broccoli in hindi

About Broccoli in Hindi: विश्वभर में हरी सब्जियों का उपयोग काफी किया जाता है। अब यूँ तो आप भी प्रतिदिन किसी न किसी हरी सब्जी का उपयोग अवश्य ही करते होंगे। लेकिन जैसा की हम सभी जानते हैं कि हरी सब्जियां कई प्रकार कि होती हैं इसलिए अधिकतर लोग प्रचलित सब्जियों को ही अपनी डाइट का हिस्सा बनाते हैं जबकि कुछ पौष्टिक सब्जियों से अपरिचित होने के कारण डाइट में शामिल नहीं कर पाते हैं। तो आज हम आपको ऐसी ही एक पौष्टिक सब्जी से अवगत कराने वाले हैं जिसका उपयोग करने से अधिकतर लोग वांछित रह गए होंगे।

जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे हैं Broccoli की जो स्वास्थवर्धक गुणों की खान है। आप में से कई लोगों ने ब्रोकली का नाम नहीं सुना होगा जबकि कई नाम जानते हुए भी इसके फायदों से अनजान होंगे। तो चलिए आज आपका परिचय ब्रोकली और इससे होंगे वाले फायदों से करवाते हैं।

 

क्या होती है ब्रोकली | What is Broccoli in Hindi

ब्रोकली Brassica oleracea प्रजाति से सम्बंधित सब्जी है। आपको बता दें कि ब्रोकली की आकृति एक पेड़ की भांति प्रतीत होती है। दरअसल ब्रोकली के ऊपर मौजूद फूल डंठलों से हुए होते हैं एक पेड़ की आकृति में होते हैं। ब्रोकली का रंग गहरा हरा होता है जबकि इसके तने का रंग सफेद होता है।

ब्रोकली का तना थोड़ा कठोर होता है लेकिन इसका ऊपरी भाग उतना ही कोमल होता है। खास बात यह है की ब्रोकली के हरे रंग की वजह से इसको हरी गोभी के नाम से भी जाना जाता है।

 

ब्रोकली की प्रजातियां | Species of Broccoli in Hindi

दोस्तों यदि आप ब्रोकली की प्रजातियों के बारे में नहीं जानते हैं तो आपको बता दें ब्रोकली की प्रजातियों का विभाजन उनके रंग व आकार के आधार पर तीन भोगों में किया गया है। अतः ब्रोकली की हरी, सफेद और बैंगनी रंग की तीन प्रजातियां होती हैं एवं तीनों प्रकार की प्रजातियों में कई प्रकार की किस्में होती हैं। दरअलस ब्रोकली एक विदेशी सब्जी है इसलिए ब्रोकली की अधिकतर किस्में विदेशी ही हैं।

 

ब्रोकली में मौजूद पोषक तत्व | Nutrients of Broccoli in Hindi

हरे रंग की आकर्षित ब्रोकली में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन डी, विटामिन के, विटामिन बी9, पोटेशियम, फास्फोरस, सेलेनियम, सोडियम, फोलेट, जिंक, विटामिन-बी12, नियासिन, एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई लाभकारी तत्व पाए जाते हैं।

 

ब्रोकली के फायदे | Benefits of Broccoli in Hindi

broccoli benefits in hindi

ब्रोकली में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों को जानने के पश्चात आप यह तो अवश्य ही समझ गए होंगे की ब्रोकली शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है। लेकिन कई लोगों के मन में यह विचार अवश्य ही चल रहा होगा कि आखिर ब्रोकली के इस्तेमाल से सेहत को कौन कौनसे फायदे होते हैं। तो आइये ब्रोकली से होने वाले स्वास्थ्यवर्धक फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

 

1. ब्रोकली ह्रदय रोगों के खतरे को करता है कम

ह्रदय से सम्बंधित रोगों में दिन प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। इसके आलावा आपको बता दें कि समय से पहले होने वाली मौतों में 80% लोगों की मौत हृदय रोगों की वजह से हो रही हैं। इसलिए वर्तमान समय में ह्रदय को स्वस्थ रखना जरुरी हो गया है एवं ह्रदय को स्वस्थ रखने का एकमात्र उपाय है पौष्टिक आहार व नियमित जीवनशैली। यदि आप अपने ह्रदय को स्वस्थ्य बनाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि ब्रोकली ह्रदय के लिए बेहद फायदेमंद औषधि है।

दरअसल ब्रोकली में फाइबर, मैग्नीशियम, पोटेशियम जैसे कई गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो कोलस्ट्रोल को और उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करते हैं। इसके आलावा ह्रदय धमनियों को भी स्वस्थ रखते हैं जिसके कारण ह्रदय रोगों का खतरा कम हो जाता है व ह्रदय स्वस्थ बनता है।

 

2. हड्डियों को बनाता है बलशाली

यदि आप सही मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम जैसे गुणकारी तत्वों का सेवन नहीं करते हैं तो इसका सीधा प्रभाव शरीर की हड्डियों पर पड़ता है। अतः कई लोग ऐसे होते हैं जिनके शरीर को सही मात्रा में पौष्टिक तत्व नहीं मिल पाते हैं जिसके फलस्वरूप उनकी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं जो कि शरीर को अस्वस्थ बनाने का कारण बनती हैं।

तो जिन लोगों की हड्डियां कजोर हैं उनके लिए ब्रोकली एक फायदेमंद सब्जी साबित हो सकती है। ब्रोकली में प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को बलशाली बनाने में फायदेमंद होता है।

 

3. वजन को करता है कम

स्वास्थ को सेहतमंद बनाने के लिए आजकल अधिकतर लोग वजन कम कर रहे हैं एवं वजन को कम करने के लिए कई प्रकार के व्यायाम व योग का सहारा लें रहे हैं। लेकिन दोस्तों वजन को कम करने के लिए सही डाइट का पालन करना बेहद जरुरी होता है यदि आप वजन कम करने के लिए व्यायाम या योग कर रहे हैं लेकिन पौष्टिक तत्वों का सेवन नहीं करते हैं तो आपका वजन कम नहीं होगा।

इसलिए आपको बता दें कि वजन कम करने के लिए ब्रोकली बेहद गुणकारी है। ब्रोकली में फाइबर, मैग्नीशियम व पोटेशियम पाया जाता है जो वजन को कम करने में प्रभावी होता है।

 

4. मधुमेह को नियंत्रित करने में होता है फायदेमंद

मधुमेह यानी डायबिटीज वर्तमान समय में होने वाले जटिल रोगों में से एक रोग है जिसको हार्ट अटैक का एक प्रमुख्य कारण माना जाता है। दरअसल अनुसंधानों से ज्ञात हुआ है कि मधुमेह रोगियों में हार्ट अटैक की सम्भवना सामान्य से तीन गुना अधिक होती है। इसलिए मधुमेह से पीड़ित रोगी को इसे नियंत्रित करना आवश्यक हो जाता है।

यदि आप मधुमेह रोग से पीड़ित हैं तो ब्रोकली की मदद से आप मधुमेह को नियंत्रित कर सकते हैं। आपको बता दें कि ब्रोकली में एंटीआक्सीडेंट और क्रोमियम जैसे गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो इन्सुलिन के प्रोडक्शन को नियंत्रित करने में फायदेमंद होते हैं।

 

5. आँखों को स्वस्थ रखने में हैं गुणकारी

दोस्तों आँखों को स्वस्थ्य रखने में हरी सब्जियों का इस्तेमाल करना बेहद लाभकारी होता है। अतः ब्रोकली एक ऐसी ही गुणकारी हरी सब्जी है जो आँखों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। आपको बता दें कि आंखे शरीर का एक संवेदनशील अंग हैं इसलिए जरा सी लापरवाही आँखों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है।

अतः आँखों को स्वस्थ रखने के लिए आप ब्रोकली का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि ब्रोकली में ज़ेक्सैथीन, एंटीऑक्सीडेंट व विटामिन ए पाया जाता है जो आँखों को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होता है।

 

6. कुपोषण के शिकार से शिशु की करता है सुरक्षा

दोस्तों विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक बच्चों में कुपोषण की समस्या पूरी दुनिया के लिए एक चिंता का विषय बन चुकी है। इसकी रोकथाम केवल पौष्टिक तत्वों के माध्यम से ही कि जा सकती है। दरअसल कुपोषण सभी उम्र के लोगों के लिए घातक होता है लेकिन गर्भवती महिला और शिशु के लिए बेहद खतरनाक होता है। इसलिए शिशु को कुपोषण के शिकार से बचाने के लिए कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, फोलेट, कार्बोहाइड्रेट व विटामिन्स युक्त पौष्टिक आहार दिया जाता है।

अतः ब्रोकली का उपयोग गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि ब्रोकली में कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, फोलेट, कार्बोहाइड्रेट व विटामिन्स पाए जाते हैं जो गर्भवती महिला और शिशु को कुपोषण जैसी समस्या से बचाते हैं।

 

7. कब्ज की समस्या से करता है निदान

जब सही तरीके से सेवन हुए आहार का पाचन नहीं हो पता है तो कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है। अतः अनियमित दिनचर्या और गलत खान पान के कारण वर्तमान समय में कब्ज की समस्या एक आम समस्या बन गई है। आपको बता दें की कब्ज की समस्या से यदि सही समय पर छुटकारा नहीं मिलता है तो यह रोग गंभीर रोगों का कारण बन जाता है। लेकिन आप इस परेशानी से निजात पौष्टिक व गुणकारी ब्रोकली से पा सकते हैं। दरअसल ब्रोकली में फाइबर पाया जाता है जो कब्ज को दूर करने में फायदेमंद होता है।

 

8. ब्रोकली बनाता है त्वचा को खूबसूरत

दोस्तों बाहरी त्वचा की खूबसूरती निखारने के लिए भीतरी त्वचा का स्वस्थ रहना जरुरी है क्योंकि अंदरूनी त्वचा का प्रभाव बाहरी त्वचा पर दिखाई देता है। ब्रोकली एक ऐसी सब्जी है जो त्वचा को बाहरी और आंतरिक चमक व निखार प्रदान करती है। दरअसल त्वचा को स्वस्थ बनाने के लिए विटामिन ई महत्पूर्ण तत्व माना गया है जो ब्रोकली में भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

ब्रोकली की मदद से त्वचा के दाग, धब्बे, त्वचा पर आने वाले झुर्रियों से छुटकारा मिलता है। इसके आलावा ब्रोकली में विटामिन ए व विटामिन सी पाया जाता है जो त्वचा को खूबसूरत बनाने में लाभकारी होता है।

 

9. ब्रोकली देता है बालों को पोषण

बालों के कमजोर होने का मुख्य कारण होता है बालों को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिलाना। अतः जब बालों को सही अनुपात में पोषण प्राप्त नहीं होता है तो बाल समय से पहले झड़ने लगते हैं, समय से पहले सफ़ेद होने लगते हैं इसके साथ ही बाल रूखे बेजान व डैंड्रफ युक्त हो जाते हैं एवं बालों से सम्बंधित समस्यों से छुटकारा पाने के लिए अधिकतर लोग कई प्रकार के कैमिकल युक्त प्रसाधनों का इस्तेमाल करते हैं जिसके परिणाम स्वरुप उनके बाल और भी अधिक कजोर हो जाते हैं।

यदि आप प्राकृतिक तरीके से बालों को मजबूत बनाना चाहते हैं तो आप ब्रोकली का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल ब्रोकली में प्रोटीन, विटामिन ई, विटामिन ए, कैल्शियम, मैग्नीशियम व एन्टीऑक्सडेंट तत्व पाए जाते हैं जो बालों को पोषण प्रदान करके बालों को सुंदर व मजबूत बनाते हैं।

 

ब्रोकली के अन्य फयदे | Some Other Benefits of Broccoli in Hindi

broccoli ke fayde

1. ब्रोकली में कैंसर विरोधी गुण पाए जाते हैं जो स्तन कैंसर, पेट का कैंसर, ब्लेडर का कैंसर, गुर्दे का कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर की रोकथाम करने में फायदेमंद होते हैं।

2. ब्रोकली में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल से त्वचा की रक्षा करने में प्रभावी होते हैं।

3. ब्रोकली में विटामिन सी व सल्फोराफेन पाया जाता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद होता है।

4. ब्रोकली में सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जो शरीर की सूजन को कम करने में फायदेमंद होते हैं।

5. ब्रोकली में बॉयोएक्टिव व एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो मस्तिष्क को स्वस्थ बनाने में फायदेमंद होते हैं।

6. ब्रोकली में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो शरीर में बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद होता है।

7. ब्रोकली में विटामिन सी व एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो मुहासों से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद होते हैं।

 

ब्रोकली का उपयोग | Uses of Broccoli in Hindi

broccoli uses in hindi

दोस्तों ब्रोकली का ज्यादातर इस्तेमाल बड़े बड़े शहरों में ही होता है इसलिए अधितर लोगों को ब्रोकली का उपयोग करना नहीं आता है। यदि अभी तक आपने भी ब्रोकली का उपयोग नहीं किया है एवं आपके दिमाग में सवाल उठ रहा है कि आखिर ब्रोकली का इस्तेमाल किस प्रकार से किया जाता है तो अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि आप ब्रोकली का उपयोग किस प्रकार से कर सकते हैं।

1. ब्रोकली का उपयोग जूस के रूप में किया जा सकता है।

2. ब्रोकली का उपयोग सूप के रूप में कर सकते हैं ।

3. ब्रोकली का इस्तेमाल पराठें के रूप में किया जा सकता है।

4. सलाद के रूप में ब्रोकली का उपयोग किया जा सकता है।

5. ब्रोकली का इस्तेमाल मैगी, पास्ता में कर सकते हैं।

6. किसी अन्य सब्जी के साथ मिलकर ब्रोकली का उपयोग किया जा सकता है।

 

ब्रोकली के नुकसान | Side Effects of Broccoli in Hindi

दोस्तों ब्रोकली को गुणकारी सब्जी के रूप में जाना जाता है जिसके एक नहीं बल्कि कई फायदे हैं। लेकिन आपको बता दें कि यदि आप ब्रोकली का गलत तरीके से उपयोग करते हैं तो ब्रोकली आपके शरीर के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकती है। हालाँकि फायदों की अपेक्षा ब्रोकली से होने वाले नुकसान कम हैं लेकिन ब्रोकली का उपयोग करने से पहले इसके नुकसानों को जानना भी आवश्यक है तो देर किस बात की चलिए एक नजर डालते हैं ब्रोकली से होने वाले नुकसानों पर।

1. ब्रोकली के अधिक उपयोग से उल्टी की समस्या हो सकती है।

2. जिन लोगों का रक्त गाढ़ा है एवं रक्त को पतला करने वाले दवाइयों का सेवन कर रहे हैं उनको ब्रोकली का सेवन चिकित्सक का परामर्श लेकर करना चाहिए क्योंकि ब्रोकली में विटामिन k पाया जाता है जो रक्त को गाढा करने में मददगार होता है।

3. ब्रोकली का अधिक इस्तेमाल करने से पेट में गैस बन सकती है।

4. गलत तरीके से ब्रोकली का उपयोग करने पर पेट में जलन हो सकती है।

5. थॉयराइड से पीड़ित रोगियों के लिए चिकित्सक से सलाह लेकर ही ब्रोकली का उपयोग करना चाहिए।

 

तो दोस्तों ये थी ब्रोकली से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप ब्रोकली के फायदे और नुकसानों से परिचित हो गए होंगे। अगर आपको हमारी यह जानकारी (broccoli in hindi) पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें।
हमसे जुड़े रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा कर ऊपर आये नोटिफिकेशन पर Allow का बटन दबा दें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here