kaju khane ke fayde

About Kaju khane ke fayde: काजू का नाम सुनते ही लोगों के दिमाग में और भी कई प्रकार की मेवा का विचार आने लगता होगा और मन उन्हें खाने के लिए ललचा जाता होगा। अब यूं तो आप ने kaju का उपयोग किसी ना किसी रूप में अवश्य ही किया होगा। परन्तु क्या आपने कभी सोचा है कि काजू व्यंजनों का जायका बढ़ाने के साथ-साथ सेहत का भी ख्याल रखता है।

जी हाँ दोस्तों काजू केवल अपने स्वाद के लिए ही नहीं जाना जाता बल्कि शरीर को स्वास्थ्य बनाने वाले फायदों के लिए भी पहचाना जाता है। बदकिस्मती से अधिकतर लोग काजू से होने वाले सेहतमंद फायदों से अनजान होंगे। इसलिए आज हम आपको kaju khane ke fayde और इससे जुड़ी कुछ अन्य जरूरी बातें बताने वाले हैं।

 

Page Contents

क्या होता है काजू | What is (Kaju) Cashew Nuts in Hindi

काजू एक प्रकार का गुणकारी मेवा है जिसका वैज्ञानिक नाम एनाकार्डियम ऑक्सीडेन्टेल (Anacardium occidentale) होता है। आपको बता दें कि काजू मुख्य रूप से श्याम व श्वेत दो प्रकार की किस्मों में पाया जाता है जिसका स्वाद कसैला, मीठा व धातुवाधक होता है। काजू का आकार लहसुन की पोधी जैसा होता है जो देखने में बेहद ही आकर्षित लगता है।

काजू की तासीर : 

दोस्तों शीत ऋतू आते ही काजू का उपभोग अधिक मात्रा में इसलिए होने लगता है क्योंकि काजू की तासीर गर्म होती है।

 

कैसा होता है काजू का पेड़ | How did Cashew Nuts Plant look like

cashew tree in hindi

काजू को तो अमूनन सभी लोगों ने देखा होगा लेकिन अधिकतर लोगों ने काजू का पेड़ नहीं देखा होगा इसलिए आपको बता दें कि काजू का पेड़ ऐनाकार्डिएसी (Anacardiaceae) से सबंधित पेड़ होता है जिसकी लगभग लम्बाई 12 से 15 मीटर तक होती है। काजू के पत्ते लगभग 4 से 22 सेंटीमीटर तक लम्बे व 2 से 15 सेंटीमीटर तक चौड़े होते हैं। काजू के पेड़ में लगने वाले फूल बेहद खूबसूरत पांच पखुड़ियां वाला होता है जो शुरुआत में छोटे व हल्के हरे रंग के होते हैं लेकिन जैसे फूल बढ़ते हैं फूलों का रंग लाल, गुलाबी, पीला हो जाता है।

काजू के पेड़ में नाशपाती के आकर में लाल रंग के फल लगते हैं जिनका रंग एप्पल के जैसा होता है इसलिए काजू के फल को cashew apple भी कहा जाता है एवं इसी फल में एक गिरी लगी हुई होती है जिसको हम सभी काजू के नाम से जानते हैं।

 

काजू का सर्वाधिक उत्पादन कहाँ होता है | Where did Cashew Nuts (Kaju) found

दोस्तों माना जाता है कि काजू की उत्पत्ति सबसे पहले ब्राजील में हुई थी इसलिए काजू को ब्राजीलियन नट कहा जाता है। यदि काजू के सर्वाधिक उत्पादन की बात की जाए तो इसमें वियतनाम, तंज़ानिया और भारत जैसे देशों के नाम आते हैं। आपको बता दें कि भारत के गोवा, तमिलनाडु, केरल, उड़ीसा, बंगाल, महाराष्ट्र आदि राज्यों में काजू का सर्वाधिक उत्पादन होता है।

 

काजू में मौजूद पोषक तत्व | Nutrients of Cashew Nut in Hindi

काजू को ड्राईफ्रूट में महत्पूर्ण इसलिए माना जाता है क्यंकि काजू में फाइबर, सोडियम, कैलोरी, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, विटामिन के, जिंक, कॉपर, नियासिन, थायमिन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस सहित कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

 

काजू के विभिन्न नाम | Different Names of Kaju

काजू एक एक ऐसा मेवा है जो विश्व के प्रमुख सभी देशों सहित भारत के कई प्रांतों में मुख्य रूप से पाया जाता है। इसलिए काजू को भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में विभिन्न नामों से जाता है। तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि काजू के अन्य कौन-कौन से नाम हैं।

काजू का अंग्रेजी में नाम – कैश्यू नट

काजू का संस्कृत में नाम – वृत्तारुष्कर

काजू का तेलगु में नाम – जिदियान्ती

काजू का तमिल में नाम – कालामावु

काजू का बंगाली में नाम – हिजली

काजू का कन्नड़ में नाम – गेरा-बीजा

 

काजू के स्वास्थ्य फायदे | Kaju Khane Ke Fayde

kaju ke fayde

काजू एक एक ऐसा मेवा है जो सिर्फ व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने या फिर एक खाद्य पदार्थ तक ही सीमित नहीं है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी सेहतमंद औषधि है। आपने अभी तक काजू का इस्तेमाल केवल स्वाद के लिए किया होगा। लेकिन अब हम आपको काजू से होने वाले फायदों से परिचित कराने वाले हैं जिनको जानने के पश्चात आप काजू का इस्तेमाल एक औषधि के रूप में भी करने लगेंगे।

 

1. स्मरण शक्ति को बढ़ाता है काजू | Cashew enhances memory

दोस्तों अपने अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। इसलिए मस्तिष्क की स्मरण शक्ति यानी याददाश्त का मजबूत होना जरुरी है। चूँकि उम्र बढ़ने के साथ साथ व्यक्ति की स्मरण शक्ति कमजोर होने लगती है लेकिन कुछ लोगों की स्मरण शक्ति समय से पहले ही कमजोर होने लगती है। आपको बता दें कि स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए व्यायम व जीवनशैली में बदलाव सहित स्मरण शक्ति बढ़ाने वाले तत्वों को डाइट में शामिल करना जरुरी है।

इसलिए आपको बात दें कि काजू स्मरण शक्ति बढ़ाने में पौष्टिक आहार है। दरअसल काजू में विटामिन ई और विटामिन सी पाया जाता जो एकाग्रता और स्मरण शक्ति को बढ़ाने में फायदेमंद होते हैं। इसके आलाव काजू में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो शरण शक्ति को मजबूत बनाने में फायदेमंद होते हैं।

 

2. भूख को बढ़ाने में है प्रभावी | It is effective in increasing appetite

भूख नहीं लगने की समस्या को एनोरेक्सिया के नाम से जाना जाता है। दोस्तों आपको बता दें कि जिस प्रकार भूख का अधिक लगना एक शारीरिक समस्या माना जाता है उसी प्रकार भूख का कम लगना भी शारीरिक समस्या माना जाता है। यदि भूख न लगने कि समस्या का निराकरण नहीं किया जाता है तो रोगी शारीरिक व मानसिक रूप से कमजोर हो जाता है। साथ ही शरीर की मांसपेशियां व हड्डियां भी कमजोर हो जाती हैं।

हालाँकि भूख कम होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि हॉर्मोनल असंतुलन, तनाव अथवा अन्य किसी प्रकार की बीमारी। इसलिए भूख की कमी के कारण को जानने के पश्चात ही इसका उपचार करना चाहिए। आपको बता दें कि काजू में नियासिन, विटामिन सी, विटामिन के व पोटैशियम पाया जाता है जो भूख बढ़ाने में फायदेमंद होता है।

 

3. बदहजमी से काजू दिलाता है छुटकारा | Cashew gets rid of indigestion

पेट की समस्यों में से बदहजमी भी एक सामान्य समस्या है जो गलत खान पान की वजह से किसी भी उम्र के व्यक्ति को सकती है। आपको बता दें कि बदहजमी होने के कारण पेट में दर्द होने लगता है, पेट में जलन होने लगती है, खट्टी डकारे आने लगती हैं, छाती में जलन की अनुभूति होने लगती है, गैस बनने लगती है, पेट फूलने जैसी कई समस्याएँ उत्पन्न हो जाती हैं। लेकिन इस समस्या से निजात पाने के लिए आप काजू का उपयोग कर सकते हैं।

दरअसल काजू में फाइबर पाया जाता है जो बदहजमी को दूर करने में फायदेमंद होता है। दोस्तों बदहजमी को दूर करने के लिए आप काजू का इस्तेमाल किशमिश के साथ कर सकते हैं।

 

4. दांतों को मजबूत बनाता है काजू | Kaju Khane Ke Fayde in Teeth

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शरीर के प्रत्येक हिस्से को निरोगी रखना आवश्यक हो जाता है। चूँकि दांत भी शरीर से जुड़ा हुआ एक हिस्सा होता है इसलिए दांतो का ख्याल रखना भी व्यक्ति के लिए जरुरी है। लेकिन वर्तमान समय में कम उम्र के लोगों को दांतों से सम्बंधित कई प्रकार के रोग तो होने ही लगे हैं साथ ही कमजोर होने के कारण दांत समय से पहले टूटने भी लगें हैं।

यदि आप अपने दांतों को निरोगी व मजबूत बनाना चाहते हैं तो आप काजू का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको बता दें कि काजू में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन सी व फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो दांतों को मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।

 

5. काजू करता है पाचन तंत्र को तंदुरुस्त | Kaju makes the digestive system healthy

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पाचन तंत्र का स्वस्थ रहना जरुरी होता है। दोस्तों आपको बता दें कि पाचन तंत्र मनुष्य के शरीर का एक अहम हिस्सा होता है क्योंकि पाचन तंत्र हमारे भोजन को ऊर्जा (energy) में बदलकर हमारे शरीर को शक्ति और पोषण प्रदान करता है। ख़राब पाचन तंत्र की वजह से पाचन तंत्र तो कमजोर होता ही है साथ ही व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कमजोर हो जाती है। जिसके कारण व्यक्ति कई रोगों का शिकार बन जाता है।

यदि आप पाचन तंत्र को मजबूत बनाना चाहते हैं तो आप काजू का उपयोग कर सकते हैं। काजू में फाइबर और विटामिन सी पाया जाता है जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।

 

6. गर्भावस्था में होता है सेहतमंद | It is healthy in pregnancy

दोस्तों अक्सर आपने चिकत्सक को गर्भवती महिलाओं के लिए परामर्श देते हुए सुना होगा कि गर्भवस्था के समय काजू का सेवन करना चाहिए। आपको बता दें कि बादाम अखरोट की भांति ही काजू में भी प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन ई व कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो गर्भवस्था में फायदेमंद होते हैं। गर्वास्था के समय काजू, बादाम, खसखस दानों का हलवा बनाकर सेवन करना फायदेमंद माना जाता है।

 

7. त्वचा के लिए काजू होता है फायदेमंद | Cashew is beneficial for skin

अपने शायद ही कभी यह सोचा होगा कि काजू स्वस्थ त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। जी हाँ दोस्तों काजू एक बेहतरीन मेवा है जो त्वचा संबधित रोगों में भी लाभकारी होता है। आपको बता दें कि काजू का इस्तेमाल करके आप अपनी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर सकते हैं।

दरअसल काजू में एंटीएजिंग तत्वों सहित विटामिन ई, विटामिन सी, विटामिन ए उच्च मात्रा में पाया जाता है जो त्वचा रोगों को ठीक करने के आलावा त्वचा से बढ़ती उम्र के निशानों को कम करने में भी फायदेमंद होता है।

 

8. बालों को मजबूत बनाने में काजू है गुणकारी | Kaju Khane Ke Fayde for Hair

बालों को मजबूत बनाने के लिए बालों की जड़ों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन व पोषण मिलाना जरुरी होता है क्योंकि बालों की जड़ों के मजबूत होने से ही बाल मजबूत बनते हैं। बालों के कमजोर होने के कई कारण होते हैं। इन्हीं कारणों में से एक कारण होता है बालों को पर्याप्त मात्रा में पोषण की प्राप्ति नहीं होना।

आपको बता दें कि काजू बालों को पोषण देने वाला एक गुणकारी आहार है। दरअसल काजू में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन ई सहित एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो बालों को मजबूत बनाने में प्रभावी सिद्ध होते हैं।

 

काजू के अन्य फायदे | Some Other Benefits of Cashew Nuts (Kaju) in Hindi

cashew benefits in hindi

यदि आप आँखों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आप काजू का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल काजू में विटामिन ए और विटामिन ई पाया जाता है जो आँखों को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होता है।

1. काजू में फाइबर पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो कब्ज से निजात दिलाने में फायदेमंद होता है।

2. जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है उनके लिए काजू का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल काजू में विटामिन सहित कई प्रकार के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद होते हैं।

3. काजू में मैग्नीशियम व पोटैशियम पाया जाता है जो ह्रदय को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होता है।

4. काजू में कैल्शियम व प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।

 

काजू का उपयोग | Uses of Kaju in Hindi

cashew uses in hindi

काजू एक दिव्य मेवा है जिसका उपयोग आप एक प्रकार से नहीं बल्कि कई प्रकार से कर सकते हैं। यदि आपको काजू का उपयोग अन्य प्रकार से करना नहीं आता है तो चलिए जानते हैं कि काजू का उपयोग अन्य किस तरह से किया जा सकता है।

1. मटर पनीर, पालक पनीर अथवा किसी भी सब्जी की ग्रेवी बनाने के लिए आप काजू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. चटनी में काजू का उपयोग किया जा सकता है।

3. मिठाई बनाकर काजू का उपयोग कर सकते हैं।

4. गुड़, चावल अथवा अन्य किसी भी प्रकार के लड्डू में आप काजू का उपयोग कर सकते हैं।

5. स्नैक्स के रूप आप काजू का उपयोग कर सकते हैं।

6. हलवा अथवा खीर में आप काजू का उपयोग कर सकते हैं।

7. किसी भी व्यंजन में गार्निश के रूप में आप काजू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

8. किसमिस, बादाम के साथ काजू का उपयोग किया जा सकता है।

 

काजू से होने वाले नुकसान | Side Effects of Cashew Nuts in Hindi

काजू से होने वाले फायदों के आलावा काजू के इस्तेमाल से कुछ शारीरिक नुकसान भी हो सकते हैं। तो आइये जानते हैं काजू से होने वाले नुकसान कौनसे हैं।

1. काजू में अमीनो एसिड पाया जाता है जो माइग्रेन से पीड़ित रोगियों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

2. काजू का अधिक मात्रा में सेवन करने से दस्त की समस्या हो सकती है।

3. कई लोग वजन कम करने के लिए काजू का सेवन अधिक मात्रा में कर लेते हैं। लेकिन आपको बता दें की काजू में कैलोरी व वसा पाया जाता है जो वजन को बढ़ाने में मददगार होता है इसलिए मोटापा से ग्रस्त लोगों के लिए काजू नुकसानदायक साबित हो सकता है।

4. जो लोग किसी भी तरह की पथरी से पीड़ित हैं उनको डॉक्टर की सलाह लेकर ही काजू का इस्तेमाल करना चाहिए।

5. काजू का गलत तरीके से इस्तेमाल करने से यह किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए किडनी से पीड़ित रोगियों के लिए चिकत्सक के परामर्श के बगैर काजू का सेवन नहीं करना चाहिए।

 

तो दोस्तों ये थी काजू (cashew nuts in hindi) से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप kaju khane ke fayde और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here