ट करने में मदद करते हैं।

 

ब्लूबेरी के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Blueberry in Hindi

1. ब्लूबेरी में फाइबर मुख्य रूप से पाया जाता है जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है।

2. प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटमिन ई तत्व ब्लूबेरी में उच्च मात्रा में पाए जाते हैं जो बालों को मजबूत मनाने में फायदेमंद होते
हैं।

3. ब्लूबेरी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बेहद लाभकारी फल है।

4. ब्लूबेरी में फाइबर की मात्रा पाई जाती है जो शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करता है।

5. ब्लूबेरी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो यूरिन इन्फेक्शन को कम करने में मदद करता है।

6. ब्लूबेरी एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाए जाते हैं अतः ब्लूबेरी के इस्तेमाल से सूजन, थकान और मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत मिलती है।

7. ब्लूबेरी में पाए जाने वाले तत्व त्वचा को मुहांसों और झुर्रियों से मुक्ति दिलाने में फायदेमंद होते हैं।

 

ब्लूबेरी का उपयोग | Uses of Blueberry in Hindi

blueberry uses in hindi

1. ब्लूबेरी के ताजे फलों का जूस स्वास्थ के लिए बेहद लाभकारी होता है। हालाँकि ब्लूबेरी जूस का उपयोग आप किसी भी समय कर सकते हैं लेकिन सुबह खली पेट ब्लूबेरी जूस का सेवन फायदेमंद होता है।

2. ब्लूबेरी का उपयोग आप व्यायाम के बाद सेबफल, अनार की तरह कर सकते हैं।

3. ब्लूबेरी का इस्तेमाल खाने के साथ सलाद के रूप में भी कर सकते हैं।

4. ब्रेड, केक, सॉस, चटनी के रूप में ब्लूबेरी का उपयोग किया जाता है।

 

ब्लूबेरी खाने के नुकसान | Side Effects of Blueberry in Hindi

औषधीय गुणों से युक्त फल ब्लूबेरी के कई फायदें हैं लेकिन कोई भी वस्तु तभी फायदेमंद होती है जब तक उसका उपयोग संतुलित मात्रा में किया जाता है अत्यधिक मात्रा में ब्लूबेरी का सेवन करने से यह शारीरिक नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए आइए ब्लूबेरी के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में जानते हैं।

1. ब्लूबेरी में भरपूर मात्रा में विटामिन k पाया जाता है। विटामिन k रक्त को पतला करने वाला तत्व होता है इसलिए ब्लूबेरी का अधिक सेवन शरीर के रक्त को पतला कर देता है।

2. ब्लूबेरी हाईब्लड प्रेशर वालों के लिए फायदेमंद होता है लेकिन लो ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिए नुकसानदायक होता है।

3. ब्लूबेरी में सैलिसिलेट तत्व पाया जाता है अतः इसके अत्यधिक सेवन से आपको कई तरह की एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है।

4. किसी भी व्यक्ति के लिए विशेष दवाओं के साथ ब्लूबेरी का उपयोग करना नुकसानदायक हो सकता है।

5. ब्लूबेरी में फाइबर उच्च मात्रा में पाया जाता इसलिए इसके अत्यधिक सेवन से दस्त लग सकते हैं।

6. गर्भवती महिलाओं को ब्लूबेरी का सेवन नहीं करना चाहिए।

 

तो दोस्तों ये थी नीलबदरी (Blueberry in hindi) से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप ब्लूबेरी के समस्त फायदे और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here